सोमवती अमावस्या के कारगर उपाय जो किस्मत चमका देंगे

सोमवती अमावस्या के उपाय और टोटके Somvati Amwasya ke Upay in Hindi चन्द्र की दशा के कारण अमावस्या और पूर्णिमा का अपना महत्व है | अमावस्या पर चंद्रमा पूर्ण रूप से दिखना बंद होता है तो पूर्णिमा पर यह पूर्ण रूप से दिखाई देता है | पूर्णिमा और अमावस्या का चन्द्रमा से जुड़ा रहस्य के पीछे हमने आपको एक पौराणिक […]

Read more

कैलाश मंदिर एलोरा औरंगाबाद की मुख्य विशेषता

कैलाश मंदिर एलोरा औरंगाबाद से जुड़ी कुछ खास बाते महाराष्ट्र के एलोरा में स्थित  कैलाश मंदिर सम्पूर्ण संसार में अपने अनूठे ढंग से किये गये निर्माण के लिए जाना जाता है । यह उन भव्य निर्माण में से एक है जो हमारे गौरवशाली और अति-विकसित इतिहास के प्रमाण को सिद्ध करते है | एलोरा की 34 गुफाओं में सबसे अदभुत […]

Read more

शिवलिंग पर किस चीज के अभिषेक से क्या फल प्राप्त होता है

शिवलिंग पर किस चीज के अभिषेक से क्या फल भगवान शिव शंकर की महिमा का सबसे उत्तम महाग्रंथ शिव पुराण में बताया गया है की किस चीज से शिवलिंग का अभिषेक करने से कौनसे फल की प्राप्ति होती है | अच्छे से यह धार्मिक पोस्ट पढ़े और ज्ञान की प्राप्ति कर इसे अपनी सोमवार शिव पूजा में काम में ले […]

Read more

क्यों मनाया जाता है गणगौर का त्योहार

गणगौर का त्योहार यह त्योहार शिव पार्वती की पूजा के रूप में महिलायों द्वारा समूह में धूम धाम से मनाया जाता है | इसका मुख्य दिन चैत्र शुक्ल तृतीया का है जो चैत्र नवरात्रि का तीसरा दिन होता है  | गण यहा शिव जी के लिए और गौर शब्द माँ पार्वती जी के लिए काम में लिया गया है | […]

Read more

इस स्थान पर हुआ था शिव पार्वती का विवाह

शिव पार्वती का विवाह स्थल शिव और शक्ति ने मिलकर यह सम्पूर्ण ब्रह्माण्ड बनाया है | शक्ति ने पार्वती के रूप में फिर से जन्म लेकर शिव जी की घोर तपस्या की और उन्हें प्रसन्न कर उनसे विवाह रचाने का वर माँगा | आज हम आपको उसी स्थान के बारे में बताने वाले है जहा भगवान शिव और पार्वती माँ […]

Read more

कितने मुखी रुद्राक्ष के लिए कौनसा मंत्र , आइये जाने

रुद्राक्ष का अर्थ है रूद्र का अक्ष अर्थात भगवान शिव के नेत्र के आंसू | एक बार महा तप के बाद जब शिवजी ने अपनी आँखे खोली तो उनके नेत्र से आंसू निकल गये और वे जिस स्थान पर गिरे वहा रुद्राक्ष फल के वृक्ष उत्पन्न हो गये | ये रुद्राक्ष अपने मुख से चौदह प्रकार के मिले | सभी […]

Read more

महामृत्युंजय मंत्र की रचना कैसे हुई

किसने की महामृत्युंजय मंत्र की रचना और जाने इसकी शक्ति शिवजी के अनन्य भक्त मृकण्ड ऋषि संतानहीन होने के कारण दुखी थे. विधाता ने उन्हें संतान योग नहीं दिया था. *मृकण्ड ने सोचा कि महादेव संसार के सारे विधान बदल सकते हैं. इसलिए क्यों न भोलेनाथ को प्रसन्नकर यह विधान बदलवाया जाए. *मृकण्ड ने घोर तप किया. भोलेनाथ मृकण्ड के […]

Read more

महाकाल शिव का सबसे चमत्कारी स्त्रोत

इस स्तोत्र को भगवान महाकाल ने खुद भैरवी को बताया था. इसकी महिमा का जितना वर्णन किया जाये कम है. इसमें भगवान  महाकाल के विभिन्न नामों का वर्णन करते हुए उनकी स्तुति की गयी है . शिव भक्तों के लिए यह स्तोत्र वरदान स्वरुप है . नित्य एक बार जप भी साधक के अन्दर शक्ति तत्त्व और वीर तत्त्व जाग्रत […]

Read more

कैसे धारण करें रुद्राक्ष , जाने इससे पहनने की विधि

रुद्राक्ष को धारण करने की विधि और नियम धार्मिक पुराणों में रुद्राक्ष की उत्पति की कथा में बताया गया है की यह पेड़ शिव शंकर के नेत्र के आंसू से उत्पन्न हुए है | शिव भक्तो में यह और इसकी माला से मंत्र जाप और इसे धारण करना अति मंगलकारी माना जाता है |शास्त्रों में  रुद्राक्ष के प्रकार कई प्रकार […]

Read more

जानें क्‍यों दुनिया के इस सबसे ऊंचे शिवलिंग पर विराजमान हैं करोड़ो शिवलिंग

कोटिलिंगेश्वर धाम जहा है करोड़ो शिवलिंग इस जगह के सबसे महान देवता में भगवान शिव को देखा जाता है | पुराणों में शिव के जन्म की कथा का मुख्य सार यही है की वे अजर अमर और अजन्मे है | इनकी पूजा शिवलिंग के रूप में की जाती है | शिवलिंग की उत्पति के पीछे पुराणों में अलग अलग तर्क […]

Read more
1 2 3 13