मत्स्य जयंती पर विष्णु का मछली रूप में अवतार लेना

जब जब धरती पर पाप बढ़ा तब तब भगवान विष्णु ने अधर्म पर धर्म की विजय के लिए अवतार लिए है | ये मानव , जीव रूप और मिश्र रूप में लिए गये है | भगवान विष्णु ने सबसे पहला अवतार यही मत्स्य का लिया था | कब आती है मत्स्य जयंती ? मत्स्य जयंती चैत्र मास की शुक्ल तृतीया […]

Read more

पापमोचनी एकादशी महत्व – सभी पापो से मुक्ति प्राप्ति का दिन

PaapMochani Ekadashi Fast Story and Importance जैसा कि नाम से ही स्पष्ट है कि पापमोचनी एकादशी , पापो से मुक्ति दिलाने वाला दिवस है | चैत्र मास के कृष्ण पक्ष की एकादशी को कोई व्यक्ति विधि विधान से  इस  व्रत को करता है तो उसके समस्त पाप नष्ट हो जाते है | यह व्रत इस साल 2019 में 31 मार्च […]

Read more

क्यों भक्तो में खाटू श्याम जी है इतने प्रसिद्ध

Why Khatu Shyam Ji So Famous in his Bhakts . Know Story of Him and his temple . खाटू श्याम जी कलियुग के ऐसे भगवान है जिनकी आस्था दिन पर दिन बढती जा रही है | स्वयं भगवान श्री कृष्ण ने कुरुक्षेत्र की युद्ध भूमि से इनका शीश नव देवियों से संचित करके कलियुग में घर घर में पूजे जाने […]

Read more

सोमवती अमावस्या की कहानी

Somvati Amawasya Fast Story and Its Important. जो अमावस्या सोमवार के दिन आती है , उसे सोमवती अमावस्या का दिन कहा जाता है | यह बहुत दुर्लभ मावस है जिसके लिए पांडव जीवन भर तरसते रहे | इस दिन शिव पूजा पर पीपल पूजन  का विशेष महत्व  रहता है | सोमवती अमावस्या के दिन सुनी जाने वाली कहानी निचे दी […]

Read more

शनि देव को क्यों चढाते है सरसों का तेल

Why do people offer mustard oil to Lord Shanidev आपने शनि देव की प्रतिमा पर तेल चढ़ते जरुर देखा होगा | संभवत ये ही एकमात्र देवता है जिनकी प्रतिमा पर सरसों का तेल (Mustard Oil ) चढ़ाना अनिवार्य ही माना जाता है | इसके पीछे क्या कारण है , आइये जानते है इस पोस्ट के माध्यम से ….. पढ़े : […]

Read more

बसंत पंचमी पर सरस्वती के साथ होती है कामदेव की भी पूजा

बसंत पंचमी त्यौहार है बसंत के आगमन का स्वागत करने का | यह दिन प्रकृति के अनुपम सौन्दर्य को समर्प्रित है | इस दिन से वातावरण प्रकृति के सबसे सुन्दर रूप को प्राप्त करता है | अत: प्रेम के देवता कामदेव की पूजा का महत्व बढ़ जाता है | बंसत पंचमी पर सरस्वती पूजा का अत्यंत महत्व है जिन्हें विद्या […]

Read more

दुर्वासा मुनि कौन थे ? क्या कहते है इनके बारे में शास्त्र

दुर्वासा मुनि से जुड़ी रोचक बाते सतयुग , त्रेता और द्वापर युग सिद्ध महायोगी और चमत्कारी संत के रूप में  इन्होने अपने कई भक्तो को उद्धार किया । शिवपुराण के अनुसार, दुर्वासा मुनि भी शिवजी के अंशावतार  थे। दुर्वासा मुनि संत होने के बाद भी अपने अत्यंत क्रोध के लिए जाने जाते थे। इनसे पास ऐसी शक्तियां थी जो जीवन […]

Read more

बैकुण्ठ चतुर्दशी का महत्व , पौराणिक कथा और व्रत और पूजन विधि

बैकुण्ठ चतुर्दशी व्रत पूजन और जुड़ी कथा vaikunth chaturdashi story in hindi and importance वैकुण्ठ चतुर्दशी का महत्व कार्तिक मास की देव उठनी एकादशी पर भगवान विष्णु चार माह बाद अपने शयन से उठते है और उसके बाद अपने परम आराध्य परब्रहम शिव की उपासना में लग जाते है | अत: इस दिन की गयी भक्ति शिव और विष्णु दोनों […]

Read more

आंवले के पेड़ की उत्पति कैसे हुई – पौराणिक कथा

कहानी – आंवले का  पेड़ कैसे उत्पन्न हुआ Story behind birth of Phyllanthus emblica (Amla Tree) कार्तिक मास की शुक्ल नवमी पर आंवले की पूजा अक्षय नवमी (आंवला नवमी ) के रूप में की जाती है | पूर्वकाल में समस्त संसार जब जलविलीन था तब ब्रहमाजी प्रब्रह्मा के ध्यान में मगन थे | भगवत ध्यान में उनके आगे का श्वास […]

Read more

आंवला नवमी की कहानी – आंवले के दान से मिला हर सुख

आंवला नवमी की कहानी – आंवले के दान से मिला हर सुख Story Behind Amla Navami Festival – Aamla Navami Ki Kahani In Hindi कार्तिक मास की शुक्ल अष्टमी को आंवला नवमी का पर्व मनाया जाता है | आंवले के पेड़ का धार्मिक और स्वास्थ्य सम्बन्धी महत्व अत्यंत है | शास्त्रों में बताया गया है की सबसे पहले आंवले का […]

Read more
1 2 3 12