एकादशी का महत्व हिन्दू धर्म में

एकादशी का महत्व Importance of Ekadashi in Hindu Religion संस्कृत शब्द एकादशी ( Ekadashi ) का शाब्दिक का अर्थ  दस के बाद आने वाला ग्यारह ।  इसका अन्य नाम ग्यारस , एकादशमी आदि भी है | एकादशी पंद्रह दिवसीय पक्ष ( कृष्ण पक्ष और शुक्ल पक्ष ) के ग्यारवें दिन आती है। अर्थात मास में दो बार एक कृष्ण एकादशी […]

Read more

एक श्लोकी भागवत को पढ़ने से मिलता है संपूर्ण भागवत का फल

एक श्लोकी भागवत आज जीवन अत्यंत व्यस्थ है | पर जीवन में धर्म और कर्म दोनों ही जरुरी है | समय के अभाव के कारण यदि आप सम्पूर्ण भागवत पुराण नही पढ़ पा रहे तो एक श्लोकी रामायण के सार की तरह एक श्लोकी भागवत पढ़कर जीवन को धन्य बना सकते है | यह मंत्र रूप में है जिसके लिए भगवान श्री […]

Read more

गुरुवायुर मन्दिर केरल – कृष्ण के बालरूप की पूजा का मंदिर

Guruvayur Temple Of Lord Krishna In Kerala भारत के केरल राज्य के थ्रिसुर जनपद के अंतर्गत  एक प्रसिद्ध हिन्दू तीर्थस्थल है। यह केरल से लगभग 30 कि.मी. की दूरी पर गुरुवायूर नाम के स्थान आमतौर पर इस जगह को दक्षिण की द्वारका के नाम से भी पुकारा जाता है। गुरुवायुर अपने मंदिर के लिए सर्वाधिक प्रसिद्ध है, जो कई शताब्दियों […]

Read more

कृष्ण की प्रेमी मीरा बाई से जुडी मुख्य बाते जो आपको जाननी चाहिए

मीरा बाई की जीवनी दूनिया भर में भगवान को मानने वाले लाखों-करोड़ो भक्त हैं पर कुछ ही ऐसे हो पाते है जो अपना सर्वश्य अपने आराध्य की सेवा में लगा देते है | श्रीकृष्ण की एक ऐसी भक्त भी हुई थी जो अपने पुरे जीवन को कृष्ण के प्रेम में समर्पित कर दिया और अंत में कृष्ण में ही विलीन […]

Read more

राधा कुण्ड , जहां स्नान से मिलती है संतान की प्राप्ति

राधा कुण्ड गोवर्धन , जहा मिलता है संतान सुख ब्रज का कण कण कृष्णमय है और यहा आने वाले भक्तो पर राधे और कृष्ण अपनी कृपा बरसाते है | गिरिराज जी के रूप में गोवर्धन की परिक्रमा का महत्व अत्यंत है जिन्हें कृष्ण ने पूजे जाने की बात कही | फिर आते है कृष्ण जन्म भूमि मथुरा में देखने लायक […]

Read more

क्यों घट रहा है गोवर्धन का आकार

घट रहा है गोवर्धन का आकार – क्यों आज हम आपको बताने वाले है की गोवर्धन पर्वत जिन्हें हम गिरिराज जी महाराज भी कहते है , अपने पूर्व जन्म में क्या थे | क्यों आज यह भगवान कृष्ण की तरह ब्रज में पूजे जाते है | आइये आज जानते है गोवर्धन पर्वत उत्पति की सम्पूर्ण कथा… गोवर्धन जन्म की कथा […]

Read more

वृंदावन का गोपेश्वर मंदिर – भगवान शिव को बनना पड़ा गोपी

वृंदावन के गोपेश्वर मंदिर में शिव है गोपी विश्व का एकमात्र ऐसा शिव मंदिर जहा शिव की पूजा गोपी के रूप में की जाती है | यह मंदिर वृंदावन में गोपेश्वर मंदिर के नाम से प्रसिद्ध है | इसका एक अन्य नाम गोपीनाथ मंदिर भी है | यह शिव कृष्ण की रास में शामिल होने के लिए गोपी बन कर […]

Read more

बाल गोपाल – लड्डू गोपाल की आरती

लड्डू गोपाल बाल गोपाल  की आरती बहुत सारे भक्त अपने घर में कृष्ण के बाल रूप को घर में बैठकर उनकी पूजा अर्चना करते है | लड्डू गोपाल जी की सेवा और पूजा विधि विशेष है और कुछ मुख्य नियमो का इसमे पालन करना चाहिए | इन्हे एक छोटे से अबोध बालक की तरह मानकर इनका अच्छे से ध्यान रखा […]

Read more

लड्डू गोपाल जी की पूजा विधि सेवा और देखभाल

लड्डू गोपाल जी की पूजा विधि  और सेवा भक्त और भगवान का रिश्ता अनूठा और अनोखा होता है | भक्त अपने अपने तरीके से अपने आराध्य को रिझाते है | आज हम बात करेंगे कृष्ण के बाल रूप लड्डू गोपाल जी की जिसे भक्त अपने घरो में विराजित करते है और एक नन्हे बालक की तरह उसकी सेवा और देखभाल […]

Read more

स्वामी हरिदास जी महाराज

स्वामी हरिदास जी का जीवन परिचय श्री बांकेबिहारीजी महाराज के साथ यदि किसी का नाम अमर हुआ है तो वो है कृष्णोपासक सखी संप्रदाय के प्रवर्तक स्वामी हरिदास जी महाराज | वे कृष्ण के परम भक्त , कवि  और संगीतकार थे | इनके कृष्ण की सखी ललिता का अवतार माना जाता है | श्री बांकेबिहारीजी महाराज को वृन्दावन में प्रकट […]

Read more
1 2 3 5