गणेश स्थापना से जुड़े नियम और जरूरी बातें

गणेश जी की स्थापना करते समय ध्यान रखे ये बाते

Don’t Forget These 10 Rules When Placing Ganesha At Home.

इस साल 13 सितंबर 2018  को गणेश चतुर्थी है। इस दिन घर घर में स्थापित करने की परम्परा है कईं घरों और ऑफिस में गणेश जी की स्थापना की जाती है | स्थापना के समय हम अनजाने में कुछ ऐसी गलतियां कर बैठते है जिससे हमारी पूजा अपूर्ण और दोषपूर्ण हो जाती है |


गणेश स्थापना से जुड़े नियम

गणेश स्थापना के लिए दिशा और जगह की शुद्धता का ध्यान रखना बहुत जरूरी होता है |

पढ़े : क्यों किया जाता है जल में गणेश विसर्जन

कैसे करे गणेश जी प्रतिमा की स्थापना

1 – किस रंग की होनी चाहिए गणेश की प्रतिमा

गणेश जी की कृपा प्राप्ति के लिए गणेश जी की मूर्ति का रंग सफ़ेद या सिंदूरी होना चाहिए | गणपति जी को ये दो रंग अत्यंत प्रिय है | ऐसी मूर्तियाँ सौभाग्य बढ़ाने वाली और भाग्योदय लाती है |


2- किस दिशा में करे स्थापना

गणेश जी को विराजित करते समय दिशा और जगह का विशेष ध्यान रखे | इन्हे आप कभी भी दक्षिण और दक्षिण पश्चिम दिशा में नही बैठाये | मूर्ति स्थापना के लिए सबसे उत्तम दिशा  पूर्व या  उत्तर पूर्व मानी गयी है |

3- एक ही मूर्ति करे स्थापित

ganesha two idols
घर या आॅफिस में  एक ही गणेश जी की मूर्ति स्थापित की जानी चाहिए | इससे ज्यादा मूर्ति स्थापना करने से इनसे निकलने वाली उर्जाये आपस में टकरा जाती है | यह टकराव अशुभ फल देने वाला होता है |

4- किस तरफ ना हो गणेश जी का मुख

घर में गणेश जी को स्थापित करते ध्यान रखे की उनका मुख द्वार की तरफ देखता नही हो | गणेश के मुख पर सुख , सौभाग्य और समृधि का वास बताया जाता है | यदि उनका मुख दरवाजे की तरफ होगा तो ये सौभाग्य और समृधि द्वार से ही लौट जायेंगे |

5- कैसी होनी चाहिए गणेश जी की मूर्ति पर लगी सूंड

गणेश प्रतिमा को घर या ऑफिस में लाने से पहले देख ले की गणेश जी की सूंड किस तरफ है | ऐसा माना जाता है कि बांयीं ओर सूंड वाली गणेश मूर्ति अति फलदाई होती है | ऐसे गणेश जी जल्दी प्रसन्न होते है | साथ ही बैठे या शयन करते हुए गणेश जी मूर्ति लाना अत्यंत शुभ बताया गया है |

ganesha worship

6- गणेश की पीठ के दर्शन

शास्त्रों में बताया गया है की भगवान गणेश की पीठ के दर्शन नही करने चाहिए | यहा दरिद्रता का निवास होता है | गणपति की पीठ के दर्शन करने से गरीबी प्राप्त होती है | अत: गणेश जी की प्रतिमा के पीछे कुछ ऐसी चीज या दिवार हो की पीठ दिखे नही |

7- रोज करे विधवत पूजा

गणेश जी की स्थापना के बाद जब तक आप गणेश जी को विसर्जित ना करे , तब तक हर दिन उनकी पूजा सुबह शाम करे | हर दिन उन्हें ताजा दूर्वा , मोदक , अक्षत चढ़ाये | श्री गणेश द्वादश नाम स्तोत्र का पाठ करे |

Other Similar Posts

गणेश जी को प्रसन्न करने वाले उपाय बुधवार को

कैसे करे गणेश प्रतिमा का विसर्जन , जाने विधि

गजानंद गणेश से जुडी 12 रोचक बाते

गणेश जी के पाँच चमत्कारी मंत्र तो करते है मंगल ही मंगल

भगवान श्री गणेश के 10 प्रसिद्ध मंदिर भारत में

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.