पीपल की महिमा और पूजन विधी

पीपल पेड़ की महिमा

भारत के सनातन धर्म में पीपल की महिमा बहूत ही अनुपम में | यह पेड़ो का राजाधिराज कहलाता है | इसके मूल भाग में बह्रमा , मध्य में विष्णु और अग्र भाग में शिव निवास करते है | कुछ विशेष त्यौहार में इसकी या इसके पत्तो से पूजा करना अनिवार्य बताया है | शास्त्रों के अनुसार पीपल की विधि पूर्वक […]

Read more

बिहार में गया तीर्थ की महिमा

गया तीर्थ का धर्म में महत्व

बिहार की राजधानी पटना से करीब 104 किलोमीटर की दूरी पर बसा है गया जिला। धार्मिक दृष्टि से गया न सिर्फ हिन्दूओं के लिए बल्कि बौद्ध धर्म मानने वालों के लिए भी आदरणीय है। बौद्ध धर्म के अनुयायी इसे महात्मा बुद्ध का ज्ञान क्षेत्र मानते हैं जबकि हिन्दू गया को मुक्तिक्षेत्र और मोक्ष प्राप्ति का स्थान मानते हैं। – इसलिए […]

Read more

विष्णु लक्ष्मी की तपोस्थली – बद्रीनाथ धाम कथा

बद्रीनाथ धाम कथा

बद्रीनारायण धाम का महत्व और  विशेषता : बद्रीनाथ धाम को बद्रीनारायण बद्री विशाल आदि नामो से पहचाना जाता है | यह हिन्दुओ के मुख्यत चार  धामों में से एक है जो भगवान विष्णु और माता लक्ष्मी को समर्प्रित है | विष्णु भगवान के परम धामों में से एक बद्रीनाथ तीर्थ के दर्शन करना हर धार्मिक व्यक्ति का स्वपन होता है […]

Read more

पूजन के सन्दर्भ में काम आने वाले मुख्य शब्द अर्थ सहित

पूजन में काम आने वाले शब्द

पूजन एवं साधना के सन्दर्भ में प्रयुक्त होने वाले कुछ शब्दों का अर्थ आप सभी के ज्ञानवर्धन के लिए 1. पंचोपचार – गन्ध , पुष्प , धूप , दीप तथा नैवैध्य द्वारा पूजन करने को ‘पंचोपचार’ कहते हैं। जाने पंचोपचार पूजन विधि 2. पंचामृत – दूध , दही , घृत , शहद तथा शक्कर इनके मिश्रण को ‘पंचामृत’ कहते हैं। […]

Read more

पूजा में अक्षत (चावल ) का प्रयोग

पूजन में चावल को काम में लेना

हम भली तरह जानते है की हिन्दुत्व में जब भी पूजा का कोई कार्यक्रम या हवन होता है तो पूजन थाल में श्वेत चावल जरुर प्रयोग में लाये जाते है | इन चावलों का पूजा में होना अनिवार्य माना जाता है | बिना इनके पूजा संपन्न नही मानी जाती है | चावल को अक्षत कहा जाता है जिसका अर्थ है […]

Read more

सनातन धर्म में ग से पूजी जाने वाली मुख्य चीजे

सनातन धर्म में ग से पूजी जाने वाली

सनातन धर्म में ग शब्द से शुरू होने वाले पञ्च चीजो की पूजा होती है . यह पांच चीजे है : गंगा , गौ , गीता , गोपी (नारी ) और गायत्री | गंगा हिमालय से निकल कर संपर्क में आने वाले हर व्यक्ति को पवित्र करती है , यह कोई मामूली नंदी नहीं नहीं बल्कि पावन गंगा माँ है […]

Read more

माथे पर तिलक लगाना

ललाट पर तिलक लगाना

माथे पर तिलक लगाने से होने वाले लाभ :  भारतीय सनातन धर्म में तिलक लगाना अति प्राचीन परम्परा रही है | यह हिन्दू धर्म का प्रतीक भी है और हर शुभ कार्य का आरंभिक भाग भी है | माना जाता है की तिलक जिसके किया जाता है वो अपना गौरव बढाता है | तिलक लगाना सिर्फ रूढ़ीवाद या अन्धविश्वास नहीं […]

Read more

राशि के अनुसार किस तरह का तिलक लगाये

राशि के अनुसार लगाये तिलक

राशि के अनुसार किस का तिलक लगाये हम जानते है की अलग अलग राशि के स्वामी अलग अलग होते है उनके शुभ फल के लिए अलग अलग तिलक लगाने का विधान है | अपनी राशि के अनुसार तिलक नित्य करने से 30 दिनों में ही परिणाम आने लगते है | राशि के अनुसार तिलक लगाने से आपके तारे आप पर […]

Read more

देवी देवता और उनके वाहन

हिन्दू देवी देवता

जाने हिन्दू देवी देवताओ के वाहन और उनके होने का प्रयोजन भगवान शिव : इनका वाहन बैल है जिसे नंदी कहा जाता है | नंदी बहुत ही मेहनती शांत और भोला प्राणी है जैसे उनके सवार शिवजी शांत और भोले है | माँ दुर्गा : माँ दुर्गा का वाहन है शेर | इसी के कारण इन्हे भक्त शेरोवाली माता भी […]

Read more

सूर्य उपासना कैसे करे

सूर्य की पूजा

सूर्य उपासना करने की सही विधि सूर्य जो अन्धकार को दूर करने वाला और रोशनी प्रदान करने वाला साक्षात् देव है | हिन्दू धर्म में इन्हे सूर्य देव की संज्ञा दी गयी है | धार्मिक आस्था है की इनकी नित्य पूजन से मनुष्य को समृद्धि , मान सम्मान , यश की प्राप्ति होती है | सूर्य अंतःकरण में ज्ञान की […]

Read more
1 19 20 21 22