लड्डू गोपाल जी की पूजा विधि सेवा और देखभाल

लड्डू गोपाल जी की पूजा विधि  और सेवा

भक्त और भगवान का रिश्ता अनूठा और अनोखा होता है | भक्त अपने अपने तरीके से अपने आराध्य को रिझाते है | आज हम बात करेंगे कृष्ण के बाल रूप लड्डू गोपाल जी की जिसे भक्त अपने घरो में विराजित करते है और एक नन्हे बालक की तरह उसकी सेवा और देखभाल करते है | इन्हे परिवार का एक छोटा जीवित सदस्य मानकर इनका भी पालन किया जाता है | इनकी देखभाल में इन्हे भोग , स्नान वस्त्र आदि सभी बातो का विशेष ध्यान रखा जाना चाहिए |


विशेष ध्यान : कृष्ण के लड्डू गोपाल जी को घर में यदि विराजित कर रहे है तो ध्यान रखे आप एक छोटे से बालक को पालने जा रहे है | इनका एक नन्हे बालक की तरह देखभाल करे | यदि आपसे यह नियम नही किये जा सकते तो आप कृष्ण की मूर्ति या तस्वीर लगा कर पूजा कर ले |laddu gopal puja vidhi

पढ़े : कृष्ण जन्मस्थली मथुरा में दर्शनीय स्थल और मंदिर 


पढ़े : कोकिलावन शनिदेव मंदिर में कृष्ण ने दिए शनि को कोयल के रूप में दर्शन

कैसे करे लड्डू गोपाल जी की पूजा और सेवा

आइये अब जानते है की किस तरह सम्पूर्ण दिन में लड्डू गोपाल जी की सेवा और देखभाल की जानी चाहिए | इनकी पूजा विधि क्या है |

  • लड्डू गोपाल जी का घर में प्रवेश हो जाने पर वे आपके घर के एक सदस्य बन जाते है |
  • घर के सदस्यों के ध्यान रखने के साथ साथ इनका भी ध्यान और आवश्यक्ताओं की पूर्ति की जानी चाहिए |
  • ये प्रेम और सेवा के भूखे है इसलिए सभी घरवालो को इन्हे पूर्ण सम्मान और लाड देना चाहिए |
  • इन्हे नित्य स्नान कराये जैसे एक छोटे से बच्चे को कराया जाता है | गर्मी में ठन्डे पानी से और सर्दी में गर्म पानी से | स्नान के बाद अच्छे से मुलायम कपडे में पोछे और नए वस्त्र और शंगार करे |
  • इन्हे तीन बार दूध पिलाये और 3 बार खाना खिलाये | घर में कोई नयी मिठाई या फल आता है तो लड्डू गोपाल जी को अर्पित करे |
  • इन्हे माखन मिश्री अत्यंत प्रिय है अत: यह भोग उन्हें हर दिन लगाये |
  • इनकी प्यास का भी ध्यान रखे और समय समय पर पानी पिलाते रहे |
  • गर्मी में इनके लिए पंखे की व्यवस्था करे और सर्दी में इनका ठण्ड से बचाव करे |
  • मौसम के अनुसार इनका भी ध्यान रखा जाना चाहिए |
  • इनके खेलने के लिए खिलौने भी दे और पढाई के लिए कॉपी पेन्सिल भी |
  • घर के सभी सदस्यों को इनसे बाते करनी चाहिए |
  • लड्डू गोपाल जी का एक प्यारा सा नाम रखे और उन्ही नाम से इन्हे पुकारे |
  • दिन में इनकी दो बार आरती करे |
  • कृष्ण जन्माष्टमी पर तो आपको इनकी विशेष पूजा करनी ही है पर जिस दिन आप अपने घर में लड्डू गोपाल जी को लाये थे उस दिन इनका जन्मोत्सव धूम धाम से मनाये |


Other Similar Posts

कृष्णा को पसंद है यह पांच चीजे

कृष्ण मंत्र जो प्राप्त करवाएंगे अपार धन सम्पदा

वृन्दावन में दर्शनीय स्थल और मंदिर

गोवर्धन परिक्रमा क्यों की जाती है , जाने इसका महत्व

रहस्यमयी वृंदावन का निधिवन – आज भी राधे संग रास रचाते है कृष्ण

56 भोग कौनसे होते है , जाने उन्हें सभी नाम

कृष्ण की मृत्यु कैसे हुई

 

4 comments

  • hum gopalji ko jab snan krate hai tbh snan jal ka kya karte hai or humko ladoo gopalji ki malish kisse krni chahiye

    • लड्डू गोपाल जी हमारे छोटे से नादान से बालक है | इन्हे स्नान के बाद बचे जल को आप किसी अशोक या पीपल के पेड़ में डाले या तुलसी में भी डाल सकते है | मसाज आप घी से करे फिर पंचामृत से नहलाये फिर शुद्ध जल से

  • Jitendra Kumar Sharma

    Hamare laddu Gopal ji ki ek aankh injured ho gayi kya kare plz tell me plz

  • Me Ladoo Gopal ji ki sananwale jal ko pee jata hu koi baat to nhi

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.