कैसे धारण करें रुद्राक्ष , जाने इससे पहनने की विधि

रुद्राक्ष को धारण करने की विधि और नियम धार्मिक पुराणों में रुद्राक्ष की उत्पति की कथा में बताया गया है की यह पेड़ शिव शंकर के नेत्र के आंसू से उत्पन्न हुए है | शिव भक्तो में यह और इसकी माला से मंत्र जाप और इसे धारण करना अति मंगलकारी माना जाता है |शास्त्रों में  रुद्राक्ष के प्रकार कई प्रकार […]

Read more

अष्टधातु का महत्व और मिलने वाला लाभ

अष्टधातु का महत्व और लाभ अष्ट का अर्थ है आठ अत: अष्ट धातु में आठ धातुओ को मिलाया जाता है | ये सभी आठ धातु अपना अपना महत्व रखती है और इनके मिश्रण से जो अष्ट धातु बनती है उसमे इन सभी का गुण पाया जाता है | प्राचीनकाल से ही इस मिश्र धातु का प्रयोग ऋषि मुनियों के समय […]

Read more

पूरा दिन अच्छा जाये , इसके लिए करे इन 5 चीजों में से एक के दर्शन

सुबह किन पांच चीजो में से एक के दर्शन होते है शुभ पुरानी कहावत है कि अगर शुरुआत अच्छी हो तो पूरा काम अच्छा होता है, ठीक इसी प्रकार दिन की शुरुआत अच्छी हो जाए तो पूरा दिन शुभ रहता है। शास्त्रों में दिन की शुरुआत को शुभ बनाने के लिए कुछ खास उपाय बताए गए हैं। इन उपायों से […]

Read more

अमावस्या पर इन 5 चीजों को दान करने से पूरी होती है हर इच्छा

अमावस्या पर किन चीजो का दान करना चाहिए अमावस्या माह के 30वीं और कृष्ण पक्ष की अंतिम तिथि होती है। यह पूर्ण अंधकारमई रात है जिसपर पितृ देवी देवता और नकारात्मक शक्तियां अधिक प्रभावी होती है | यह दिन टोने टोटको का भी माना जाता है | अमावस्या पर कुछ काम नही करने चाहिए | हमारे सनातन धर्म में अमावस्या […]

Read more

क्यों माँ काली को दक्षिणा काली भी कहा जाता है

दक्षिणा काली कैसे पड़ा माँ का नाम काली माँ हिन्दुओ की रूद्र देवी है जो दैत्यों के संहार को अपने भक्तो की रक्षा के लिए अवतरित हुई है | हमने पिछली पोस्ट में बताया था की किस तरह माँ काली का जन्म हुआ | काली शब्द का अर्थ है महाअंधकारमय और यह रंग उन्हें मिला है शिवजी के कंठ में […]

Read more

धर्म की परिभाषा ,अर्थ और महत्व क्या है

धर्म का अर्थ और महत्व धर्म शब्द का उद्भव धृ धातु से हुआ है जिसका अर्थ है धारण करना |  इस परम सत्ता से जुड़ी रीति, रिवाज, परम्परा, पूजा-पद्धति और दर्शन का समूह धर्म के अंतर्गत आता है | धर्म का एक मुख्य अंग है नैतिक और मानवता | भारतीय ऋषियों ने इसी सन्दर्भ में धर्म को परिभाषित  किया है […]

Read more

क्यों भगवान शिव को पशुपति नाथ कहते है ?

कैसे पड़ा भगवान शंकर का पशुपति नाथ ? Shiv Kaise Bane Pashupati Nath in Hindi भारत के अन्दर और बाहर दो ऐसे मुख्य मंदिर है जो शिव के पशुपति नाथ के नाम पर प्रसिद्ध है | इसमे से एक नेपाल में पशुपतिनाथ मंदिर और दूसरा मध्य प्रदेश में मंदसौर के पशुपतिनाथ शिवलिंग | क्यों रखा गया शिव का नाम पशुपति , उसी […]

Read more

देवी देवताओं की तस्वीरों और मूर्तियों से जुड़ी मुख्य बातें

कैसे हो मंदिर में देवी देवताओं की तस्वीरे और मूर्तियाँ प्राय सभी हिन्दुओ के घरो में पूजा घर होता है | उसमे वे अपने आराध्य देवी देवताओ की मूर्ति और तस्वीर रखते है | पर कुछ बाते ऐसी है जो घर के मंदिर में ध्यान रखने योग्य होती है जिससे की पूजा का पूर्ण फल आपको मिले | कुछ मुर्तिया […]

Read more

कौन है वरुण देव , जाने इनसे जुडी रोचक बाते

जल देवता वरुण देव से जुडी मुख्य बाते हिन्दू धर्म में वरुण देव को जल देवता के रूप में पूजा जाता है | सृष्टि के आधे से ज्यादा हिस्से पर जल ही फैला हुआ है | अत: वरुण देवता की महिमा महान है | यह जीवन देने वाला जल के स्वामी है | इनके माता पिता अदिति और ऋषि कश्यप […]

Read more

लोबान और गुग्गुल की धूप का महत्व और लाभ

गुग्गुल धूप का महत्व और लाभ गुग्गल एक वृक्ष का नाम है जिसके तने से प्राप्त होने वाली राल को गूगल धूप कहा जाता है | इस धूप का रंग पीला, श्वेत और लाल हो सकता है | इसे जब आप जलते हुए उपले पर डालेंगे तो यह मनभावन खुशबू बिखेरेगा | इस धूप से देवी देवताओ को प्रसन्नता और […]

Read more
1 2 3 18