शनि को प्रसन्न करने के सरल और कारगर उपाय

कैसे करे शनि को प्रसन्न

शनि को प्रसन्न करने के उपाय कौनसे है यदि किसी व्यक्ति की कुंडली में शनि गलत जगह पर विराजमान है और इसी वजह से उस व्यक्ति को अनेको दुःख उठाने पड़ रहे हो तो शास्त्रों में बताये गये शनि को प्रसन्न करने के उपाय से आप इनकी कृपा के पात्र बन सकते है | शनि को खुश करने के लिए […]

Read more

शनि चालीसा

शनि चालिसा हिंदी में

शनि चालीसा हिंदी पाठ ।। दोहा ।। जय गणेश गिरिजा सुवन, मंगल करण कृपाल । दीनन के दुख दूर करि, कीजै नाथ निहाल ।। जय जय श्री शनिदेव प्रभु, सुनहु विनय महाराज । करहु कृपा हे रवि तनय, राखहु जन की लाज ।। जयति जयति शनिदेव दयाला । करत सदा भक्तन प्रतिपाला ।। चारि भुजा, तनु श्याम विराजै । माथे […]

Read more

शनि अष्टोत्तरशतनामावलि

शनिदेव 108 नामावली

शनि अष्टोत्तरशतनामावलि शनिदेव के 108 नामो की माला मंत्र रूप में निम्न है | ॐ शनैश्चराय नमः ॥ ॐ शान्ताय नमः ॥ ॐ सर्वाभीष्टप्रदायिने नमः ॥ ॐ शरण्याय नमः ॥ ॐ वरेण्याय नमः ॥ ॐ सर्वेशाय नमः ॥ ॐ सौम्याय नमः ॥ ॐ सुरवन्द्याय नमः ॥ ॐ सुरलोकविहारिणे नमः ॥ ॐ सुखासनोपविष्टाय नमः ॥ ॐ सुन्दराय नमः ॥ ॐ घनाय […]

Read more

शनि मंत्र

शनिदेव मंत्र पूजन

Lord Shani Mantra In Hindu to Remove all Troubles कहते है जिस पर शनि देव की सच्ची कृपा हो जाये उस व्यक्ति के सितारे बुलंदी पर चले जाते है | वह व्यक्ति फिर सभी सुखो का भोग प्राप्त करता है | इसलिए शनिदेव को शत्रु नही अपना मित्र बनाये और उन्हें प्रसन्न रखे | वैसे तो शनिदेव का मुख्य वार […]

Read more

कृष्णा को पसंद है यह पांच चीजे

कृष्ण को पसंद है यह चीजे

वो पांच चीज़े कौनसी है जिनसे भगवान श्री कृष्ण अति प्रसन्न होते है | यह सभी चीज़े इन्हे अपने बचपन से सी प्यारी है | इसी धारणा से आज भी भक्त इन्हे यह चीज़े प्रदान कर इन्हे प्रसन्न करते है | आइये जाने यह पांच चीजे क्या है | बांसुरी गाय और ग्वाल मोरपंख माखन मिसरी कमल के बीजो से […]

Read more

सनातन धर्म में ग से पूजी जाने वाली मुख्य चीजे

सनातन धर्म में ग से पूजी जाने वाली

सनातन धर्म में ग शब्द से शुरू होने वाले पञ्च चीजो की पूजा होती है . यह पांच चीजे है : गंगा , गौ , गीता , गोपी (नारी ) और गायत्री | गंगा हिमालय से निकल कर संपर्क में आने वाले हर व्यक्ति को पवित्र करती है , यह कोई मामूली नंदी नहीं नहीं बल्कि पावन गंगा माँ है […]

Read more

काल भैरव

काल भैरव रूद्र शिव रूप

कौन है काल भैरव तंत्र मंत्र के महा साधको के अनुसार वेद पुराणों में जिस परम शक्तिशाली और रूद्र रूप को बताया गया है वे ‘भैरव’ के नाम जाग्रत है , जिसके ताप से  भगवान सूर्य एवं अग्नि रोशन हैं। सभी अपने अपने कार्यो में में तत्पर हैं, वे सभी इन्ही ‘भैरव’ के अनुशासन शीलता के कारणवश ।भगवान शंकर के […]

Read more

माथे पर तिलक लगाना

ललाट पर तिलक लगाना

माथे पर तिलक लगाने से होने वाले लाभ :  भारतीय सनातन धर्म में तिलक लगाना अति प्राचीन परम्परा रही है | यह हिन्दू धर्म का प्रतीक भी है और हर शुभ कार्य का आरंभिक भाग भी है | माना जाता है की तिलक जिसके किया जाता है वो अपना गौरव बढाता है | तिलक लगाना सिर्फ रूढ़ीवाद या अन्धविश्वास नहीं […]

Read more

राशि के अनुसार किस तरह का तिलक लगाये

राशि के अनुसार लगाये तिलक

राशि के अनुसार किस का तिलक लगाये हम जानते है की अलग अलग राशि के स्वामी अलग अलग होते है उनके शुभ फल के लिए अलग अलग तिलक लगाने का विधान है | अपनी राशि के अनुसार तिलक नित्य करने से 30 दिनों में ही परिणाम आने लगते है | राशि के अनुसार तिलक लगाने से आपके तारे आप पर […]

Read more

तिलक लगाते समय ध्यान रखे यह बाते

तिलक लगाते समय यह रखे ध्यान

तिलक लगाते समय ध्यान रखने योग्य बाते : मस्तक पर तिलक लगाने से दिमाग ठंडा रहता है | चन्दन का तिलक मस्तिष्क को शांत रखता है जिससे मनुष्य अपनी मानसिक उत्तेजना को नियंत्रित कर सकता है | कभी भी देवी देवताओ के ललाट पर सिंदूर नहीं लगाना चाहिए | सिंदूर गर्म का प्रतीक है | जिस व्यक्ति का तिलक किया […]

Read more
1 116 117 118 119 120 123