रसोई के लिए वास्तु टिप्स

रसोई और वास्तु शास्त्र नियम

वास्तु शास्त्र के हिसाब से कैसी होनी चाहिए रसोई | Vastu Tips For Kitchen

घर में रसोई का वास्तु के हिसाब से होना अत्यंत जरुरी है क्योकि इसमे बनने वाला भोजन सभी घर वालो को उर्जा प्रदान करता है | यदि इसमे वास्तु दोष हो तो फिर यह नकारात्मक उर्जा घर के सदस्यों को देती है और फिर बहुत सारे दुःख उठाने पड़ते है | पढ़े : वास्तु शास्त्र के नियम से कैसा हो घर का नक्शा


दुकान के लिए वास्तु टिप्स

कब होता है घर की रसोई में वास्तु दोष :

यदि घर में भोजन बनाने वाली रसोई में वास्तु नियमो का ध्यान नही रखा जाता और मनमानी से उसे बना दिया जाता है तब वो रसोई वास्तु दोष पूर्ण होती है और फिर उस घर की समृधि में बाधा आ जाती है | वास्तु टिप्स रसोई के लिए कुछ नियम है जो रसोई की दिशा और उसमे रखने वाले सामान की दिशा बताई है |पढ़े : वास्तु शास्त्र के मुख्य आलेख

वास्तु शास्त्र और रसोई

घर में रसोई के लिए वास्तु टिप्स :

1.) हमारे घर में रसोई को आग्नेय कोन में होना चाहिए जो की दक्षिण पूर्वी दिशा होती है | इस स्थान पर अग्नि का स्थान बताया जाता है अत: यहा रसोई में अग्नि का जलना सकारात्मक उर्जा को लाने वाला बताया गया है |


2.) गैस का चुल्ला या जिस पर भोजन बनाए उसका स्थान भी दक्षिण पूर्वी कोने में होना चाहिए |

3.) रसोई की कोई भी दिवार बाथरूम या शौचालय से जुडी ना हो , ना ही वहा की दुर्गन्ध रसोई में आती ना हो |

4.) रसोई में पानी से जुडी हुई चीजे और बर्तन उत्तर पूर्वी दिशा में रखे जो ईशान कोन में आता हो |

5.) भोजन बनाने वाली ग्रहणी का मुख उत्तर या पूर्व दिशा में होना उत्तम बताया गया है |

6.) रसोई में मकड़ी का जाला कभी नही लगने दे और झूठे बर्तन भी अधिक समय तक ना रहे |

7.) रसोई को आप जितना साफ़ रखेंगे उतना ही सकारात्मक लाभ परिवार के सदस्यों को मिलेगा |

8.) रात्रि में गीला आता बचा कर ना रखे , रात्रि में गिला आता नकारात्मक उर्जा को अपनी तरफ आकर्षित करता है |

9.) रसोई का नल टप टप पानी नही निकालना चाहिए , यदि ऐसा नल करता है तो उसे तुरंत बदल दे |

10.) पश्चिम या दक्षिण दिशा में ही भंडारण का सामान जैसे आटा , चावल , तेल , घी , मसाले रखे |

11.) खाना बनाने के बाद गैस के चुल्ले पर अग्नि देव को सबसे पहले भोग लगाये , फिर कुछ भोग गौ माँ के लिए और अंत में एक भोग कुत्ते के लिए निकाले |

12. ) एग्जॉस्ट फैन ( हवा बाहर फैकने वाला पंखा ) को पूर्वी दीवार पर लगाना श्रेष्ठकर माना गया है।

यह लेख भी आपको जरुर पसंद आयेंगे :

वास्तुशास्त्र के हिसाब से तिजोरी से जुड़े नियम जिससे बढेगी धन सम्पदा

वास्तु दोषों को दूर करने के लिए वास्तु मंत्र

वास्तु दोष निवारण यन्त्र

चीनी वास्तुशास्त्र फेंगसुई के टिप्स और टोटके

भगवान शिव की मूर्ति का चमत्कार

इन टोटको को कर लेंगे जो मिलेगी आपको शानदार नौकरी

 

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.