परिक्रमा करते समय यह मंत्र जरुर बोले , मिलेगा ज्यादा पुण्य

परिक्रमा के समय बोले यह मंत्र , मिटेंगे सभी जन्मो के पाप

Parikrma Karte Samay Bole Ye Mantra , Sabhi Paap Honge Nasht

हमारे हिन्दू धर्म में पूजा का एक अभिन्न भाग है देवी देवताओ या मंदिरों की  वृत्ताकार परिक्रमा करना | ऐसा करने से मनुष्य के पापो का नाश होता है और प्रभु उस पर अपनी करुणा बरसाते है | भक्त तो से 22 किमी की दूरी पर स्थित है श्री गोवर्धन पर्वत की भी परिक्रमा करते है | परिक्रमा से हम उस दैविक शक्ति को अपने अन्दर समाहित कर लेते है | पर इस प्रदक्षिणा में हमें कुछ बातो का विशेष ध्यान रखना चाहिए | साथ ही प्रदक्षिणा करते समय यदि आप एक मंत्र का जप करेंगे तो आपके सभी जाने अनजाने में किये गये पाप नष्ट हो जायेंगे |


mandir me parikrma mantra

परिक्रमा की दिशा :

परिक्रमा हमेशा घड़ी चलने की दिशा में करनी चाहिए | इससे मंदिर में स्थापित मूर्तियों हमेशा आपके दांयी तरफ रहेगी |

इस दिशा में परिक्रमा करने से मूर्तियों से बहने वाली पॉजिटिव उर्जा हमारे शरीर में प्रवेश करती है |

परिक्रमा मंत्र
परिक्रमा करते समय आप इस मंत्र का जप करते रहे

यानि कानि च पापानि जन्मांतर कृतानि च।
तानि सवार्णि नश्यन्तु प्रदक्षिणे पदे-पदे।।…..

मंत्र का अर्थ – हमारे द्वारा जाने-अनजाने में किए गए और पूर्वजन्मों के भी सारे पाप  प्रदक्षिणा में बढ़ते कदमो के साथ साथ नष्ट हो जाए।

ऋग्वेद से प्रदक्षिणा का अर्थ :

वैदिक ग्रंथ ऋग्वेद के अनुसार प्रदक्षिणा शब्द (प्रा + दक्षिणा) से बना है | प्रा का अर्थ है आगे बढ़ना और दक्षिणा का अर्थ है दक्षिण दिशा | अर्थात प्रदक्षिणा का अर्थ है दक्षिण दिशा में आगे बढ़ते रहना जो की परिक्रमा की ही दिशा होती है |

यदि गीले कपड़े पहन कर आप परिक्रमा करे तो इससे ज्यादा फल की प्रप्ति होगी |


यदि आप ब्रह्माण्ड या परमाणु  को भी समझेंगे तो आप देखेंगे की प्रदक्षिणा ही अंतिम सत्य है | हमारे ग्रह नक्षत्र किसी ना किसी की परिक्रमा जरुर कर रहे है | परमाणु में भी कण चक्र लगा रहे होते है | हमारा जीवन भी एक एक परिक्रमा है जिसमे जन्म , बचपन , जवानी , बुढ़ापा , मृत्यु , जीवन यह चक्र चलता रहता है |

किस देव की कितनी परिक्रमा

– सूर्य देव की सात, श्रीगणेश की चार, श्री विष्णु की पांच, माँ दुर्गा की एक, श्री शिव की आधी प्रदक्षिणा ( अर्धचंद्राकार ) बताई गयी है ।

Other Similar Posts

भारत के सबसे अमीर 12 मंदिर , चढ़ावा आता है करोडो का

घर के मंदिर में ध्यान रखने योग्य बाते जो पुण्य दिलाये

मंदिर में ना करे ये गलतियां , वरना पूण्य की जगह मिलेगा दोष

पूजा में रखे इन बातो का ध्यान , तभी मिलेगा पूजा का पूर्ण फल

कुबेर की पूजा विधि और धन प्राप्ति मंत्र जप विधि

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.