हनुमान रक्षा मंत्र के जप से बनेगा सुरक्षा कवच

हनुमान रक्षा मंत्र के जप से बनेगा सुरक्षा कवच

भक्त हनुमान जी ने श्रीराम परम भक्त है जो की विष्णु भगवान के अवतार थे | वे स्वयं शिवजी के रूद्र अवतार है | उनकी पूजा से शिव और विष्णु दोनों की कृपा प्राप्त होती है | हनुमान जी को आठ चिरंजीवी में से एक माना जाता है |


इनके बारे में हनुमान चालीसा में बताया गया है की , भूत बेताल निकट नही आवे , महाबीर जब नाम सुनावे | अर्थात इनके स्मरण से ही भूत प्रेत भाग खड़े होते है |

hanuman suraksha mantra

आज हम ऐसे ही कुछ दिव्य और चमत्कारी हनुमान जी के मंत्रो के बारे में जानेंगे जो जिस जगह जाप करे जायेंगे वही पर सुरक्षा कवच बनाकर अपने भक्तो की रक्षा करेंगे |


पढ़े : पूजा आराधना और मंत्र से जुडी मुख्य पोस्ट

जाप विधि

शुक्ल पक्ष के पहले मंगलवार से जाप आरंभ करें। हनुमान जी के प्रतिष्ठित श्री स्वरूप अथवा चित्रपट के सामने लाल आसन पर बैठें, शुद्घ गाय के घी का दीपक अर्पित करें, लाल चंदन की अथवा मूंगे की माला पर प्रतिदिन 11 माला 40 दिन तक करने से सिद्धियां प्राप्त होती हैं।

मंत्र : १

ओम नमो हनुमते रुद्रावताराय विश्वरूपाय अमित विक्रमाय प्रकटपराक्रमाय महाबलाय सूर्य कोटिसमप्रभाय रामदूताय स्वाहा।

मंत्र :२

ओम नमो हनुमते रुद्रावताराय सर्वशत्रुसहांरणाय सर्वरोगाय सर्ववशीकरणाय रामदूताय स्वाहा।

मंत्र :३

ओम नमो हनुमते रुद्रावतराय वज्रदेहाय वज्रनखाय वज्रसुखाय वज्ररोम्णे वज्रनेत्राय वज्रदंताय वज्रकराय वज्रभक्ताय रामदूताय स्वाहा।

मंत्र :४

ऊँ हुँ हुँ हनुमतये फट्।

इस मंत्र का कम से कम10000 बार जप करने से लाभ प्राप्त होता है। इसके साथ-साथ दशांस हवन करने से महालाभ प्राप्त होता है।

हनुमान साधाना के दौरान रखें ध्यान

ब्रह्मचर्य का पालन करें। मन , शरीर और सोच शुद्ध होनी चाहिए |

तामसिक भोजन से दूर रहे |

हनुमान जी की प्रतिमा के निचे लाल कपड़ा बिछाकर पंचोपचार पूजन  या षोडशोपचार पूजन विधि से अर्चना करे |

नित्य सही समय पर शुद्ध होकर मंत्र का जाप करे |

साधना काल में किसी पे क्रोध या किसी के गलत बात ना बोले |

Other Similar Posts

हनुमान जी को प्रसन्न करने के उपाय

अष्टधातु का महत्व और मिलने वाला लाभ

कौन है नारायण नारायण करने वाले नारद मुनि

क्यों भरत ने किया हनुमान को बाण से घायल

एकादशी का महत्व हिन्दू धर्म में

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.