उपवास और व्रत करने के फायदे

उपवास क्या है और उसका महत्व ?  भोजन के बिना कुछ अवधि तक रहते हुए मानसिक और शारीरिक तप करना उपवास कहलाता है। उपवास कुछ घंटो का या पुरे दिन का हो सकता है | नवरात्रि के दिनों में भक्त पुरे नौ दिन का उपवास भी रखते है | इसका एक भाग है निर्जल उपवास जिसमे ना कुछ खाया और […]

Read more

एकादशी के 8 चमत्कारी उपाय, जो करेंगे आपकी इच्छा पूरी

हिंदू पंचांग की ग्यारहवी तिथि को एकादशी कहते हैं। यह तिथि मास में दो बार आती है। पूर्णिमा के बाद और अमावस्या के बाद। यह पूजा के लिए  वैष्णव भक्तो के लिए सबसे बड़ा दिन होता है | कृष्ण और विष्णु भगवान की पूजा इस दिन पुरे विधि विधान से की जाती है | एकादशी के नियमो का पालन करके […]

Read more

एकादशी का पारण कब और कैसे करे

वैष्णव भक्तो के लिए भगवान विष्णु और कृष्ण की भक्ति और उपवास करने के लिए एकादशी का अत्यंत महत्व है | साल में कुल ये 24 आती है जिसमे बारह शुक्ल पक्ष की तो 12 कृष्ण पक्ष की होती है | इस दिन भगवान विष्णु और कृष्ण की भक्ति और व्रत का होता है | पुरे विधि विधान और एकादशी […]

Read more

उत्पन्ना एकादशी कथा व्रत विधि पूजन और महत्व

उत्पन्ना एकादशी व्रत विधि और महत्व मार्गशीर्ष मास की कृष्ण पक्ष की एकादशी को “उत्पन्ना एकादशी व्रत” किया जाता है। इस व्रत के प्रभाव से मनुष्य को मोक्ष की प्राप्ति होती है। मार्गशीर्ष मास की कृष्ण एकादशी के दिन देवी एकादशी का जन्म हुआ था, जिन्होंने मुर नामक दैत्य का वध कर भगवान विष्णु की रक्षा की थी। पढ़े : […]

Read more

देव उठनी एकादशी पर ऐसे करे विष्णु को प्रसन्न

देव उठनी एकादशी पर ऐसे करे विष्णु को प्रसन्न साल में आने वाली चौबीस एकादशियो में देव उठनी एकादशी का अत्यंत महत्व और महिमा बताई गयी है | इसे प्रबोधिनी एकादशी और देव उथान ग्यारस के नाम से भी जाना जाता है | इस दिन से मांगलिक और शुभ कार्य शुरू हो जाते है | पुराणों में बताया गया है […]

Read more

वट सावित्री व्रत की पूजा विधि, कथा व महत्व

वट सावित्री व्रत की पूजा विधि, कथा व महत्व भारतीय संस्कृति में ज्येष्ठ माह की अमावस्या को सुहागिन महिलाओं द्वारा वट सावित्री व्रत किया जाता है | इस दिन महिलाएं अपने पति की दीर्घायु की कमाना से वट वृक्ष की पूजा करती है, उपवास रखती है और सावित्री – सत्यवान की कथा सुनती है | इस व्रत को रखकर सावित्री […]

Read more

पत्नियां अपने पति के लिए कौनसे व्रत रखती है

पतियों के लिए रखे जाने वाले व्रत हिन्दू धर्म में पति को परमेश्वर बताया गया है | पत्नियाँ अपने पति (सुहाग) की दीर्घायु और अच्छे स्वास्थ्य की कामना से कुछ व्रत रखती है | आइये जाने वे कौनसे व्रत है और कब आते है | हरतालिका तीज: ह‍िंदू धर्म में भाद्रपद, शुक्ल पक्ष की तृतीया के दिन हरतालिका तीज या […]

Read more

करवा चौथ की पौराणिक व्रत कथा – कहानी

हिन्दू धर्म में हर सुहागिन महिलायों के लिए करवा चौथ व्रत का अत्यंत महत्व है | करवा चौथ पूजन विधि में व्रत कहानी बहुत मायने रखती है ।  व्रत के दौरान सुहागिनें कथा-कहानी भी करती हैं। पुराणों में हर व्रत या त्योहार से जुड़ी कहानियां होती हैं। करवा चौथ पर विशेषतौर पर भगवान गणेश से जुड़ी कहानियां कही जाती हैं। […]

Read more

प्रदोष व्रत कथा विधि नियम से जुडी जानकारी

प्रदोष काल का समय और महत्व प्रदोष काल सूर्यास्त के बाद और रात्रि से पहले का समय होता है  | प्रदोष व्रत रात्रि का सबसे पहला पहर, जिसे सायंकाल कहा जाता है . उस सायंकाल या तीसरे पहर के समय को ही प्रदोष काल कहा जाता है | यह त्रयोदशी तिथि के दिन आता है | इस समय अर्धनारीश्वर शिव शिव पूजा […]

Read more

गणेश चौथ की कथा और व्रत विधि

गणेश चतुर्थी व्रत कथा श्री गणेश चतुर्थी या गणेश चौथ व्रत को लेकर एक पौराणिक कथा प्रचलन में है. कथा के अनुसार एक बार भगवान शंकर और माता पार्वती नर्मदा नदी के निकट बैठे थें. वहां देवी पार्वती ने भगवान भोलेनाथ से समय व्यतीत करने के लिये चौपड खेलने को कहा. भगवान शंकर चौपड खेलने के लिये तो तैयार हो […]

Read more
1 2 3 4