परमा एकादशी व्रत कथा , महत्व , पूजा विधि 2018

परमा एकादशी व्रत कथा और महत्व 2018 Parama Ekadashi Vrat Katha , Mahatv , Pooja Vidhi वैसे तो पुरे साल में 24 एकादशियाँ आती है पर यदि किसी वर्ष अधिक मास आये तो यह 26 एकादशियाँ बन जाती है | जो दो एकादशी  इसमे अतिरिक्त शामिल होती है वे है परमा (पुरुषोत्तमी ) और पद्मिनी एकादशी | इस साल 2018 […]

Read more

सावित्री ने कैसे बचाए यमराज से अपने पति (सत्यवान ) के प्राण

सावित्री सत्यवान और यमराज की कहानी Story Of Savitri Satywan and God Of Death (Yamraja) हर साल  जयेष्ट मास की अमावस्या को सुहागिन औरतो द्वारा वट सावित्री व्रत  किया जाता है | यह व्रत उन्हें अखंड सौभाग्यवती बनाता है | यह शनि जयंती का भी दिन होता है | स्त्री की पतिव्रता में इतनी शक्ति है की वो काल (यमराज […]

Read more

अपरा एकादशी की कथा , महत्व और व्रत विधि

अपरा एकादशी व्रत  का महात्म्य जगत के पालनहार और धन की देवी लक्ष्मी के पति भगवान श्री विष्णु की पूजा का सबसे बड़ा दिन हर माह में आने वाली एकादशी का दिन माना जाता है | इस दिन की गयी पूजा से नाना प्रकार के पापकर्म का प्रभाव मिटता है और ईश्वर की कृपा की प्राप्ति होती है | हिन्दू […]

Read more

सोमवती अमावस्या के कारगर उपाय जो किस्मत चमका देंगे

सोमवती अमावस्या के उपाय और टोटके Somvati Amwasya ke Upay in Hindi चन्द्र की दशा के कारण अमावस्या और पूर्णिमा का अपना महत्व है | अमावस्या पर चंद्रमा पूर्ण रूप से दिखना बंद होता है तो पूर्णिमा पर यह पूर्ण रूप से दिखाई देता है | पूर्णिमा और अमावस्या का चन्द्रमा से जुड़ा रहस्य के पीछे हमने आपको एक पौराणिक […]

Read more

भगवान सत्यनारायण की व्रत कथा

सत्यनारायण गुरूवार व्रत कथा एक बार योगी नारद मुनि जी ने मृत्युलोक के प्राणियों को अपने-अपने कर्मों के अनुसार तरह-तरह के दुखों से परेशान होते देखा.  वे ये देखकर अत्यंत दुखित हुए और उन्हें जिज्ञासा हुई की इस दुःख से कैसे पार पा सकते है . वे अपने परम आराध्य नारायण के धाम चले गये और इस पीड़ा से दूर […]

Read more

बृहस्पतिवार (गुरूवार ) व्रत की पूजन विधि सत्यनारायण की

गुरूवार व्रत और पूजन विधि गुरूवार का दिन भगवान सत्यनारायण का दिन माना जाता है जो की भगवान विष्णु का ही एक रूप है |  इन्हे जगत के पालनहार माना जाता है | जिन भक्तो पर इनकी कृपा है उन्हें कभी अन्न धन की कमी नही होती है | सप्ताह में आना वाला गुरूवार (बृहस्पतिवार) भगवान विष्णु का माना जाता […]

Read more

एकादशी का महत्व हिन्दू धर्म में

एकादशी का महत्व Importance of Ekadashi in Hindu Religion संस्कृत शब्द एकादशी ( Ekadashi ) का शाब्दिक का अर्थ  दस के बाद आने वाला ग्यारह ।  इसका अन्य नाम ग्यारस , एकादशमी आदि भी है | एकादशी पंद्रह दिवसीय पक्ष ( कृष्ण पक्ष और शुक्ल पक्ष ) के ग्यारवें दिन आती है। अर्थात मास में दो बार एक कृष्ण एकादशी […]

Read more

भीष्म अष्टमी का महत्व और बनाने के पीछे कारण

Importance Of Bhishma Ashtami / भीष्म अष्टमी (भीमाष्टमी ) का महत्व माघ माह की शुक्ल पक्ष की अष्टमी को प्रतिवर्ष भीमाष्टमी के रूप में मनाया जाता है। इस दिन भीष्म पितामह ने अपने शरीर को छोडा़ था, इसीलिए यह दिन उनका निर्वाण दिवस है।  इस दिन का महत्व बहुत ज्यादा बताया गया है | मान्यता है की यदि इस दिन […]

Read more

अक्षय नवमी पर आंवले के पेड़ की पूजा महत्‍व व व्रत कथा

आंवले के पेड़ की पूजा का महत्‍व कार्तिक माह शुक्‍ल पक्ष की अक्षय नवमी को आंवला नवमी भी कहते हैं। इस खास द‍िन पर आंवले के पेड़ की पूजा की जाती है।  इस व्रत का हिन्दू धर्म में अत्यंत महत्व और महिमा है | शास्‍त्रों के मुताबि‍क नवमी से लेकर पूर्णिमा तक भगवान विष्णु का इस पवित्र पेड़ आवंले  पर […]

Read more

मोक्षदा एकादशी व्रत कथा , महत्व और विधि विधान

मार्गशीर्ष शुक्ल एकादशी के दिन आने वाले दिन का महत्व अत्यंत है , इसी दिन कुरुक्षेत्र में भगवान श्रीकृष्ण ने अर्जुन को श्रीमद्भगवद्गीताका उपदेश दिया था। अत:यह तिथि गीता जयंती के नाम से प्रसिद्ध हो गई है । इस दिन से गीता-पाठ का अनुष्ठान प्रारंभ करें और नित्य थोडा समय गीता अवश्य पढें। इस परम ज्ञान से आपकी अज्ञानता दूर […]

Read more
1 2 3 6