अमरनाथ बर्फानी शिवलिंग का चमत्कार

अमरनाथ शिवलिंग की महिमा

हिन्दू धर्म में परम आस्था का प्रतीक और दुर्गम अमर यात्रा सभी को रोमांचक करती है | प्रकृति का सुन्दरतम नजारा ,रोमांच , धर्म और आस्था जब साथ होते है तो बस यह पल जीवन के यादगार पलो में शामिल हो जाता है |

अमरनाथ बर्फानी शिवलिंग से जुडी बाते जो आपकी आस्था को और भी मजबूत कर देगी |

amarnath cave अमरनाथ

१) चन्द्र की कला पर निर्भर करता है ज्योतिर्लिंग का आकार : यह दुनिया का एकमात्र शिवलिंग है जो चन्द्रमा की रौशनी के आधार पर घटता बढ़ता है | श्रावणी शुक्ल पक्ष की पूर्णिमा को शिवलिंग पूर्ण हो जाता है और फिर उसके बाद आने वाली अमावस्या को बहुत छोटा हो जाता है |
२) कितने दिन का मेला भरता है : अमरनाथ शिवलिंग के दर्शन सिर्फ 45 दिन के लिए ज्यादा से ज्यादा होते है | यह जुलाई और अगस्त के महीने में श्रावणी मेले का समय होता है | आषाढ़ पूर्णिमा से शुरू होने वाला मेला रक्षाबंधन तक चलता है |
३)क्यों कहते है अमरनाथ :  इस जगह गुप्त क्षेत्र में भगवान शिव ने माँ पार्वती को अमरता की कथा सुनाई थी जिसे सुनने वाला अमर हो जाता है | यह कथा उस गुफा में एक तोते के जोड़े ने भी सुन ली और श्रद्धालुओं का मानना है की वे शिव के परम भक्तो को आज भी उस गुफा में दर्शन देते है |

४) किसने की अमरनाथ गुफा की खोजे : ऐसा माना जाता है की एक मुस्मिल गडरिए ने सबसे पहले इसकी खोज की जिसका नाम बूटा मलिक था | आज भी इसके परिवार को दान में चढ़ाई गयी राशि का एक भाग मिलता है |
५) वैज्ञानिक हो चुके है फैल : इस गुफा में अपने आप ही शिवलिंग का बनना एक राज बना हुआ है | धार्मिक लोग इसे शिव शंकर का चमत्कार मानते है पर वैज्ञानिक लोगो ने जब इस पर शोध किया तो उनके हाथ कुछ भी नही लगा | गर्मी के समय में शिवलिंग बर्फ से बनना और चन्द्र की कला पर निर्भरता विज्ञान के लिए एक पहेली बना हुआ है | हर जगह भुरभुरी बर्फ पर यहा शिवलिंग में ठोस बर्फ का जमाना किसी अचरज से कम नही है |
६) शिवलिंग के साथ पार्वती पीठ और गणेश पीठ के भी दर्शन : अमरनाथ की गुफा में सिर्फ शिवलिंग ही नही बल्कि पार्वती और गणेश के रूप में दो अन्य लिंग का भी निर्माण बर्फ से होता है |
७) कैसे जमती है बर्फ अमरनाथ में : अमरनाथ की गुफा के ऊपर पानी जमा होता है जो बूंद बूंद करके निचे शिवलिंग वाले हिस्से में गिरता रहता है | और इस तरह इस अमरनाथ बर्फानी शिवलिंग का निर्माण होता है |
८) हर साल आते है लाखो लोग : इस आध्यात्मिक यात्रा पर हर साल लाखो भक्त आते है | यात्रा में 5 दिन का समय लगता है |

One comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.