देवी लक्ष्मी जी के 18 पुत्रो के नाम लेने से खुश होती है लक्ष्मी

देवी लक्ष्मी जी के 18 पुत्रो के नाम जप

Devi Lakshmi Ke 18 Putro Ka Nam Jap

शुक्रवार का दिन विशेष रूप से माँ लक्ष्मी की पूजा का दिन माना जाता है । शास्त्रों में बताया गया है की यदि इस दिन इनके अठारह पुत्रों के नामों का मंत्र रूप में जाप किया जाये तो माँ लक्ष्मी अत्यंत प्रसन्न होती है |


maa lakshmi ke 18 putro ke naam

शुक्रवार को पूजा के समय प्रात:काल स्‍नान आदि के बाद देवी की प्रतिमा के सामने दीपक जलाकर पूजा करने और कुछ विशेष मंत्रों का जाप करने से आर्थिक परेशानियां दूर होती है। इसके साथ ही इस दिन एक और विशेष उपाय करें तो समृद्धि की सहज प्राप्ति हो सकती है। इसके लिए मां लक्ष्मी के 18 पुत्रों के नामों के मंत्रों का पाठ करें।

18 पुत्रों के नाम और मंत्र

देवी लक्ष्मी जी के 18 पुत्र माने गये हैं | यदि माँ के प्रिय वार शुक्रवार को इन सभी पुत्रो का नाम मंत्र रूप में लेकर जप किया जाये तो माँ लक्ष्मी बहुत खुश होती है और जापकर्ता को इच्छानुसार फल प्रदान करती है | आइये जानते है जाप किन नामो का और कैसे करना है :

1. ऊं देवसखाय नम: 2. ऊं चिक्लीताय नम:,

3. ऊं आनंदाय नम:, 4. ऊं कर्दमाय नम:,

5. ऊं श्रीप्रदाय नम:, 6. ऊं जातवेदाय नम:,


7. ऊं अनुरागाय नम:, 8. ऊं संवादाय नम:,

9. ऊं विजयाय नम:, 10. ऊं वल्लभाय नम:,

11. ऊं मदाय नम:, 12. ऊं हर्षाय नम:,

13. ऊं बलाय नम:, 14. ऊं तेजसे नम:,

15. ऊं दमकाय नम:, 16. ऊं सलिलाय नम:,

17. ऊं गुग्गुलाय नम:, 18. ऊं कुरूंटकाय नम:।

नोट : – उपरोक्त गहरे अक्षर पुत्रो के नाम है जिनके आगे ॐ और पीछे नम: लगाकर उनके नाम रूप में मंत्र बताये गये है |

Other Similar Posts

देवी लक्ष्मी पूजन की सरल विधि

लक्ष्मी बीज मंत्र जाप विधि का प्रयोग कर प्रसन्न करे लक्ष्मी को

लक्ष्मी जी की मूर्ति का रूप कैसा हो की मिले अपार धन

इंडोनेशिया के ये मंदिर पूरे विश्व में हैं प्रसिद्ध

कुंडली के दोषों को दूर करने के लिए सूर्य से जुड़े उपाय

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *