खंडित शिवलिंग की पूजा

क्या आप जानते है की सिर्फ भगवान शिव के ही रूप शिवलिंग की पूजा खंडित रूप में भी हो सकती है | जबकि अन्य सभी देवी देवताओ की मूर्तियाँ खंडित होने पर पूजा के योग्य नही मानी जाती | उन टूटी हुई प्रतिमाओ को पीपल के वृक्ष की जड़ में रख दिया जाता है | ध्यान रखे यदि शिव प्रतिमा टूट गयी है तो उसकी भी पूजा नही करनी चाहिए |


पढ़े : शिवलिंग की पूजा में यह चीजे भूल कर भी ना चढ़ाये

खंडित शिवलिंग की पूजा

क्यों होती है खंडित शिवलिंग की पूजा




खंडित शिवलिंग की पूजा क्यों होती है ?

शिव के जन्म कथा से पता चलता है की शिव निराकार और साकार दोनों रूप में पूजे जाते है | शिव के साकार रूप में उनकी प्रतिमा तो निराकार रूप में शिवलिंग की पूजा की महिमा बताई गयी है | हमने पहले बताया था की शिवलिंग की उत्पति कैसे हुई है | शिवलिंग की पूजा सबसे अच्छी महान बताई गयी है | यदि शिवलिंग कितना भी खंडित हो जाये , हर अवस्था में पूजनीय माना गया है | शास्त्रों में हर तरह के शिवलिंग की महिमा और महत्व बताया गया है |  शिवलिंग पूजा विधि से सभी मनोरथ और कामना पूर्ण होती है | इस पूजा में ध्यान रखे की कैसे करे शिव को प्रसन्न |

शिवलिंग की पूजा में ध्यान रखे दिशा


सभी शिव भक्तो को यह जरुर ध्यान रखना चाहिए की शिवलिंग की पूजा करते समय उनका मुख उत्तर दिशा में होना चाहिए | शिवलिंग की परिक्रमा भी कभी पूरी नही करनी चाहिए क्योकि जलधारी को कभी पार नही करते |

बहुत से मंदिर में है खंडित शिवलिंग

भारत में आज बहुत सारे ऐसे मंदिर है जहा खंडित शिवलिंग की पूजा अर्चना पुरे विधि विधान से की जाती है | यह मंदिर बहुत प्राचीन है | कुछ शिवलिंग ऐसे भी है जिनके आकार बढ़ रहा है | भगवान शिव की लीला का कोई पार नही है |

Other Related Posts

ॐ नमः शिवाय मंत्र की शक्ति

शिव को क्यों पसंद है प्रदोष का व्रत

क्या आप जानते है की शिवलिंग पर दूध क्यों चढ़ाया जाता है ?

शिवजी के 12 द्वादश ज्योतिर्लिंग कौनसे है

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.