तीर्थ यात्रा में ध्यान रखे यह बाते

तीर्थ यात्रा में ना भूले

तीर्थ दर्शन की परंपरा काफी पुराने समय से चली आ रही है। मान्यता है कि तीर्थ यात्रा से जाने-अनजाने में किए गए पापों से मुक्ति मिल जाती है। इस यात्रा से व्यक्ति को अक्षय पुण्य की प्राप्ति होती है। शास्त्र कहते है की आयु के एक पड़ाव पर तीर्थ यात्रा करना सही रहता है , यह आयु पड़ाव तब आता […]

Read more

दरिद्रता के मुख्य कारण

जाने गरीबी के कारण

क्या आप गरीबी से परेशान है या घर में पैसा बहूत आने के बाद भी आप अच्छे से संचय नही कर पा रहे | आमदनी तो हो रही हो पर खर्चे भी उससे ज्यादा बढ़ रहे हो | यहा निचे कुछ पॉइंट दिए जा रहे है , जाने कही इनमे से तो कोई भूल आप या परिवार का सदस्य तो […]

Read more

घर के ध्यान से सुख समृधि का वास

घर में रखे यह ध्यान खुशिया

घर में रखे यह ध्यान सुख समृधि से बढेगा आपका मान सम्मान : पुराणों में लिखा गया है मनुष्य का घर जिस तरह का रहेगा उसी तरह से उनका जीवन चलेगा | हर कोई चाहता है की घर में सुख सम्पति हो , सभी सदस्य निरोगी हो | घर में सकारात्मक ऊर्जा का वास हो और नकारात्मक ऊर्जा उस घर […]

Read more

राशि और उनसे जुड़े मंत्र

राशि के अनुसार आपका मंत्र

किस राशि का कौनसा मंत्र है ज्योतिष विज्ञान में हर व्यक्ति के नाम के साथ उसकी एक राशि जुडी होती है | राशि और उसके स्वामी ग्रह के आधार पर उनका एक विशिष्ट मंत्र होता है | मंत्र अपने आराध्य की स्तुति का रामबाण है | हमारे  जन्म तारीख समय और स्थान के अनुसार हमें एक राशि प्राप्त होती है […]

Read more

कैसे रहे पर्स भरा भरा

पर्स रहे पैसो से भरा भरा

सभी यही चाहते है की उनका पर्स हमेशा नोटों से भरा रहे, जितने नोट खर्च हो उससे ज्यादा नोट फिर से पर्स में आ जाये | सीधे मायने में आमदनी ज्यादा हो और खर्चे कम हो | इन सभी बातो का वैज्ञानिक आधार तो यही है की आप अच्छे से पैसे कमाए , फिजूलखर्ची बंद करे | पर साथ ही […]

Read more

शिवजी को जल बेलपत्र

शिवलिंग पर बेलपत्र चढ़ाना

क्यों चढाते है शिवलिंग पर जल दूध और बेलपत्र हम सभी जानते है की शिवजी की पूजा शिवलिंग के रूप में अर्धनारेश्वर के रूप में होती है और उनपे बेलपत्र अर्पण किया जाता है और जल और दूध से अभिषेक किया जाता है | कभी आपने इसके पीछे के कारण जाने है की क्यों शिवलिंग पर बेलपत्र और जल चढ़ाया […]

Read more

शंख से ना करे शिव पूजन

क्यों है शंख से शिव पूजा वर्जित हिन्दू धर्म में आरती के समय शंख का उपयोग महत्वपूर्ण माना जाता है | सभी सभी देवी-देवताओं को शंख से जल चढ़ाया जाता है आपको जानकर अचरज होगा की पुराणों में किसी भी शिवलिंग पर शंख से जल चढ़ाना वर्जित माना गया है। ऐसा क्यों है और इसके पीछे की कथा जानते है […]

Read more

द्वादशज्योतिर्लिंग स्तोत्र

द्वादश ज्योतिर्लिंग

शिवजी का द्वादशज्योतिर्लिंग स्तोत्र में सभी मुख्य 12 ज्योतिर्लिंगों का सार दर्शाया गया है | रोज इस स्त्रोत का पाठ करने से भक्त के जीवन पर शिव की अशीम कृपा बनी रहती है और वह अपने जीवन के अंत में शिवपद को प्राप्त करता है | हर ज्योतिर्लिंग में शिवजी का साक्षात् वास है | शिव भक्तो के चमत्कारी यह […]

Read more

बिल्वपत्र और शिवमंत्र

बिल्वपत्र और जल से शिव पूजन करते समय ध्यान रखे यह मंत्र : शिवजी ही सबसे सरल स्वभाव और मोहमाया से दूर रहने वाले देव है वे कलश भर पानी और आसानी से मिल जाने वाले बिल्वपत्र धतूरे से प्रसन्न हो जाते है | इनकी पूजा से मनुष्य को सभी सुखो का आनंद प्राप्त होता है | यह सांसारिक और […]

Read more

पूजा में आरती का महत्व क्या है

shivji aarti

जाने आरती का क्या महत्व है पूजा अर्चना में आज आपको बताते है आरती का महत्व। मंदिर चाहे घर में हो या घर के पास , मंदिर चाहे छोटा हो या बड़ा , हर धार्मिक स्थल पर आरती की महत्ता होती है | ईश्वर की पूजा बिना आरती के अधूरी मानी जाती है | अत: पूजा करने से पहले आरती […]

Read more
1 54 55 56 57 58 59