सबसे पहली रामायण हनुमान ने लिखी पर सागर में डुबो दी ? क्यों

प्रभु श्री राम के जीवन पर अनेकों रामायण लिखी गई है जिनमे प्रमुख है वाल्मीकि रामायण, श्री रामचरितमानस, कबंद रामायण (कबंद एक राक्षस का नाम था), अद्भुत रामायण और आनंद रामायण। लेकिन क्या आप जानते है अपने आराध्य प्रभु श्री राम को समर्पित एक रामायण स्वयं  महाशक्तिशाली हनुमान जी ने लिखी थी जो ‘हनुमद रामायण’ के नाम से जानी जाती […]

Read more

हनुमान जी के असंभव काम

हनुमान जी के असंभव काम यदि दुनिया में सबसे बड़े सेवक का नाम पूछेंगे तो मैं आपको हनुमान जी का ही नाम लूँगा | इन्होने अपना जीवन अपने प्रभु श्री राम की सेवा में लगा दिया है | ये अष्ट चिरंजीवी में से एक है जो आज भी श्री राम की भक्ति में दुबे रहते है | रामायण में इन्होने […]

Read more

द्रोणागिरि – यहां वर्जित है हनुमान जी की पूजा

हम सब जानते है हनुमान जी हिन्दुओं के प्रमुख आराध्य देवों में से एक है, और सम्पूर्ण भारत में इनकी पूजा की जाती है। लेकिन बहुत काम लोग जानते है की हमारे भारत में ही एक जगह ऐसी है जहां हनुमान जी की पूजा नहीं की जाती है। ऐसा इसलिए क्योंकि यहाँ के रहवासी हनुमान जी द्वारा किए गए एक […]

Read more

कैसे बने हनुमान जी इतने महाशक्तिशाली

महावीर हनुमान ऐसे बने महाशक्तिशाली वाल्मीकि रामायण के अनुसार, बाल्यकाल में जब हनुमान सूर्यदेव को फल समझकर खाने को दौड़े और सूर्य को निगल लिया तो हनुमान से अपरिचित तो घबराकर देवराज इंद्र ने हनुमानजी पर वज्र का वार किया। वज्र के प्रहार से हनुमान निश्तेज हो गए। यह देखकर वायुदेव बहुत क्रोधित हुए और उन्होंने समस्त संसार में वायु […]

Read more

सदियों पहले ही हनुमान चालीसा में बताई गयी सूर्य से धरती की दुरी

हनुमान चालीसा में बताई गयी सूर्य से धरती की दुरी सदियों से ही विभिन्न धार्मिक ग्रंथ विज्ञान को चुनौती देते आ रहे हैं। ग्रंथों में लिखे तथ्य आज भी लोगों को चौंका देते हैं। आज हम आपको हनुमान चालीसा में वर्णित एक ऐसा ही तथ्य के बारे में बताने जा रहे हैं, जो सदियों पहले ही वैज्ञानिको की कसौटी पर […]

Read more

संकट मोचन हनुमान् स्तोत्रम्

संकट मोचन हनुमान् स्तोत्रम् जब कभी संकटों ने आपको घेर रखा हो और कोई उपाय दूर दूर तक नजर नही आ रहा था मन से इस संकट मोचन हनुमान स्त्रोत का पाठ आपकी सहायता करेगा | काहे विलम्ब करो अंजनी-सुत । संकट बेगि में होहु सहाई ।। नहिं जप जोग न ध्यान करो । तुम्हरे पद पंकज में सिर नाई […]

Read more

हनुमान साठिका से पाए बजरंगबली की कृपा

हनुमान साठिका हनुमान चालीसा की तरह यह साठिका भी बालाजी महाराज को प्रसन्न करती है | इसमे भी हनुमान जी के दुर्गम कार्यो की प्रशंसा और महिमा का गुणगान किया गया है | इसका नित्य पाठ साधक को आध्यातिम्क आनंद दिलाने में सहायक है | पढ़े : श्री हनुमद् बीसा – हनुमान जी का बीसा पाठ पढ़े : एकमुखी हनुमत्कवचम- […]

Read more

श्री हनुमद् बीसा

श्री हनुमद् बीसा बीस चौपाई का यह बीसा हनुमान जी की कृपा दिलाने वाला है | दुर्गा बीसा यन्त्र और लाभ के बारे में हम आपको पहले बता चुके है अब पढ़े चमत्कारी और कार्य सिद्धि हनुमद् बीसा के बारे में | पढ़े : एकमुखी हनुमत्कवचम- शक्तिशाली हनुमान कवच पढ़े : विभीषण रचित हनुमत्स्तोत्रम् ॥ दोहा ॥ राम भक्त विनती करुँ, […]

Read more

एकमुखी हनुमत्कवचम

महावीर हनुमान अष्ट चिरंजीवी में से एक है | यह कलियुग के जल्द ही प्रसन्न होने वाले देवता है | इनकी कृपा पाने का एक साधन है  एकमुखी हनुमान कवचम | यह कवच प्रभु श्री राम के द्वारा ब्रह्माण्ड पुराण में बताया गया है | यह इतना शक्तिशाली है की कवच को धारण करने वाली की सभी कामनाओ की पूर्ति […]

Read more

विभीषणकृतं हनुमत्स्तोत्रम्

विभीषणकृतं हनुमत्स्तोत्रम् यह हनुमान जी का स्त्रोत लंकापति रावण के भाई विभीषण द्वारा रचा गया है | इसमे उन्होंने महाबली हनुमानजी की महिमा का गुणगान अपने शब्दों में किया है | नमो हनुमते तुभ्यं नमो मारुतसूनवे। नम: श्रीरामभक्ताय श्यामास्याय च ते नम:॥ नमो वानरवीराय सुग्रीवसख्यकारिणे। लङ्काविदाहनार्थाय हेलासागरतारिणे॥ सीताशोकविनाशाय राममुद्राधराय च। रावणान्तकुलच्छेदकारिणे ते नमो नम:॥ मेघनादमखध्वंसकारिणे ते नमो नम:। अशोकवनविध्वंसकारिणे भयहारिणे॥ […]

Read more
1 2 3 4 5 6