भारत में माँ लक्ष्मी के प्रसिद्ध मंदिर

हिन्दू धर्मग्रंथों और पुराणों में धन और समृद्धि की अधिष्ठात्री देवी महालक्ष्मी या लक्ष्मी को माना गया है। महालक्ष्मी की पूजा और आराधना के लिए यूं तो पूरे देश में अनेक मंदिर हैं, लेकिन ये हैं भारत के 6 विख्यात विष्णुप्रिया लक्ष्मी जी मंदिर जहां धन और समृद्धि की मन्नतें लिए पूरी दुनिया भर से श्रद्धालु आते हैं:


पढ़े : भारत के चमत्कारी और रहस्यमई मंदिर लक्ष्मी के प्रसिद्ध मंदिर

महालक्ष्मी मंदिर, कोल्हापुर

महाराष्ट के कोल्हापुर में स्थित महालक्ष्मी को भारत का सबसे प्रसिद्ध लक्ष्मी मंदिर माना जाता है। इतिहास देखे तो  इस मंदिर का निर्माण सातवीं सदी चालुक्य वंश के शासक कर्णदेव ने करवाया था। मान्यता है की यहा लक्ष्मी प्रतिमा लगभग 7,000 साल पुरानी है।

इस मंदिर की सबसे बड़ी विशेषता यह है कि यहां सूर्य भगवान अपनी किरणों से स्वयं देवी लक्ष्मी का पद-अभिषेक करते हैं। जनवरी और फरवरी के महीने में सूर्य की किरणें देवी की पैरों का वंदन करती हुई मध्य भाग से गुजरते हुए फिर देवी का मुखमंडल को रोशनी करती हैं, जो कि एक विस्मय करने वाला दृश्य प्रस्तुत करता है। इस दर्शन को देखने भारत के कोने कोने से भक्त आते है |

श्रीपुरम का स्वर्ण मंदिर


लक्ष्मी स्वर्ण मंदिर भारत के दक्षिण में तमिलनाडु के वेल्लू जिले के श्रीपुरम गांव में  नया श्री महालक्ष्मी मंदिर को ‘दक्षिण भारत का स्वर्ण मंदिर’ के रुप में जाना जाता है। 100 एकड़ में फैला मंदिर यह मंदिर पहले आम जनता के दर्शन के लिए बंद था, जो 2007 में सभी के लिए खोल दिया गया। यह भारत का सबसे बड़ा स्वर्ण मंदिर है | इसमे दर्शन करने के सख्त नियम है जिनका पालन दर्शनकर्ता को करना पड़ता है |

लक्ष्मीनारायण मंदिर, नई दिल्ली

भारत की राजधानी नई दिल्ली में स्थित लक्ष्मीनारायण मंदिर में देवी लक्ष्मी अपने स्वामी भगवान विष्णु के साथ विराजित हैं। इस मंदिर का निर्माण 1622 ईस्वी में वीरसिंह देव करवाया फिर जीर्णोधार और  पुनरुद्धार सन 1938 में उद्योगपति जी. डी. बिरला द्वारा करवाया गया | यहा प्रसिद्ध त्यौहार दीपावली पर विशेष पूजा की जाती है।

महालक्ष्मी मंदिर, मुंबई

महालक्ष्मी मंदिर मुंबई मुंबई का महालक्ष्मी मंदिर इस शहर के सर्वाधिक प्राचीन मंदिरों में से एक है। यह मंदिर अरब सागर के किनारे बी. देसाई मार्ग पर स्थित है । यहां हर दिन श्रद्धालुओं की अपार भीड़ उमड़ती है और उनकी आस्था का केंद्र है ।

महालक्ष्मी मंदिर में महालक्ष्मी के साथ देवी महा काली एवं महा सरस्वती की प्रतिमाएं एकसाथ विद्यमान हैं। यह तीनो देवी शक्तियां भक्तो के हर दुःख को दूर करने में सहायक है |

पद्मावती मंदिर, तिरुचुरा

पद्मावती लक्ष्मी जी का ही एक नाम है जिसका अर्थ है कमल से उत्पन्न होने वाली | आंध्र प्रदेश में तिरुपति के पास तिरुचुरा नामक एक गांव है। इस गांव में देवी पद्मावती का सुंदर मंदिर स्थित है। लोक मान्यता है कि तिरुपति बालाजी के मंदिर में मांगी गयी मन्नतें तभी पूरी होती है, जब श्रद्धालु वेंकेटश्वर के के साथ-साथ देवी पद्मावती का दर्शन कर लेते है

महालक्ष्मी मंदिर, इंदौर

कभी होल्कर राजाओं की राजधानी रहे मध्य प्रदेश के इंदौर में स्थित श्री महालक्ष्मी मंदिर का निर्माण सन 1832 ईस्वी में मल्हारराव होल्कर (द्वितीय) ने करवाया था। प्रतिदिन यहां हजारों की संख्या में श्रद्धालु देवी महालक्ष्मी का दर्शन करते हैं।

पंडितों के अनुसार इंदौर के मल्हारी मार्तंड मंदिर के साथ इस प्राचीन महालक्ष्मी मंदिर में सुश्रृंगारित प्रतिमा का बहुत अधिक महत्व है।

Other Similar Posts

दीपावली कैसे करे लक्ष्मी और गणेश का पूजन सही विधि से

धन और लक्ष्मी प्राप्ति के कारगर और सिद्ध मंत्र

भारत के 12 प्रसिद्ध सूर्य मंदिर कौनसे है

भैरव नाथ बाबा के 6 प्रसिद्ध मंदिर

धनतेरस पर धन प्राप्ति के उपाय और टोटके

धन प्राप्ति से जुड़े 30 गुप्त संकेत

 

One comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.