गरुड़ पुराण के अनुसार रेप करने वाले को ऐसी सजा दी जाये तो रेप करने वाली की रूह कांप जाएगी |

भारत में बलात्कार की घटनाये लगातार बढ़ रही है | रेप करने वालो ने नवजात बच्चियों के साथ साथ वृद्ध बूढी माओ तक को नही छोड़ा | अपने हवास की आग में वे अंधे और दानव तुल्य होकर अक्षम्य कुक्रर्म कर बैठते है | अपने आनंद की पराकाष्टा को ओर बढ़ाने के लिए वे अंत में उस पीडिता को जिन्दा […]

Read more

पंचामृत क्या होता है और कैसे बनता है , इसका स्नान मंत्र क्या है जाने

Panchamrit Kya Hota hai ? Ese Kaise Banate Hai ? दोस्तों आपने चरणामृत और पंचामृत के बारे में जरुर सुन रखा होगा , पर हम इसे लेकर थोड़े से कंफ्यूज होते है | तो आपने किसी भी तरह के संदेह को दूर करने के लिए यह पोस्ट लिख रहे है | दोस्तों पंचामृत शब्द पञ्च +अमृत से मिलकर बना है […]

Read more

चैत्र मास महत्व और इस मास में आने वाले पर्व और त्योहार

Importance of First Month of Indian Calendar Chaitra Maas and Festivals during this period . हिन्दू पंचाग का पहला मास चैत्र का ही है क्योकि इसी मास से शुभता और उर्जा आरम्भ होती है  | इसका सम्बन्ध चित्रा नक्षत्र से होने से इसका नाम चैत्र रखा गया है | शास्त्रों के अनुसार ब्रह्माजी ने चैत्र शुक्ल प्रतिपदा से ही सृष्टि […]

Read more

जानिए, क्यों धारण करते हैं शिव त्रिशूल?

Why does lord shiva hold a trident (trishul) . शास्त्रों और पुराणों में सबसे सरल महादेव को बताया गया है और इनसे जुड़े कई ऐसे राज है जिनका ज्ञान किसी को भी सही सही नही है | भगवान शिव से जुड़ी कई रोचक बाते ,इन्हे सभी से अलग दिखाती है | इनसे जुड़ी हर वस्तु का बहुत बड़ा महत्व और […]

Read more

तो इस वजह से शिवजी के भक्त नंदी के कानों में कहते हैं अपनी मनोकामना

Whispering in the Ears of Shiva’s Nandi – What Significance behind this . सभी देवी देवताओ में सबसे अलग भोलेनाथ है जो अपनी घोर तपस्या में लीन रहते है | वे सादा जीवन भस्म से श्रंगार करने वाले महादेव है | सबसे जल्दी प्रसन्न होकर औगढ़ दानी अपने भक्तो को कुछ भी दे देते है | इनके महान गणों में […]

Read more

फाल्गुन मास का धार्मिक और वैज्ञानिक महत्व?

Falgun Month Importance , Fast and Festivals during this period. हिन्दू पंचांग का अंतिम मास  फाल्गुन का है | इस महीने  की पूनम को फाल्गुनी नक्षत्र होने के कारण इस महीने का नामकरण फाल्गुन रखा गया है | यह मौज मस्ती और उमंग का महिना है जिसमे शिवरात्रि , होली और खाटू श्याम जी का फाल्गुन मेला भरता है | […]

Read more

भागवत गीता : भूलकर भी कभी इन 5 के बारे में बुरा ना सोचें, वरना होगा विनाश

Geeta Ke Anusar Kinka Kabhi Bhi Apman Nhi Karna Chahiye : धर्म ग्रन्थ जीवन की सही और सकारात्मक राह दिखाने वाले होते है | यह ज्ञान से परिपूर्ण होते है जिनका हम सभी को अनुकरण करना चाहिए | इनके बताये गये पद चिन्हों पर चलकर हम यह जीवन तो क्या आने वाले सभी जीवन या मोक्ष प्राप्त कर सकते है […]

Read more

पूजा में चावल , जल और पुष्प हाथ में लेकर करना चाहिये संकल्प

पूजा पाठ में संकल्प का महत्व Pooja Me Sankalp Ka Mahtav हिन्दू धर्म (Hinduism) में देवी देवताओ की पूजा के कई विधि विधान है | इन विधियों के पीछे ईश्वर की प्राप्ति के गुप्त मार्ग छिपे हुए है | हमें इन विधियों का अच्छे से अनुसरण करके पूजा करनी चाहिए जिससे की पूजा का फल हमें अधिक से अधिक प्राप्त […]

Read more

गोवत्स द्वादशी – बछ बारस की पौराणिक कथा

गोवत्स द्वादशी की पौराणिक व्रत कथा Govats Dwadashi Fast Story भाद्रपद मास की कृष्ण द्वादशी पर गौ माँ और उनके बछड़े की पूजा का पर्व गोवत्स द्वादशी -बछ बारस का मनाया जाता है । आइये जानते है इस दिन व्रत करने वाली महिलाए कौनसी पौराणिक कथा सुनती है | प्राचीन समय में भारत में सुवर्णपुर नामक एक नगर था। वहां देवदानी […]

Read more

गंगा में अस्थि बिसर्जन के बाद कहाँ जाती हैं विसर्जित अस्थियां, जानकर हैरान रह जाएंगे

गंगा में विसर्जित अस्थियो का क्या होता है Ganga Me Asthi Visarjan Ceremony हमारे हिन्दू धर्म में शव का अंतिम संस्कार अग्नि के द्वारा किया जाता है और फिर बाद में मरने वाले की अस्थियाँ पतित पावनी गंगा में प्रवाहित की जाती है जिससे की मरने वाले को मोक्ष की प्राप्ति हो | यह परम्परा कई युगों से चली आ […]

Read more
1 2 3 22