चौंसठ योगिनी माता तांत्रिक मंदिर उज्जैन

चौंसठ योगिनी माता मंदिर

भारत के धार्मिक और पौराणिक शहरों में उज्जैन (अवंतिका) नगरी को भी प्रमुख स्थान दिया गया है |


यहा शिव के 12 ज्योतिर्लिंग में से एक केंद्र रूप में महाकाल ज्योतिर्लिंग विद्यमान है | यहा एक शक्तिपीठ के रूप में महाकाल मंदिर के पास ही हरसिद्धि देवी का प्रसिद्ध मंदिर है | पर हम आज जिस मंदिर की बात करने वाले है वो है चौंसठ योगिनी माता का मंदिर | यह उज्जैन के पुराने शहर के नयापुरा क्षेत्र में स्तिथ है |

chousat yogini temple ujjain


पढ़े : उज्जैन में भूखी माता का बहुत प्रसिद्ध मंदिर और जुड़ी कथा

तंत्र साधना का सिद्ध स्थान

योगिनियो और भैरव को तंत्र शास्त्र में मुख्य स्थान दिया गया है | किसी भी सिद्धि के लिए इनकी कृपा प्राप्त करना जरुरी होता है | यह मंदिर प्राचीनकाल से विक्रमादित्य के समय का है और तांत्रिको में प्रसिद्ध है | इसे एक समय में तांत्रिक विश्वविद्यालय भी कहा जाता था जहा कई तांत्रिक अनुष्ठान करके तांत्रिक सिद्धियां प्राप्त की जाती थी |

पढ़े : भारत के मुख्य तांत्रिक पीठ स्थान जहा तंत्र मंत्र से मिलती है सिद्धियाँ

चौंसठ प्रतिमाये नही

मंदिर के नाम के आधार पर भक्तो तो यह लगता है की इस मंदिर में देवी के सहभागी योगिनियो की 64 चौंसठ मूर्तियाँ  विधमान होगी , पर ऐसा नही है | यहा योगिनियो की प्रतिमाये तो बहुत है पर वो  संख्या में चौंसठ नही है |

नवरात्रि पर उमड़ता है जन सैलाब

वैसे तो वर्ष भर ही माँ के भक्तो के लिए यह मंदिर खुला रहता है पर माँ दुर्गा के महोत्सव नवरात्रि पर काफी मात्रा में भक्त दर्शन करने उज्जैन के इस मंदिर में आते है | सैकड़ों श्रद्धालु माँ को प्रसाद चढ़ाकर शुभता की कामना करते है |

॥ जय माँ चौंसठ योगिनी ॥

Other Similar Posts

उज्जैन के खेडापति हनुमान के चमत्कारी कुण्ड में स्नान से दूर होते असाध्य रोग

उज्जैन में मंगलनाथ मंदिर में होती है मंगल दोष दूर करने की पूजा

भूखी माता का बहुत प्रसिद्ध मंदिर और कथा

एकादशी का महत्व हिन्दू धर्म में

काल भैरव मंदिर उज्जैन की महिमा और भैरव का मदिरापान

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.