रणथम्भौर स्थित त्रिनेत्र गणेश मंदिर

रणथम्भौर गणेश मंदिर

शिव पार्वती के पुत्र और प्रथम पूज्य श्री गणेश कलियुग के प्रसिद्ध देवताओ में से एक है . विध्न विनायक चिन्तामण गणेश भी कहलाते है जो अपने भक्तो की सभी कठिनाइयों को दूर करते है | भारत के प्रसिद्ध गणेश मंदिरों में राजस्थान के  सवाई माधौपुर जिले में स्तिथ रणथंभौर त्रिनेत्र गणेश मंदिर एक मुख्य स्थान रखता है | यह मंदिर सवाई माधौपुर से  10 किमी.की दुरी पर रणथंभौर के किले  में है | यह मंदिर 10वीं सदी में रणथंभौर के राजा हमीर ने बनवाया था.


ranthambhor ganesh temple

पढ़े : गणेश जी की मुख्य 8 कहानियाँ

सपने में दिए दर्शन :

दन्त कथा है की राजा हमीर को गणेश जी ने सपने में दर्शन दे कर विजयी होने का आशीर्वाद दिया था | उसके बाद राजा को युद्ध में सफलता भी मिली और उन्होंने गणेश जी को धन्यवाद करने के लिए इस गणेश मंदिर का निर्माण अपने किले में करवाया |

क्यों है त्रिनेत्र गणेश मंदिर :


Ranthambhore-ganesh-mandirयह गणेश मंदिर अन्य गणेश मंदिरों से अलग है क्योकि यहा गणेश जी के तीन आँखे है | साथ ही यह अपने पुरे परिवार के साथ यहा विराजमान है | गणेश जी का परिवार , इनकी दो पत्नियां रिद्धि, सिद्धि और दो पुत्र शुभ-लाभ मंदिर में विराजमान है | गणेश चतुर्थी पर यहा मेला भरता है जिसमे हजारो भक्त दूर दूर से दर्शन करने आते है |

डाक से आती है चिट्ठियां:

गणेश जी के भक्त अपने आराध्य को सबसे पहले निमंत्रण इसी मंदिर में डाक द्वारा चिट्टी भेज कर भेजते है | कार्ड में पता भगवान गणेश के नाम भेजते हैं. कार्ड पर पता लिखा जाता है- ‘श्री गणेश जी, रणथंभौर का किला, जिला- सवाई माधौपुर (राजस्थान)’ | डाकिया इस देवता के लिए आई चिट्टीयो को पूर्ण श्रद्दा से मंदिर तक पहुंचाते है |

मान्यता की चिट्टी भेजने वाले परिवार के सभी मंगल कार्यो में आने वाले विध्नो को गणेश जी दूर कर देते है |

Other Similar Posts

खजराना गणेश मंदिर इंदौर मध्य प्रदेश

गणेश जी को तुलसी क्यों नहीं चढ़ती

क्यों गणेश जी को मोदक अत्यंत प्रिय भोग लगता है

गणेश जी के वे मंत्र जो दूर करेंगे सभी विध्न और संकट

गणेश जी की पीठ के दर्शन करने से होता है अनिष्ट

संकट चतुर्थी पर गणेश जी की पूजा विधि

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.