भगवान शनि के प्रसिद्ध और मुख्य मंदिर

भगवान शनि के प्रसिद्ध और मुख्य मंदिर

आइये जानते है भारत में स्थित भगवान शनि देव के मुख्य मंदिरों के बारे में | शनि देव मृत्यु के देवता यमराज के भाई और भगवान सूर्य के पुत्र है | इन्हे जगत का न्यायधिकारी की भूमिका प्रदान की गयी है | यह ऐसे देवता है जो मनुष्यों के कर्मो के अनुसार इसी जीवन में फल देते है | इन्होने भगवान शिव की घोर तपस्या करके नवग्रह में सबसे बड़े महिमापूर्ण ग्रह का पद प्राप्त किया | आइये जानते है भारत में स्थित भगवान शनिदेव के प्रसिद्ध और विख्यात मंदिरों के बारे में |


भारत के शनि मंदिर

पढ़े : शनि की साढ़े साती या ढैय्या सताये तो करें यह उपाय

शनि शिंगणापुर मंदिर

shani mandir shingnapur


शनि शिंगणापुर भारत का सबसे प्रसिद्ध शनि मंदिर है | इस मंदिर से जुडी कथा के अनुसार एक बार तेज वर्षा में एक काले रंग की शीला शिंगणापुर गाँव में आ जाती है | अगले ही दिन शनिदेव सपने में उस गाँव में किसी को बताते है की वे अब इस गाँव में

जूनी शनि मंदिर इंदौर

juniI temple indoreमध्यप्रदेश की सुन्दरतम नगरी इंदौर में शनिदेव का प्राचीन व चमत्कारिक मंदिर जूनी  में स्थित है। इस मंदिर के पीछे एक कथा है जिसमे पंडित गोपालदास को स्वप्न में दर्शन देकर शनि देव मंदिर बनवाने की बात कहते है | गोपालदास जी अंधे होते है पर शनि कृपा से उसी रात उन्हें उनकी आँखे मिल जाती है | बताये गये टीले को खोदने पर शनि देव की प्रतिमा मिल जाती है | तब फिर धूम धाम से मंदिर की स्थापना की गयी और आज यह देश के मुख्य शनि मंदिरों में से एक है |

शनि शनिचरा पर्वत मंदिर मुरैना

शनि पर्वत, मुरैनामध्य प्रदेश में ग्वालियर के नजदीकी एंती गांव में शनिदेव का मंदिर स्तिथ है | मंदिर का सम्बन्ध रामायण काल से बताया गया है | लंका से रावण की कैद से मुक्त करवाकर हनुमान जी ने शनि देव को इस स्थान पर प्रक्षेपित कर दिया था | यहा वो फिर शिला के रूप में प्रतिष्ठत हो गये | आज भी वो गड्ढा यहा मौजूद है जो शनि देव के गिरने से यहा बना था | शनि अमावस्या और शनि जयंती पर यहा भक्तो की अपार भीड़ रहती है | पढ़े विस्तार से : शनि शनिचरा पर्वत मंदिर मुरैना

शनि मंदिर कोकिलावन

kokilavan shani templeब्रज भूमि पर यह भगवान शनिदेव जी का एक अति प्राचीन मंदिर स्थापित है। मान्यता है की इस जगह शनि देव ने कृष्ण के लिए घोर तपस्या की थी | शनि की तपस्या से प्रसन्न होकर भगवान श्री कृष्ण ने इसी वन में कोयल के रुप में शनि महाराज को दर्शन दिया | कोकिलावन शनि मंदिर  का यह सुन्दर परिसर लगभग 20 एकड में फैला है। यह कृष्ण जन्मभूमि मथुरा से छाठ किमी की दुरी पर है |

शनि धाम दिल्ली

shani dham delhiयह मंदिर दिल्ली के महरौली में स्थित है। यहां शनि देव की सबसे बड़ी मूर्ति विद्यमान है जो अष्टधातुओं से बनी है। यह कुतुबमीनार से 9 km की दुरी पर स्थित है | श्री शनि धाम पीठेश्वर संत संत शिरोमणी श्री चरनुरागी ‘दात्ती’ मदन महाराज राजस्थानी जी ने मूर्ति का स्थिपित करने से पहले एक सौ करोड़ और बत्तीस लाख बार शनि मंत्रों का जाप किया गया था। इस कारण यह मंदिर अत्यंत पवित्र हो गया है |

Other Similar Posts

शनि दोष निवारण के उपाय और टोटके

शनिवार को क्या चीजे नही खरीदनी चाहिए

शनि जयंती पर भगवान शनिदेव की पूजा विधि

शनि की दृष्टि से भगवान शिव भी नही बच पाए थे – पौराणिक कथा

भारत में स्थित भगवान विष्णु के प्रसिद्ध मंदिर

भारत में माँ लक्ष्मी के प्रसिद्ध मंदिर

 

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.