किस देवी देवता के मंत्रो के जप के लिए कौनसी माला

तंत्र मंत्र  की दुनिया में सबसे बड़े आराध्य देव भगवान शिव और उनके एक रूप काल भैरव की पूजा की जाती है जबकि माँ शक्ति के रूप में महाकाली की साधना करते है | यह तामस रूप के देवता है | जबकि भगवान विष्णु और उनके अवतार  , माँ दुर्गा , गणेश सात्विक देवता में गिने जाते है |

mantra jaap mala


इन सभी के अलग अलग मंत्र जप करने की विधि है और सभी के लिए अलग अलग माला मंत्र जाप में काम में ली जाती है | देवी देवताओ के बीज मंत्र में माला और आसन का बहुत महत्व है |

देवी देवता के मंत्रो का जाप किस माला से करे

 

भगवान सूर्य के लिए :

माणिक्य, गारनेट, बिल की लकड़ी की माला का उपयोग करे |

भगवान शिव शंकर के लिए :

इनके लिए रुद्राक्ष की माला काम में ले |पढ़े : रुद्राक्ष की उत्पति की कहानी

माँ दुर्गा के लिए :

माँ शेरोवाली के लिए लाल चन्दन की माला से जप करे |

माँ लक्ष्मी के लिए :

कमलट्टे की माला माँ लक्ष्मी की की गयी आराधना जल्दी सफल होती है |


भगवान हरि विष्णु के लिए :

तुलसी या चन्दन की माला का प्रयोग करे |

माँ अम्बिका की पूजा में  :

स्फटिक माला काम में ले |

माँ काली के मंत्र जप :

नील कमल या काली हल्दी की माला से मंत्र जाप करे |

बगलामुखी :

पीली हल्दी की माला माँ बगलामुखी को प्रिय है |

Other Related Posts

कैसे करे सही विधि से मंत्र जाप

किस देवी देवता का कौनसा  वाहन (सवारी ) है

33 करोड़ देवी देवताओ का सच्च क्या है

देवी देवताओ को प्रिय भोग प्रसाद

सभी नवग्रहों की शांति के लिए मंत्र और जप विधि

 

 

 

 

3 comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.