भगवान सूर्य देव आरती

सूर्य की आरती

भगवान सूर्य जो कश्यप ऋषि के पुत्र है और अदिति उनकी माता है | जो समस्त संसार को नित्य प्रकाश प्रदान करने वाले है | जिनकी प्रशंसा में वेद पुराण भरे पड़े है | ऐसे भगवान की आरती स्तुति करके हमें  नित्य उनका आशीष लेना चाहिए | सूर्य आरती जय कश्यप नंदन जय कश्यप नन्दन, स्वामी जय कश्यप नन्दन। त्रिभुवन […]

Read more

शनिदेव को लगता है इनसे भय

शनि को भय है इनसे

हम मनुष्यों में शनिदेव का भय है क्योकि यह मनुष्यों के अच्छे बुरे कर्मो का फल देते है | कलियुग में पाप चरम पर है अत: हमारे द्वारा पाप भी अधिक होते है और शनिदेव इसका भुगतान करने आ जाते है | पर ऐसे शनिदेव भी ऐसे दो व्यक्तियों से भय खाते है | किस किस से डरते है शनिदेव […]

Read more

कृष्ण ने हराया हनुमानजी को अर्जुन से

कृष्ण ने अर्जुन को हनुमान से जीता दिया

इस कथा में बहुत सारे सवालो के जवाब छिपे हुए है जैसे की …. क्यों अर्जुन के रथ पर हनुमानजी सवार थे | क्यों अर्जुन युद्ध से पहले आत्महत्या करना चाहते थे | और क्यों हनुमानजी को कृष्ण ने अर्जुन के हाथो हरवाया | आपने देखा होगा की अर्जुन के रथ पर श्री हनुमान जी ध्वजा के ऊपर विराजित होकर […]

Read more

काशी काल भैरव मंदिर चमत्कार

काशी भैरव चमत्कार

काशी के काल भैरव  मंदिर का चमत्कार  में घटे चमत्कार – पागल काले कुत्तो के झुण्ड ने किया औरंगजेब की सेना पर प्रहार : काल भैरव मंदिर में घटा चमत्कार : औरंगजेब के शासन काल में जब काशी में मुग़ल सैनिको ने काशी विश्वनाथ मंदिर को  नुकसान  पहुँचाया तब इस काशी नगरी  के कोतवाल काल भैरव के मंदिर की तरफ […]

Read more

कलियुग है सबसे महान

कलियुग है सबसे महान समय

एक बार मुनियों में बहस चल गयी की किस समय में किया गया थोडा सा पुण्य भी अति फलदाई है | इस प्रश्न का उत्तर पाने के लिए वे सभी वेद व्यासजी के पास पहुंचे | व्यासजी उस समय गंगा स्नान कर रहे थे | ऋषिगणों के आगमन पर व्यासजी डुबकी लगाकर जोर जोर से बोल रहे थे की कलियुग […]

Read more

पार्वती ने दिया शनि को अपंग होने का श्राप

एकबार शनिदेव कैलाश पर्वत पर आये तब माँ पार्वती से मिलने पर उनकी नजर निचे झुकी हुई थी | पार्वती जी ने उनसे पूंछा  की वो नजरे निचे क्यों झुकाए हुए है | तब शनिदेव ने बताया की उनकी नजर से उनके पुत्र श्री गणेश को नुकसान पहुँच सकता है इसी भय से उनकी नजरे निचे है | यह सुनकर […]

Read more

खंडित मूर्ति की पूजा क्यों नही करे

खंडित मूर्ति

क्यों नही की जाती  खंडित मूर्ति की पूजा : हिन्दू धर्म में देवी देवताओ की साकार रूप में मानकर पूजा की जाती है | इस विधि में पत्थर , सोने , चाँदी ,अष्ट धातु व अन्य धातुओ की मूर्ति बनाकर या फोटो और तस्वीरों के माध्यम से पूजा की जाती है | जब कोई मूर्ति खंडित हो जाती है तो […]

Read more

हिन्दू धर्म में पाँच पवित्र चीजे

पाँच चीजे तो पवित्र और पूजनीय है : पंचामृत : पंचामृत में गाय का कच्चा दूध , शहद , शक्कर  , दही और घी (घृत)  का मिश्रण होता है | यह पंचामृत देवी देवताओ को नहलाने के लिए काम में लिया जाता है | पूजा में  प्रसाद के रूप में इसका  विशिष्ट स्थान है | पाँच पवित्र नदिया : हमारे […]

Read more

गणेश अष्ट नामाष्टक –स्त्रोत की महिमा

गणेश जी के मुख्य नाम

गणेश पुराण के अनुसार भगवान श्री गणेश के अष्ट नाम इस तरह है : गनेशमेकदंत च हेरम्बम  विध्ननाशकं लम्बोदरं शूर्पकर्णम  गजवक्त्रं गुहाग्रजम || गणेश एकदंत , हेरम्ब  , विध्ननाशक ,लम्बोदर ,शूर्पकर्ण , गजवक्त्र ,गुहाग्रज ये आठ नाम श्री गणेश के अष्ट नामाष्टक –स्त्रोत है | गणेश  अष्ट नामाष्टक –स्त्रोत की महिमा : इन नमो की महिमा अति उच्चतम स्तर की […]

Read more

नरक दिखाने वाला मंदिर

नरक का नजारा दिखाने वाला मंदिर

आज हम एक ऐसे विचित्र मंदिर की बात करेंगे जो हमारे मन में भक्तिमय माहौल नही बल्कि कौफ भर देता है | इस मंदिर में देवी देवताओ की मुस्कान भरी प्रतिमा नही बल्कि उनके द्वारा दंड देने वाली मूर्तियाँ स्थापित है | हमारे 18 महापुराणों में से एक है गरुढ़ पुराण | इस पुराण में विस्तार से बताया गया है […]

Read more
1 77 78 79 80 81 108