भोजन के है तीन प्रकार , सात्विक , राजसिक और तामसिक आहार

भोजन के कितने प्रकार है हमारे सनातन धर्म में हर चीज को लेकर कुछ मान्यताये है जो वैज्ञानिक द्रष्टि से भी सही जान पड़ती है | हमारे मन और शरीर पर इस बात का भी बहुत फर्क पड़ता है की भोजन किस प्रकार का है और कितनी मात्रा का है | कहा भी गया है , “जैसा खाओगे अन्न , […]

Read more

तनाव कैसे करे दूर

तनाव चिंता से आज बच्चे से लेकर बुजुर्ग सभी ग्रसित है | तनाव आज हमारे आस पास में बहुतायत में फैल चूका है | जितने ज्यादा हम तकनीकी रूप से मजबूत होते जा रहे है उतना ही हम तनाव के शिकार हो रहे है | मोबाइल फोन और टावर्स ने इसमे मुख्य  भूमिका निभाई है | तनाव को यदि आप […]

Read more

योगासन करते समय सावधानियां

योगासन में ध्यान रखने योग्य बाते Advice And Precautions in yoga हमारे शरीर के मानसिक और शारीरिक विकास के लिए योगासन करना बेहद जरुरी है | योग करने के फायदे बहुत है और इससे बहुत सी बीमारियों को दूर किया जा सकता है | आज इस लेख में हम योगासन करते समय ध्यान रखने वाली सावधानियो के बारे में बाते […]

Read more

सूर्य नमस्कार से होने वाले फायदे

सूर्य नमस्कार भारत के योग विज्ञान का मुख्य आसन है जो शरीर को बलिष्ठ रखता है , स्वास्थ्य लाभ की प्राप्ति करवाता है | भगवान सूर्य की शरीर के मुख्य अंगो से शारीरिक वंदना करना भी सूर्य नमस्कार है | यह त्रेता युग से कलियुग तक भारतीय लोगो के द्वारा श्रद्दा भाव से किया जा रहा है जिससे वे शारीरिक […]

Read more

अनुलोम विलोम प्राणायाम कैसे करे और इसके लाभ

प्राणायाम में कपालभाती की तरह यह भी एक सरल और चमत्कारी प्राणायाम है | इसे करते समय ध्यान रखे की आपका पेट खाली हो या फिर भोजन किये हुए तीन घंटे से ज्यादा समय हो गया हो | यह प्राणायाम श्वसन संबधी बीमारियों को दूर करता है | पढ़े : प्राणायाम के मुख्य फायदे और स्वास्थ्य लाभ पढ़े : योगासन […]

Read more

प्राणायाम से होने वाले 10 मुख्य फायदे

प्राणायाम द्वारा श्वसन क्रिया को नियंत्रित करके कई शारीरिक मानसिक बीमारियों को दूर किया जा सकता है | प्राणायाम का अर्थ ही है की अपने प्राणों को बड़ा करना | प्राण वायु जीवन दायक है और इस महाशक्ति को पहचानना और जीवन में ढालना ही यहा लक्ष्य है | प्राणायाम के मुख्य स्वास्थ्य और शारीरिक लाभ आध्यात्मिक सुख की प्राप्ति […]

Read more

कैसे करे कपालभाती प्राणायाम जाने – विधि और लाभ

कपालभाती का अर्थ : कपाल का अर्थ है मस्तिक के आगे का भाग और भाती का मतलब उजाला | अत: इस प्राणायाम का अर्थ हुआ की मस्तिक के अग्र भाग में प्रकाश का संचय करना | यह चेहरे पर सुन्दरता लाता है | यह तेज प्रवाह से साँस लेना और छोड़ने का प्राणायाम है | कपालभाती से होने वाले लाभ […]

Read more

योग के मुख्य लाभ और फायदे

भारत की महान भूमि पर योग की महा विद्या का जन्म हुआ है | भारत सम्पूर्ण विश्व के  योग गुरु देश के रूप में विख्यात है | योग का अर्थ है अपनी चित्त वृत्तियों  को शांत करके आध्यात्मिक आनंद लेना | योग द्वारा स्वस्थ शरीर और अशांत मन की प्राप्ति होती है | ” योगश्च चित्तवृत्ति निरोध “ अर्थात चित्त की […]

Read more

कैसे करे प्राणायाम और इसके कितने प्रकार है

How to do Pranayam in proper way  : प्राणायाम करने की सही विधि प्राणायाम (प्राण +आयाम ) अर्थ प्राणों का विस्तार | श्वसन क्रिया द्वारा वातावरण के प्राण तत्वो को खिंचना और मानसिक , शारीरिक और लौकिक शक्तियों को स्वयं में बढ़ाना ही प्राणायाम है | श्‍वास और नि:श्‍वास की गति पर स्वयं का निरंतर प्राणायाम का आधार है |नित्य […]

Read more

अष्टांग योग क्या होता है और इसके फायदे

अष्टांग योग (Astang Yoga) अष्टांग योग में आठ साधन या अंग आते है जो हमारे शरीर , मन और आत्मा को परमात्मा के करीब लेकर जाते है | यह हमारे ऋषि मुनियों की महान खोज है जिसके नियमो का सही पालन करने से जीवन में शांति और स्वास्थ्य में लाभ प्राप्त होता है | अष्टांग योग के 8 भाग : […]

Read more