यह संकेत बताते है की किसी को नजर लगी है

बुरी नजर लगने के संकेत

Evil Eyes Effects on a Person Or Family : जीवन में कभी ऐसा समय आता है की व्यक्ति या पुरे परिवार का स्वभाव ही बदल सा जाता है | घर में अशांति और कलह का वातावरण बन जाता है | इसका कारण घर के किसी सदस्य या पुरे घर का बुरी नजर की चपेट में आना हो सकता है | ऐसे घर में नकारात्मक शक्तियां बढ़ जाती है और उससे कई तरह की परेशानियां उत्पन्न हो जाती है |


बुरी नजर लगने के संकेत

पहला संकेत

जिस व्यक्ति को बुरी नजर लगी होती है उसका स्वभाव बदल जाता है | बात बात पर अत्यंत ज्यादा क्रोध करता है | वो आस पास के व्यक्तियों पर चिड़चिड़ापन दिखाता है |

दूसरा संकेत


बुरी नजर से ग्रसित व्यक्ति बार बार बीमार रहने लगता है | दवाई भी उस पर सही कार्य नही कर पाती है |

तीसरा संकेत

अगर व्यक्ति को बुरी नजर लगी है तो वह अमावस्या और पूर्णिमा तिथि पर बैचेन रहता है।

चौथा संकेत

family fightयदि किसी घर पर बुरी नजर का साया हो तो परिवार के सदस्यों का आपसी प्रेम ख़त्म होता है | छोटी सी बात पर भी झगडे शुरू हो जाते है |

पांचवां संकेत

जिस व्यक्ति को किसी की बुरी नजर लगती है, उसे डरावने और बुरे सपने आने शुरू हो जाते है |

छठा संकेत

यदि किसी घर में बुरी नजर लगी हुई है तो उस घर में लगी हुई तुलसी जी के पौधे मुरझा जाते है  | तुलसी जी का पौधा भी मुसीबत आने से पहले संकेत देता है |

पढ़े : तुलसी जी का पौधा और ध्यान रखने योग्य बाते

बुरी नजर से बचाव उपाय

यदि किसी घर में कोई सदस्य बुरी नजर दोष से पीड़ित है तो उसे बुरी नजर से बचाव के उपाय काम में लेने चाहिए

अगर किसी को बुरी नजर लग गई है तो घर में पीली सरसों, गुग्गल, लौबान और गाय का घी मिलाकर धूप जलाना चाहिए। ये उपाय सूर्यास्त के समय करें और इसके लिए गाय के उपले यानी कंडे का उपयोग करें।

व्यक्ति को हनुमान चालीसा का जाप करना चाहिए।

नजर दोष के व्यक्ति को दुर्गा रक्षा मंत्र का जप सोते समय करना चाहिए :ॐ ह्रीं दुं दुर्गायै रक्षाणी स्वाहा:

Other Similar Posts

छोटे बच्चों की नजर उतारने के उपाय

घर को बुरी नजर से बचाने के आसान उपाय टोटके

टोना टोटके और काला जादू से बचने के उपाय

बेड लक दूर करता है फेंगशुई का नेवला, घर-दुकान या ऑफिस में रखे सौभाग्य के लिए

विश्व का सबसे बड़ा शिवलिंग – भूतेश्वर नाथ महादेव

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *