भारत के इन मंदिरों में होती है रावण की पूजा

भारत में इन जगहों पर होती है रावण की पूजा

8 Strange & Weird Temples of Ravana In India  भगवान शिव के परम भक्त और महान ज्ञानी लंकापति रावण को कौन नही जानता | वे वेदों के ज्ञाता और बहुत बड़े पंडित थे | उनके पिता ऋषि विश्रवा थे तो, उनकी माँ राक्षस कुल की थी , अपनी माँ के कारण  उनमे राक्षसी अवगुण भी विद्यमान थे |


सीता का हरण करके उन्होंने अपने संहार को न्यौता दिया था पर प्रभु श्री राम के हाथो मारे जाने पर उनका उद्धार हुआ  | विजयदशमी पर उन्हें बुराई और असत्य का प्रतीक मानकर जगह जगह उनके पुतले जलाये जाते है पर भारत में कई जगह ऐसी भी  है जहा रावण के मंदिर है और इनकी पूजा की जाती है  | आइये जानते है इन अनोखे मंदिरों के बारे में |

bharat me ravan ki puja

कर्नाटक
कर्नाटक के कोलार जिले में स्थानीय लोग  फसल महोत्सव  के समय लंकेश्वर महोत्सव मनाते है जिसमे शिव और उनके परम भक्त रावण की पूजा की जाती है | पूजा के पीछे उनका मानना है कि रावण कितना भी बुरा क्यों ना हो पर वो शिव के परम भक्तो में एक था |

राजस्थान

Mandodari Ravana wedding rajasthan
जोधपुर जिले के मन्दोदरी नाम के स्थान को रावण और मन्दोदरी का विवाह स्थल माना जाता है।  यहा विवाह स्थल पर  रावण की चवरी नामक एक छतरी आज भी मौजूद है। इसी स्थान पर  चांदपोल क्षेत्र में रावण का मंदिर बनाया गया है।


नोयडा
उत्तरप्रदेश के ग्रेटर नोयडा जिले के बिसरख गांव को रावण का ननिहाल बताया जाता है | पहले इस गाँव का नाम रावण के पिता के नाम पर  विश्वेशरा था जो अब बिसरख के नाम से जाना जाता है।
कानपुर
kanpur ravan templeउत्तरप्रदेश के कानपुर के शिवाला में रावण का एक अति प्राचीन मंदिर है हो साल में सिर्फ एक बार दशहरे के दिन खुलता है | दशहरे के दिन रावण की विधि विधान से पूजा की जाती है |
आंध्र प्रदेश
आंध्र प्रदेश के काकिनाड में  रावण ने एक शिवलिंग की स्थापना की थी। इसी शिवलिंग के पास फिर रावण की मूर्ति स्थापित कर दी गयी है | यहा शिव के साथ रावण की भी पूजा की जाती है |

हिमाचल प्रदेश
vaidhnath temple हिमाचल प्रदेश के कांगड़ा जिले में बैजनाथ कस्बा में बिनवा पुल पर रावण का मंदिर बना हुआ है | मान्यता है की इस स्थान पर रावण ने एक पैर पर खड़े होकर तपस्या की थी | यहा एक हवन कुण्ड भी जिसमे रावण ने नौ बार अपने शीश की आहुति दी थी | लोग यहा  पर रावण की पूरी श्रद्धा के साथ पूजा-अर्चना करते है ।

मध्‍यप्रदेश
मध्‍यप्रदेश के विदिशा शहर में रावणग्राम जगह  राक्षसराज दशानन की पूजा के लिए प्रसिद्ध है | यहा गाँव वाले रावण का पुतला नही फूकते बल्कि पूजा करते है | यहा रावण की 10 feet लम्बी प्रतिमा है |

मध्यप्रदेश के ही मंदसौर के पास खानपुरा क्षेत्र में रावण रूण्डी नाम के स्थान पर रावण की विशाल मूर्ति है | कथाओ के अनुसार रावण की पत्नी मंदोदरी मंदसौर की निवासी थीं | अत: रावण इस क्षेत्र का दामाद था | यही कारण है की यहा रावण का मंदिर है और पूजा की जाती है |

Other Similar Posts

क्यों शूर्पणखा चाहती थी रावण का वध हो

राम से पहले रावण को इन वीरो ने किया था परास्त

कमलनाथ महादेव मंदिर , झाडौल -शिव से पहले होती है रावण की पूजा

क्यों हनुमान ने नही मारा रावण को

दशहरे पर दुर्भाग्य पर विजय पाने के विशेष उपाय

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.