गंगा दशहरा की कथा और महत्व

Importance of Ganga Dashahara and when it comes



गंगा दशहरा का हिन्दू धर्म में अत्यंत महत्व है | इस दिन गंगा स्नान करने से मनुष्य के सभी पाप नष्ट हो जाते है और मोक्ष की प्राप्ति होती है | काशी ,हरिद्वार ,प्रयाग संगम और गंगा सागर जैसे गंगा तट वाले तीर्थस्थलो पर भारी संख्या में श्रद्धालु आते है और गंगा स्नान का पुण्य कमाते है |

कब आता है  गंगा दशहरा

इस साल 2019 में यह बुधवार 12 जून अर्थात निर्जला एकादशी के एक दिन पहले आ रहा है |

ganga dashahra ki kahani

गंगा दशहरा का महत्त्व

पुराणों में बताया गया है की स्वर्ग से इसी दिन गंगा नदी धरती पर अवतरित हुई थी | ज्येष्ठ मास की शुक्ला दशमी का यह दिन होता है । शिवजी ने गंगा के तेज बहाव को कम करने के लिए अपने शीश पर विराजित कर लिया था | इस दिन पवित्र तीर्थो में स्नान करके भगवान शिव के शिवलिंग का गंगा जल से अभिषेक किया जाता है | यह महा पुण्य प्राप्ति का दिन होता है |
गंगा दशहरा स्नान महिमा



पढ़े : गंगा जल की चमत्कारी शक्तियाँ

गंगा दशहरा पर क्या करे

इस दिन माँ गंगा के जल में स्नान करे | माँ गंगा के मंत्र , 108 नाम का पाठ करे | गंगा जी में 10 डुबकी ले तो अति  शुभ होगा |

ganga snan

स्नान के बाद भगवान शिव के शिवालय में जाकर शुद्ध गंगा जल से शिवलिंग का अभिषेक करे और शिव जी के मन्त्र का जप करे |

अपने सामर्थ्य के अनुसार वस्त्र अन्न , अर्थ का दान जरुरतमंदों में करे | जो भी दान करे वो ध्यान रखे की संख्या में दस हो | पढ़े : किन चीजो का दान करने से मिलता है अधिक पूण्य

 

Other Similar Articles

बिहार में गया तीर्थ स्थल पर पितरो का तर्पण

तीर्थ यात्रा में ध्यान रखे ये मुख्य  बाते

हरिद्वार के दर्शनीय मंदिर स्थल

गंगासागर तीर्थ स्थल की यात्रा

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.