सबरीमाला मंदिर की महिलाओ के लिए अनोखी मान्यता बन गयी विवाद

सबरीमाला मंदिर में महिलाओ पर रोक क्यों ?

भगवान का द्वार अपने सभी भक्तो के लिए खुला होता है , ना उसमे कोई छोटा ना बड़ा , ना ही कोई प्रतिबंध | हालाकि कुछ मंदिरों में सदियों से कई अजब गजब परम्पराए चल रही है जो कभी कभी विवादों के घेरे में आ जाती है | ऐसा ही विवाद इन दिनों केरल के प्रसिद्ध मंदिर सबरीमाला  से जुड़ चूका है | मंदिर में 10 से 50 साल की महिलाओं के प्रवेश पर रोक लगा रखी है | सिर्फ 10 साल से छोटी कन्या या 50 वर्ष से ऊपर की महिला ही मंदिर में प्रवेश कर दर्शन कर सकती है |


sabrimala temple woman vivad

क्यों सबरीमाला मंदिर में महिलाओ के दर्शन पर लगी है रोक ?

मंदिर प्रशासन के अनुसार मंदिर के मुख्य देवता भगवान अयप्पन ब्रह्मचारी थे। अत:जिन लडकियों और महिलाओ को हर माह  मासिक धर्म आता है , उनके मंदिर में प्रवेश पर रोक लगा रखी है | दूसरी तरफ महिलाओ का कहना है की हनुमान जी बाल ब्रहमचारी है पर हनुमान जी के मंदिरों में तो महिलाये प्रवेश पर कोई रोक नही है | साथ ही एक और भक्तो की मान्यता है की भगवान के हम सभी बच्चे है अत: उम्र कोई मायने नही रखती | ऐसी ही एक रोक शनि मंदिर – शिंगणापुर में भी लगी थी पर वहा महिलाओ ने कानून का सहारा लेकर पूजा करने का अधिकार पा लिया |

अदालत दे रही है महिलाओ को अधिकार


sabrimala temple सर्वोच्च अदालत की संवैधानिक पीठ ने केरल के प्रसिद्ध सबरीमाला मंदिर में महिलाओ के प्रवेश करने का अधिकार देने की बात कही है | न्यायपालिका के अनुसार पुरुषो की तरह महिलाओ को भी मंदिर में दर्शन करने की अनुमति मिलनी चाहिए | उन्होंने इस भेदभाव को संविधान के खिलाफ बताया | मंदिर प्राइवेट ना होकर पब्लिक पैलेस है |

कहाँ है यह मंदिर 

यह मंदिर केरल की राजधानी तिरुवनंतपुरम से 175 किलोमीटर दूर पहाड़ियों पर पंपा जगह पर स्थित है।  अपने सिर पर पोटली रखकर भक्त इस मंदिर में प्रवेश करते है और फिर पोटली में रखे नैवेद्य को भगवान को समर्प्रित करते है |

बहुत बड़ा है तीर्थ स्थल

यहा साल भर देश भर से करोडो भक्त दर्शन करने आते है | हिन्दुओ की आस्था का यह एक बहुत बड़ा केंद्र है |

Other Similar Posts

सबसे अमीर हो कर भी गरीब है तिरुपति बालाजी , क्योकि कर्ज में डूबे है भगवान

गुरुवायुर मन्दिर केरल – कृष्ण के बालरूप की पूजा का मंदिर

इस मंदिर में अजीबो-गरीबो प्रथा , पुरषों को पहनने पड़ते है महिलाओ के कपडे

मदुरै का मीनाक्षी मंदिर – इन बातो के कारण है प्रसिद्ध

मंदिर – इस एक मात्र मंदिर में इंसान के चेहरे में है श्रीगणेश की मूर्

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.