बेडरूम के लिए वास्तु टिप्स सुखी दांपत्य जीवन

बेडरूम हमारे घर का सबसे महत्वपूर्ण हिस्सा होता है, क्योंकि यहीं हम आराम करते हैं और अपने जीवन से जुड़े निजी अनुभव शेयर करते हैं।  पति पत्नी के बीच सुखी दांपत्य जीवन के लिए उनके शयन कक्ष का वास्तु सही होना चाहिए | हमारे जीवन का एक बहुत बड़ा समय बेडरूम में ही सोते हुए गुजरता है। । यदि वास्तु के अनुसार बेडरूम में कुछ खास चीजें रखीं जाएं या कुछ खास टिप्स अपनाएं जाएं तो पति-पत्नी के बीच विवाद होने की संभावना बहुत कम हो जाती है और रोमांस लंबे समय तक बना रहता है। ये वास्तु टिप्स इस प्रकार हैं-


बेडरूम वास्तु टिप्स

पढ़े : वास्तु शास्त्र से जुड़े अन्य आलेख

बेडरूम में वास्तु टिप्स सुखी दांपत्य जीवन

1. बेडरूम में खिड़की अवश्य होना चाहिए। सुबह की किरणें बेडरूम में प्रवेश करने से स्वास्थ्य बेहतर रहता है। कभी भी मुख्य द्वार की ओर पैर करके न सोएं। पलंग के सम्मुख दर्पण नहीं होना चाहिए। ऐसा करने से आप सदैव व्याकुल व परेशान रहेंगे।


2. पति-पत्नी के प्रतीक के रूप में बेडरूम में दो सुंदर सजावटी गमले रखें। इनसे आपका वैवाहिक जीवन सुखमय होगा और यदि आपकी आर्थिक स्थिति ठीक नहीं है और इसी वजह से दांपत्य जीवन सुखमय नहीं है तो सुंदर से बाउल में पवित्र क्रिस्टल को चावल के दानों के साथ रखें।

3. पति-पत्नी के बीच प्रेम बढ़ाने के लिए बेडरूम के दक्षिण-पश्चिम भाग में कांच या सिरेमिक पॉट में छोटे-छोटे पत्थर या क्रिस्टल्स डालकर लाल रंग की दो मोमबत्तियां जलाएं। इससे सकारात्मक ऊर्जा फैलेगी और आपकी जोड़ी सलामत रहेगी।

पढ़े : वास्तु शास्त्र : वास्तु टिप्स से जुड़े मुख्य आलेख

4. बेडरूम में पलंग सदैव दक्षिण दिशा में रखना चाहिए तथा सोते समय मुख उत्तर दिशा की ओर होना चाहिए। यदि ऐसा नहीं कर सकते तो पश्चिम दिशा में पलंग रखा जा सकता है। इस स्थिति में सोते समय मुख पूर्व की ओर व सिरहाना पश्चिम की ओर रहना चाहिए।

5. वास्तु शास्त्र के अनुसार पूर्व की ओर तथा दक्षिण की ओर मुख करके सोना सुखदायक होता है। उत्तर की ओर मुख करके नहीं सोना चाहिए। उत्तर की ओर मुख करके सोने से नींद नहीं आती है और आती है तो बुरे सपने आते हैं। घर का मुख्य बेडरूम सदैव नैऋत्य (पश्चिम-दक्षिण) कोण में बनाना चाहिए। मुख्य बेडरूम वह होता है, जिसमें गृहस्वामी सोता है।

6. बेडरूम सजाकर रखें, वहां कबाड़ न जमा होने दें। ध्यान रखें की वहां साइड टेबल पर कोई भी वस्तु धूल भरी, बेतरतीब और बिखरी हुई न हो। प्यार बढ़ाने के लिए सिरेमिक की बनी विंड चाइम्स का प्रयोग करें।

7. लव बर्ड, मैंडरेन डक जैसे पक्षी प्रेम के प्रतीक हैं, इनकी छोटी मूर्तियों का जोड़ा अपने बेडरूम में रखें। इनसे दांपत्य जीवन खुशहाल रहेगा। बेडरूम में इस बात का विशेष ध्यान रखें कि वहां पानी की तस्वीर वाली पेंटिंग हर्गिज न लगाएं इसके स्थान पर रोमांटिक कलाकृति जैसे युगल पक्षी की तस्वीर लगा सकते हैं, ये तस्वीर आपकी लाइफ को रोमांस से भर देगी।

8. बेडरूम में ड्रेसिंग टेबल कभी भी खिड़की के सामने न रखें क्योंकि खिड़की से आने वाला प्रकाश परावर्तित होने के कारण परेशानी उत्पन्न करेगा। पलंग के सामने खिड़की न होकर ठोस दीवार होना चाहिए। बेडरूम में फर्नीचर धनुषाकार, अर्ध चन्द्राकार या वृत्ताकार नहीं होने चाहिए, इससे घर के सदस्यों का स्वास्थ्य बिगड़ा रहेगा।

9. पति-पत्नी के बीच रोमांस बना रहे, इसके लिए बेडरूम में दक्षिण-पश्चिम दिशा में दिल की आकृति का रोज क्वाट्र्ज रखें।

0. आदर्शवादी चित्र आत्मबल को बढ़ाते हैं और दांपत्य जीवन भी आनन्दमय व विश्वस्त बना रहता है। इसलिए बेडरूम में राधाकृष्ण की तस्वीर लगाएं तो बेहतर रहेगा। बेडरूम में पलंग इस प्रकार रखें कि वह दरवाजे के पास न हो, ऐसा होने से मन में अशांति व व्याकुलता बनी रहेगी।

11. शयनकक्ष में पलंग के दाईं ओर छोटी टेबल आवश्यक वस्तु रखने के लिए रख सकते हैं। शयनकक्ष में प्रकाश व्यवस्था ऐसी हो कि पलंग पर सीधा प्रकाश नहीं पड़े। प्रकाश सदैव पीछे या बांई ओर से आना चाहिए। पलंग के सामने की दीवार पर प्रेरक व रमणीय चित्र लगाने चाहिए।

12. बेडरूम के दक्षिण-पश्चिम में क्रिस्टल ग्लास के बने झाडफ़ानूस का इस्तेमाल करना चाहिए। इसमें लाल बल्ब लगाएं। ये बहुत ही खास उपाय है। बेडरूम के दक्षिण-पश्चिम भाग में हमेशा पृथ्वी या अग्नि से जुड़े रंगों का ही प्रयोग करना बेहतर रहता है। पर्दे, कुशन, खिड़कियों आदि में इनका उपयोग ठीक रहता है। लाल रंग रोमांस को दर्शाता है। अगर इसका प्रयोग ज्यादा गहरा लगे तो गुलाबी रंग करवा लें।

Other Similar Posts

फेंगशुई टिप्स और टोटके से पाए सुखी जीवन

वास्तुशास्त्र के अनुसार घर का नक्शा कैसा हो 

कछुए की अंगूठी क्यों पहनते है 

वास्तु के अनुसार सीढ़ी से जुड़े नियम

रसोई के लिए वास्तु शास्त्र टिप्स बाते

 

 

 

2 comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.