गंधमादन पर्वत – कलियुग में यही है हनुमान जी का वास

हनुमान जी की निवास स्थली – गंधमादन पर्वत

Hanuman ji gandhmadan parvat par niwas karte hai : यह तो आप जानते है की हनुमान जी को अजर अमर देवता कहा जाता है | अब बात यह जानने योग्य है की कलियुग में उनका वास किस स्थान पर है | भारत के कई प्रसिद्ध पर्वत धार्मिक द्रष्टि से अत्यंत महतवपूर्ण है जो अपने साथ रोचक सम्बन्ध जोड़े हुए है |



kaliyug me hanuman ki niwas sthali

कहाँ है गंधमादन पर्वत?

इसकी स्तिथि को लेकर कुछ संदेह है | कोई इसे हिमालय पर्वत श्रेणी  में बसे शिव वास स्थली कैलाश पर्वत के उत्तर में  बताते है तो कही इसे रामेश्वरम् शहर से करीब डेढ़ मील उत्तर-पूर्व में बताया गया है |एक और गंधमादन पर्वत उड़ीसा में भी बताया जाता है पर वो यह वाला नही है |

वर्तमान में यह तिब्बत के क्षेत्र में आता है। यहां जाने के तीन रास्ते हैं। पहला मार्ग नेपाल होते हुए मानसरोवर के आगे, दूसरा विकल्प भूटान के पहाड़ी इलाके से और तीसरा रास्ता अरुणाचल से चीन होते हुए है।

पुराणों में बताये गये है इसके बारे में

धन के देवता कुबेर की लंका जब रावण ने छीन ली तब उन्होंने गंधमादन पर्वत पर ही शरण ली |

द्वापर युग में भीम की हनुमान जी से इसी स्थान पर भेट हुई थी और उन्होंने भीम का गर्व खंडित किया था |

यहा कश्यप ऋषि ने घोर तपस्या की थी |

यहाँ पापात्मा नहीं पहुँच पाते और चोटी पर पहुँचने से पहले ही जीव जन्तुओ द्वारा मारे जाते है |
Other Similar Posts

गोस्वामी तुलसीदास जी कहानी और जीवन परिचय से जुड़ी बाते

इस स्थान पर हुआ था शिव पार्वती का विवाह

द्रोणागिरि – यहां क्यों वर्जित है हनुमान जी की पूजा

कैसे हुई शिव महामृत्युंजय मंत्र की रचना

घर में रखे ये 10 चीजे , कभी धन की कमी नहीं आएगी

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.