ये हैं भारत में स्थित भगवान विष्णु के प्रसिद्ध मंदिर

ये हैं भगवान विष्णु के 7 प्रसिद्ध मंदिर

भारत के त्रिदेव महाशक्तिशाली देवताओ में जगत के पालनहार विष्णु भगवान है | वैष्णव भक्त इन्हे सबसे बड़ी शक्ति मानते है | भारत में विष्णु और उनके अवतार को समर्प्रित अनेको मंदिर है | आइये जानते है आज विष्णु जी के सबसे बड़े और विख्यात मंदिरों के बारे में |


भगवान विष्णु के प्रसिद्ध मंदिर

1. बद्रीनाथ – यह भगवान विष्णु का सबसे बड़ा प्रसिद्ध मंदिर है जिसे भारत के चार धाम और उत्तराखण्ड के चार धामों में स्थान प्राप्त है | badrinathयह मंदिर उत्तराखंड के चमोली जिले में अलकनंदा नदी के किनारे विराजमान है | बद्रीनाथ धाम की कथा में बताया गया है यहा विष्णु लक्ष्मी जी के साथ मिलकर शिवजी की तपस्या की थी |


2. जगन्नाथ- यह मंदिर भी वैष्णवो के ‘चार धाम’ में शामिल है | जगन्नाथ पुरी मंदिर से जुड़े कई चमत्कार और अद्भुत कथाएं हैं जो आज भी देखने को मिलती हैं |  विशेष रूप से हर साल जगन्नाथ पुरी रथ यात्रा में लाखों श्रद्धालु शामिल होते हैं|

3. पद्मनाभस्वामी मंदिर – भारत के केरल राज्य के तिरुअनन्तपुरम में स्थित भगवान विष्णु का प्रसिद्ध हिन्दू मंदिर है। मंदिर के गर्भगृह में भगवान विष्णु की विशाल मूर्ति शेषनाग पर शयन मुद्रा में विराजमान है | padmanabhaswamy mandir

यहाँ पर भगवान विष्णु की विश्राम अवस्था को ही ‘पद्मनाभ’ कहा जाता है | यह भारत का सबसे धनी मंदिर है | यहा के तहखानों में रखी करीब दो लाख करोड़ की संपत्ति का पता चला है।

4. रंगानाथ स्वामी- यह दक्षिण भारत के तिरुचिरापल्ली शहर के श्रीरंगम में स्थित है | यहा विष्णु जी के पवित्र दिवस एकादशी पर धूम धाम से पूजा अर्चना की जाती है |  रंगनाथ स्वामी श्री हरि के विशेष मंदिरों में से एक है | कहा जाता है भगवान विष्णु के अवतार श्री राम ने लंका से लौटने के बाद यहां पूजा की थी | माना जाता है की गौतम ऋषि के कहने पर स्वयं ब्रह्मा जी ने इस मंदिर का निर्माण किया था।

5. तिरुपति वेन्कटेशवर मन्दिर- यह भगवान विष्णु के सबसे पुराने और प्रसिद्ध मंदिरों में से एक है. वेंकटेश्वर मंदिर तिरुपति के पास तिरूमाला पहाड़ी पर है|  प्रभु वेंकटेश्वर या बालाजी को भगवान विष्णु का अवतार माना जाता है | हर साल लाखो  भक्त  आकर भगवान वेंकटेश का आशीर्वाद और दर्शन पाते हैं | तिरुपति में सबसे ज्यादा चढ़ावा और दान आता है | यहा केश दान करने की भी प्रथा है | यहा कई सदियों पहले बना है जो दक्षिण भारतीय वास्तुकला और शिल्प कला का अदभूत नमूना है |

6. विट्ठल रुकमिणी-यह विष्णु और लक्ष्मी का मंदिर महाराष्ट्र के पंढरपुर में है | विष्णु के एक रूप विट्ठल रुकमिणी लक्ष्मी रूप के संग विराजित है | यहा स्थित विट्टल प्रतिमा श्याम रंग की है जिनके दोनों हाथ कमर पर लगे हुए है |  यहा पांच दैनिक संस्कार में प्रभु को उठाना , श्रंगार , भोग आरती और शयन शामिल है |

7. सिंहाचलम मंदिर- यह नरसिंह देवता का मंदिर विशाखापट्टनम के पास है | अक्षय तृतीया के दिन यहा भक्तो का मेला भरता है |सिंहाचलम मंदिर मान्यता है की विष्णु अवतार  भगवान नरसिंह इसी जगह अपने भक्त की रक्षा के लिए अवतरित हुए थे | शनिवार और रविवार के दिन इस मंदिर में हजारों की संख्या में श्रद्धालु दर्शन करने दूर दूर से आते है |

Other Similar Posts

सुदर्शन चक्र की कथा – किसने दिया यह चक्र विष्णु को

कलियुग में होगा विष्णु के कल्कि अवतार का जन्म 

भगवान विष्णु के मंत्र जाप से दूर होंगे सभी कष्ट

भारत में माँ लक्ष्मी के प्रसिद्ध और सबसे बड़े मंदिर

यह है भारत में भैरव जी के प्रसिद्ध मंदिर

एकादशी पर चावल क्यों नही खाने चाहिए

One comment

  • One of the most prominent mandir of Lord Vishnu is in Gaya, Bihar – the famous Vishnupad Mandir. While all the above-mentioned mandirs are visited for materialistic gains, Vishnupad provides eternal salvation or moksha

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.