भगवान विष्णु करते है रक्षा – नारायण कवच

त्रिदेवो में भगवान विष्णु को जगत का पालनहार बताया गया है | यह भरण पोषण करने वाले देवता है | यदि आपको आर्थिक रूप से मजबूत होकर वैभवशाली जीवन जीना है तो भगवान श्री विष्णु और उनकी पत्नी धन की देवी माँ लक्ष्मी की कृपा का पात्र बनना ही पड़ेगा |
नारायण कवच पाठ लाभ


विष्णु को हम हरि , नारायण आदि नामो से जानते है | त्रिलोको की रक्षा और अधर्म का नाश करने के लिए भगवान विष्णु ने अवतार धारण किये है | ये अपने भक्तो के रक्षक है | यह दुःख हरने वाले और भक्तवत्सल है |

नारायण कवच की महिमा

इस पाठ में भक्त भगवान विष्णु का स्मरण करते हुए अपनी रक्षा हेतु विष्णु के सभी अवतारों से रक्षा मांगते है | जल भाग से विष्णु का मत्स्य अवतार , थल से वामन अवतार आकाश में त्रिविक्रम भगवान उन्हें रक्षा प्रदान करते है | पहाड़ो पर रक्षा परशुराम जी , रास्ते में रक्षा वराह देव आदि करते है |


इन्द्र ने नारायण कवच की धारण कर दैत्यों को हराया

एक बार देवासुर संग्राम में स्वर्ग के राजा इन्द्रदेव ने नारायण कवच का पाठ करके अपने शरीर पर नारायण रक्षा का ढाल बना लिया और फिर बड़े बड़े दैत्यों को युद्ध में हरा दिया |

कवच के मंत्रो में इतनी शक्ति होती है की इसका पाठ करके यदि किसी के शरीर पर मंत्र फूंक दे तो कोई अस्त्र शस्त्र उसे पीड़ा नही दे सकता |

You May Like Other Articles

भगवान विष्णु के महा मंत्र और जाप करने की  विधि

विष्णु अवतार कल्कि का पहला मंदिर बन चूका है

बद्रीनाथ धाम की कहानी – विष्णु लक्ष्मी ने किया यहा घोर तप

एकादशी पर कभी ना करे यह काम

विष्णु भगवान के घोड़े का सिर क्यों लगा

भगवान सत्यनारायण कौन है

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.