भगवान जगन्नाथ के मंदिर में है विश्व की सबसे बड़ी रसोई, 800 लोग बनाते है 56 तरह के भोग

जगन्नाथ मंदिर की रसोई की विशेषता

Jagnnath Temple Ki Rasoi Or Bhog Se Judi Rochak Baate



उड़ीसा में स्तिथ भगवान जगन्नाथ का मंदिर हिन्दुओ की महान आस्था का केंद्र है | यह भारत के चार धामों में सप्त नगरी में शामिल है | जगन्नाथ पूरी मंदिर से कई चमत्कार जुड़े हुए है जिसमे एक है इस मंदिर की रसोई जो संभवत दुनिया में सबसे बड़ी रसोई है | इस मंदिर का प्रसाद इसी रसोई में बनाया जाता है जिसे महाप्रसाद की संज्ञा दी गयी है |

जगन्नाथ मंदिर की रसोई

एक बार महाप्रभु वल्लभाचार्यजी को किसी ने उनके एकादशी व्रत के दिन मंदिर का प्रसाद दे दिया | व्रत धारी उसे पारण पर ही खा सकते थे अत: वे जग्गनाथ की भक्ति और ध्यान में वही बैठे रहे और अगले दिन द्वादशी को प्रसाद को ग्रहण किया | तब से इसे महाप्रसाद कहा जाने लगा |


आइये आगे जानते है जगन्नाथ पूरी के मंदिर  की रसोई से जुडी कुछ रोचक बाते ….

कहाँ है यह रसोई

जगन्नाथ मंदिर से जुड़ी चमत्कारी और रोचक बातो में यहा की रसोई भी शामिल है | यह रसोई विश्व की सबसे बड़ी रसोई है जहा हजारो भक्तो के लिए प्रसाद तैयार किया जाता है । यह मंदिर के दक्षिण-पूर्व दिशा में स्थित है।

800 रसोइए करते है तैयार

विश्व की सबसे बड़ी रसोई में महाप्रसाद को तैयार करने के लिए  800 रसोइए लगे रहते है ।

सात्विक होता है भोग

jaggnath temple rasoi insideयहा मिट्टी के पात्र में भोग तैयार किया जाता है हो पूर्णता शाकाहारी होता है | प्याज व लहसुन  जैसे तामसिक खाद्य चीजो का बिलकुल भी प्रयोग नही किया जाता है । भोग बहुत स्वादिष्ट और दिव्य होता है |

भोग के लिए काम में लेते है विशेष पानी

एक और रोचक चीज यह की महाप्रसाद बनाते समय उसमे काम में लिया जाने वाला पानी दो कुएं से निकाला जाता है | इन दोनों के नाम गंगा और यमुना रखा गया है | यही पानी का प्रयोग करके 56 प्रकार के भोगों को बनाया जाता है ।

Other Similar Posts

जानें हर साल भगवान जगन्‍नाथ क्‍यों हो जाते हैं बीमार

जगन्नाथपूरी रथयात्रा से जुडी रोचक बाते

भारत के 12 प्रसिद्ध सूर्य मंदिर कौनसे है

सूर्य मंदिर कोणार्क उड़ीसा की महिमा

गुरूवार के 6 कारगर उपाय करके प्रसन्न करे विष्णु को

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.