भाग्य को बलवान, आपको धनवान और ऊर्जावान बनाता है लक्ष्मी गायत्री मंत्र का जाप

हर सुख देता है यह लक्ष्मी गायत्री मंत्र लक्ष्मी गायत्री मंत्र की हिंदू धर्म में बड़ी महिमा है। पौराणिक मान्यताओं के मुताबिक इस मंत्र का रोजाना जाप करने से व्यक्ति का भाग्य बलवान होता है और उसके जीवन में स्थिरता आती है। मंत्र शक्ति से कितने ही प्रकार के चमत्कार एवं वरदान उपलब्ध हो सकते हैं प्रयोग करने से पूर्व उसे […]

Read more

बाल गोपाल – लड्डू गोपाल की आरती

लड्डू गोपाल बाल गोपाल  की आरती बहुत सारे भक्त अपने घर में कृष्ण के बाल रूप को घर में बैठकर उनकी पूजा अर्चना करते है | लड्डू गोपाल जी की सेवा और पूजा विधि विशेष है और कुछ मुख्य नियमो का इसमे पालन करना चाहिए | इन्हे एक छोटे से अबोध बालक की तरह मानकर इनका अच्छे से ध्यान रखा […]

Read more

लड्डू गोपाल जी की पूजा विधि सेवा और देखभाल

लड्डू गोपाल जी की पूजा विधि  और सेवा भक्त और भगवान का रिश्ता अनूठा और अनोखा होता है | भक्त अपने अपने तरीके से अपने आराध्य को रिझाते है | आज हम बात करेंगे कृष्ण के बाल रूप लड्डू गोपाल जी की जिसे भक्त अपने घरो में विराजित करते है और एक नन्हे बालक की तरह उसकी सेवा और देखभाल […]

Read more

वट वृक्ष बरगद का महत्व और पूजा विधि

वट वृक्ष जिसे बरगद का पेड़ भी बोला जाता है | यह बहुत ही विशाल और कई सालो तक जीवित रहने वाला पेड़ है | इसकी शाखाओ से जड़ निकलकर निचे लटकती है | ब्रह्मा, विष्णु, महेश त्रिदेव है ,उसी तरह  वट ,पीपल व नीम तीन महान पेड़ बताया गया है | बरगद को ब्रह्मा जी के समान माना गया […]

Read more

महालक्ष्मी के 12 नाम पाठ दिलाएगा सुख और समृधि

महालक्ष्मी के 12 नाम स्त्रोत देवी महालक्ष्मी भगवान लक्ष्मीनारायण की शक्ति व संसार की समस्त सम्पत्तियों की स्वामिनी हैं। महालक्ष्मी के दो रूप हैं श्री रूप और लक्ष्मीरूप। एक रूप में वो उनके चरणों की सेवा में रहती है तो दुसरे रूप में भौतिक सम्पत्ति की देवी कहलाती है लक्ष्मी। भक्त इन्हे  भूदेवी या श्रीदेवी भी कहते हैं। जिस व्यक्ति पर इनकी […]

Read more

गजेन्द्र मोक्ष स्त्रोत हिंदी और संस्कृत भाषा में अर्थ सहित

गजेन्द्र मोक्ष स्त्रोत हिंदी और संस्कृत भाषा में अर्थ सहित श्रीमद्भागवत के अष्टम स्कंध के तीसरे अध्याय में गजेन्द्र मोक्ष स्तोत्र दिया गया है. इसमें कुल तैतीस श्लोक हैं इस स्त्रोत में ग्राह के साथ गजेन्द्र के युद्ध का वर्णन किया गया है, जिसमें गजेन्द्र ने ग्राह के मुख से छूटने के लिए श्री हरि की स्तुति की थी और […]

Read more

श्री शिव प्रातः स्मरण स्तोत्रम्

।। श्री शिव प्रातः स्मरण स्तोत्रम् ।। भगवान शिव का सुबह पढने वाला स्त्रोत जिसमे गंगागाधर जिसके वाहन वृषभ है को नमन किया गया है | इसमे बताया गया है जो सुबह उठकर यह शिव प्रातः स्मरण स्त्रोत का पाठ करता है उसे जन्मो जन्मो के पाप दूर हो जाते है | भगवान शिव की कृपा से वो शिवधाम को […]

Read more

कैसे करे भगवान की पूजा – जाने सही पूजा विधि

भगवान की पूजा की विधि ईश्वर की पूजा करना जरुरी है क्योकि यह संसार और इसमे व्याप्त हर चीज उन्ही की देन है | हमारा जीवन मरण उन्ही के हाथो में है | आप चाहे किसी भी धर्म को मानने वाले हो आप किसी परम शक्ति में विश्वास करते है , चाहे आप उन्हें किसी भी नाम से पुकारे | […]

Read more

भगवान को भोग लगाने की विधि और मंत्र

भोग लगाने की शास्त्रीय विधि हिन्दू धर्म परंपराओं में भगवान को भोग लगाने यानी नैवेध्य में मीठे व्यंजनों, फलों को चढ़ाने का विशेष महत्व है। इसे षोडशोपचार पूजन विधि में  नैवेध्य अर्पण करना बोला जाता है | यह प्रभु को प्रेम भाव और पूर्ण आदर के साथ कराये जाने वाला भोग क्रिया है |  शास्त्रीय विधि यह हे की उसे […]

Read more

पूजा में हवन और यज्ञ का महत्व और लाभ

हवन और यज्ञ का महत्व यदि मैं यह बोलु की हमारे हिन्दू सनातन धर्म में पूजा का  सबसे अच्छा मार्ग हवन और यज्ञ है तो इसमे किसी को कोई शंका नही होगी | इस विधि से भगवान को सदियों पहले से ही हमारे ऋषि मुनि रिझाते हुए आये है | यज्ञ को अग्निहोत्र कहते हैं। अग्नि ही यज्ञ का प्रधान […]

Read more
1 2 3 17