शंगचुल महादेव मंदिर – घर से भागे प्रेमियों को मिलता है यहां आश्रय

शंगचुल महादेव मंदिर , यहा प्रेमियों को दी जाती है शरण हिमाचल प्रदेश जितना अपनी प्राकृतिक सुंदरता के कारण जाना जाता है उतना ही यहां की परंपराओं के कारण भी। आज हम आपको बता रहा है कुल्लू के शांघड़ गांव के देवता शंगचूल महादेव के बारे में जो घर से भागे प्रेमी जोड़ों को शरण देते हैं। यह प्राचीन मंदिर […]

Read more

सर्प मंदिर, मन्नारशाला – Snake Temple Mannarasala kerala

Snake Temple Mannarasala Kerala History in Hindi : वैसे तो सांपों को समर्पित भारत में अनेक मंदिर है, पर इनमे सबसे प्रसिद्ध है मन्नारशाला का सर्प मंदिर (Snake Temple ) |  इस टेम्पल की गिनती भारत के सात आश्चर्यों में होती है। मान्यता है की विष्णु के अवतार परशुराम जी ने इस मंदिर की स्थापना की थी | यहा होने […]

Read more

नागवासुकी मंदि‍र – यहां दूर होता है कालसर्प योग का दोष

नागवासुकी मंदि‍र – कालसर्प दोष होगा दूर उत्तर प्रदेश के इलाहाबाद का नागवासुकी मंदिर सर्प देवता को समर्प्रित मंदिर है . इस मंदिर की सबसे बड़ी मान्यता है की यहा पर दर्शन करने से कालसर्प दोष खत्म हो जाते है | यह वही सर्प राज है जिन्हें भगवान शिव अपने गले में नर मुंड माला के साथ लपेटे रखते है […]

Read more

भगवान शनि के प्रसिद्ध और मुख्य मंदिर

भगवान शनि के प्रसिद्ध और मुख्य मंदिर आइये जानते है भारत में स्थित भगवान शनि देव के मुख्य मंदिरों के बारे में | शनि देव मृत्यु के देवता यमराज के भाई और भगवान सूर्य के पुत्र है | इन्हे जगत का न्यायधिकारी की भूमिका प्रदान की गयी है | यह ऐसे देवता है जो मनुष्यों के कर्मो के अनुसार इसी […]

Read more

लाखामंडल शिवलिंग का चमत्कार

लाखामंडल शिवलिंग- कर देता है मरे हुए व्यक्ति को जीवित लाखामंडल  का शिव मंदिर, एक ऐसी प्राचीन ऐतिहासिक धरोहर है जो हमें सौभाग्य से मिली है | यदि इस जगह का शुरू से ध्यान रखा जाता तो उत्तराखंड के चार धाम के साथ यह भी अत्यंत प्रसिद्ध होता | यह जगह कई सदियों तक जमीन में समाई रही और कुछ […]

Read more

स्वामी हरिदास जी महाराज

स्वामी हरिदास जी का जीवन परिचय श्री बांकेबिहारीजी महाराज के साथ यदि किसी का नाम अमर हुआ है तो वो है कृष्णोपासक सखी संप्रदाय के प्रवर्तक स्वामी हरिदास जी महाराज | वे कृष्ण के परम भक्त , कवि  और संगीतकार थे | इनके कृष्ण की सखी ललिता का अवतार माना जाता है | श्री बांकेबिहारीजी महाराज को वृन्दावन में प्रकट […]

Read more

मैहर माता मंदिर शारदा देवी को समर्प्रित

शारदा देवी का मैहर माता मंदिर कहते हैं मां शक्ति हमेशा ऊंचे स्थानों पर विराजमान होती हैं। उत्तर में जैसे लोग मां दुर्गा के दर्शन के लिए पहाड़ों को पार करते हुए वैष्णो देवी की तीन पिंडियो के दर्शन पाते है । ठीक उसी तरह मध्य प्रदेश के सतना जिले में भी 1063 सीढ़ियां चढ़कर  माता के दर्शन करने जाते […]

Read more

गोवर्धन परिक्रमा का महत्व

गोवर्धन परिक्रमा का महत्व उत्तर प्रदेश के मथुरा जिले से 22 किमी की दूरी पर स्थित है श्री गोवर्धन पर्वत को गिरिराज जी महाराज भी कहा जाता है। ब्रज में स्वयं भगवान श्री कृष्ण ने इन्द्र के बजाय  इसकी पूजा करने की बात कही थी | तब इंद्र देव नाराज हो गये थे और ब्रज भूमि पर जमकर वर्षा कर […]

Read more

आंजन धाम जहा दिया माँ अंजनी ने हनुमान को जन्म

आंजन धाम में हुआ था हनुमान का जन्म मान्यता है की यही वह जगह है जहा  माँ अंजनी ने हनुमान जी को  जन्म दिया था  – यह जगह  झारखंड के गुमला जिले के उत्तरी क्षेत्र में अवस्थित आंजन ग्राम से जुड़ा हुआ है। यहा पहाड़ की चोटी पर एक गुफा में मंदिर बना हुआ है |  हनुमान की माँ के […]

Read more

चौथ माता का मंदिर बरवाड़ा

चौथ माता मंदिर राजस्थान के सवाई माधोपुर के सबसे प्रमुख मंदिरों में से एक है। इसे राजस्थान सरकार ने प्रसिद्ध 11 राजस्थान के मंदिरों में शामिल किया है |  इस मंदिर की स्थापना 1451 में वहां के शासक भीम सिंह ने की थी। 1463 में मंदिर मार्ग पर बिजली की छतरी और तालाब का निर्माण कराया गया। नवरात्रि में भरता […]

Read more
1 2 3 10