पीपल में है शनि देव का वास

पीपल में शनि देव का वास है – इससे जुडी कथा हमारे सनातन धर्म में सभी पेड़ पौधो में पीपल की पूजा का अत्यंत महत्व है | धर्म शास्त्रों में बताया गया है की इस पेड़ में त्रिदेव के साथ लक्ष्मी जी शनि और बालाजी महाराज का भी वास है | सभी 33 कोटि देवी देवता इसमे निवास करते है […]

Read more

शनिवार के दिन भूलकर भी न खाएं ये 5 चीजें, शनिदेव होते हैं नाराज

शनिवार को नही खानी चाहिए ये पांच चीजें शनिदेव को न्याय का देवता और दण्डाधिकारी माना जाता है अर्थात वे अच्छे और बुरे कर्मो का फल प्रदान करने की शक्ति रखते है |  ज्योतिष शास्त्र में शनिवार का दिन भगवान शनि का माना जाता है। अगर किसी की कुंडली में शनिदोष है तो उस व्यक्ति को शनि को प्रसन्न रखने के […]

Read more

भगवान शनि के प्रसिद्ध और मुख्य मंदिर

भगवान शनि के प्रसिद्ध और मुख्य मंदिर आइये जानते है भारत में स्थित भगवान शनि देव के मुख्य मंदिरों के बारे में | शनि देव मृत्यु के देवता यमराज के भाई और भगवान सूर्य के पुत्र है | इन्हे जगत का न्यायधिकारी की भूमिका प्रदान की गयी है | यह ऐसे देवता है जो मनुष्यों के कर्मो के अनुसार इसी […]

Read more

शनि दोष निवारण के उपाय टोटके

नवग्रहों के राजा शनि देव की चाल धीरे है अत: जिसकी कुंडली में जिस भाव पर बैठ जाये उसके लिए कष्टकारी हो जाते है | ज्योतिष शास्त्र में कुछ उपाय और टोटके बताये गये है जो शनि के कुप्रभावो को कम करती है | यह उपाय अलग अलग भावो में शनि के होने से जुड़े है | आइये जाने शनि […]

Read more

शनि को लोहा प्रिय है , पर शनिवार को घर पर ना लाये

क्यों शनि देव को लोहा प्रिय है भगवान शनि देव काले रंग के है और यह इसलिए क्योकि वे अपनी माँ के गर्भ में सूर्य के वीर्य के रूप में रहे | सूर्य की ऊष्मा अत्यंत तेज है और इसी कारण वे काले रंग के जन्मे | लोहा भी भूगर्भ में मिलने वाला अयस्क है जो प्रचंड ताप दाब को […]

Read more

नीलम रत्न धारण करने से पहले ध्यान रखे ये बाते

नीलम को नीलमणि या अंग्रेजी में सैफायर नाम से भी जाना जाता है। इसकी गुणवत्ता निःसंदेह है किंतु तब जबकि इसमें किसी प्रकार का कोई दोष न हो।  चीरा लगा, धारीदार, सफेदी लिए हुए अथवा किसी भी खण्डित नीलम धारण करने से लाभ की जगह नुकसान होने लग जाते है | आप मानसिक और शारीरिक पीड़ा से ग्रस्त होने लगते […]

Read more

कोकिलावन शनिदेव मंदिर – कृष्ण ने कोयल बनकर शनि को दिए दर्शन

Kokilavan Shani Temple : Story & History in Hindi – दिल्ली से 128 किमी की दूरी पर तथा मथुरा से 60 किमी की दूरी पर स्थित कोसी कला स्थान पर सूर्यपुत्र भगवान शनिदेव जी का एक अति प्राचीन मंदिर स्थापित है। इसके आसपास ही नंदगांव, बरसाना एवं श्री बांके बिहारी मंदिर स्थित है। कोकिलावन धाम का यह सुन्दर परिसर लगभग […]

Read more

शनि की साढ़े साती या ढैय्या सताये तो करें यह उपाय

शनि की साढ़ेसाती या ढैय्या को दूर करने के उपाय पढ़कर आप शनि ग्रह के दोष को कम कर सकते है | इन सभी अचूक उपायों को पूर्ण श्रद्धा से पढ़े और अशुभ प्रभाव को दूर करे | यह नवग्रहों के राजा शनि की महादशा का ही रूप है | इसमे जातक को कई दुःख उठाने पड़ते है | पढ़े […]

Read more

शनि शनिचरा पर्वत मंदिर मुरैना

शनिचरा पर्वत मंदिर मुरैना की कहानी भारत में शनि देव के बहुत सारे भक्त है | कुछ डर कर तो कुछ आस्था से शनि देव की पूजा करते है | भगवान शनि की टेढ़ी चाल से सभी भय खाते है | शनि शिंगणापुर मंदिर की तरह एक और शनि देवता का त्रेतायुग कालीन मंदिर मध्य प्रदेश के मुरैना में स्तिथ […]

Read more

शनि महाराज की कथा – कैसे बने शनि नवग्रहों के राजा

Story Of Shanidev – How He Become King of Navgrah महर्षि कश्यप ने शनि स्त्रोत की रचना की थी जिसमे भगवान शनिदेव को सभी ग्रहों का राजा बताया था | हालाकि कई जगह नवग्रहों में भगवान सूर्य को राजा बताया गया है | आज हम एक पौराणिक कथा के माध्यम से जानेंगे की कैसे भगवान शनि को राजा का पद […]

Read more
1 2 3