मेहंदीपुर बालाजी से जुड़ी 10 रोचक बाते

सबसे चमत्कारी मेहंदीपुर बालाजी

भारत में लाखो हनुमान जी के मंदिर है जिनके साथ अपने अपने किस्से और चमत्कार जुड़े हुए है | हनुमान जी कलियुग में भी जीवित है और अपने भक्तो की पुकार पर उनकी सहायता जरुर करते है | कुछ हनुमान जी के मंदिरों में साक्षात् हनुमान जी का वास बताया जाता है | ऐसे मंदिर हनुमान जी के सिद्ध पीठ कहलाते है |

sabse chamtkari hanuman mandir

आज हम जिस हनुमान मंदिर की बात करने वाले है वहा भूत प्रेत , चुड़ैल , जिन जिल्लाद आदि से परेशान भक्त हनुमान जी की शरण में जाकर सही हो जाते है | यह चमत्कारी मंदिर है राजस्थान के दौसा जिले में पड़ने वाला मेहंदीपुर बालाजी मंदिर | इसे घाटे वाले बालाजी का भी मंदिर बोला जाता है | आइये जानते है इस मंदिर से जुड़ी कुछ रोचक बाते ….


देखे विडियो और हमारे चैनल को सब्सक्राइब करे
Shivji.in Sanatan

 

– इस मंदिर में हनुमान जी के साथ भैरव नाथ और प्रेतराज सरकार भी पीडितो के कष्टों का निवारण करते है |

– यह मंदिर १००० वर्ष से भी ज्यादा पुराना है |

– गोसाँई जी महाराज को एक रात्रि सपने में हनुमान जी दिखे और उन्हें एक जगह तक लेकर गये | उस स्थान पर हजारो दीपक जल रहे थे | तब तीनो देवो ने (हनुमान जी , भैरव नाथ और प्रेतराज सरकार ) ने इस जगह को अपना धाम बनाने और पूजा का भार गोसाँई जी महाराज को दिया |

– इस मंदिर में हनुमान जी की मूर्ति स्वम्भू है जो पर्वत पर अंकित हुई है |

-हनुमान जी के दिल के पास एक छिद्र से  निरंतर बहने वाला जल निकलता है जिसका पानी मूर्ति के चरणों में बने कुण्ड तक जाता है | यह पवित्र जल भक्तो में वितरित किया जाता है |

– बालाजी महाराज के चोला चढाने के बाद भी यह जल रुकता नही है |

-एक बार हनुमान जी अपना प्राचीन चोला उतार दिया था | इस चोले को गंगा में प्रवाहित करने के लिए वे इसे स्टेशन लेकर गये , जहा इसे सामान-शुल्क लेने के लिए तौलना चाहा | चोला कभी छोटा तो कभी बड़ा हो जाता | यह सभी के लिए बड़े चमत्कार की बात थी | अन्तत: रेलवे अधिकारी ने हार मान लिया और चोले को सम्मान सहित ट्रेन में जाने दिया |


– मंदिर में प्रवेश करते ही पीड़ित व्यक्ति में रमने वाली बुरी शक्तियां तड़पने लगती है |

-यदि नास्तिक भी इस मंदिर में एक बार आये तो यहा के चमत्कार देखकर आस्तिक बन  जाये |

– बालाजी मंदिर के अलावा यहा सामने ही भव्य राम दरबार मंदिर है | साथ ही पहाड़ी पर हजारो हिन्दू देवी देवताओ के मंदिर बने हुए है |

Other Similar Posts

हनुमानजी के इस मंत्र का जाप, बुरे समय को करेगा दूर

हनुमान जी के पुत्र मकरध्वज के जन्म की कथा

सुन्दरकाण्ड के नामकरण के पीछे का सच क्या है

कैसे करे हनुमान जी को प्रसन्न , जाने प्रभावी उपाय

अपवित्र होने के बाद भी ये 5 चीजें हैं पवित्र, विष्ण्रु स्मृति में बताया गया है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.