चंद्रकेश्वर मंदिर- एक अनूठा मंदिर जहां पानी में समाएं हैं भगवान शिव, च्यवन ऋषि ने की थी स्थापना

चंद्रकेश्वर मंदिर मध्य प्रदेश  जहा है जलमग्न शिवलिंग

Chandrakeshwar Temple Near Indore Mp | हमने भगवान शिव के कई प्रसिद्ध शिव मंदिरों के बारे में अपने ब्लॉग में बताया है | आज हम जिस शिव मंदिर की बात करने वाले है और शायद संसार में एकमात्र और अनोखा है | यहा स्तिथ शिवलिंग हमेशा जलमग्न रहता है | इसके पीछे एक ऋषि और माँ नर्मदा का प्रसंग है |
chandreshwar temple mp


ऐसे अनोखे शिवलिंग वाला यह चंद्रकेश्वर मंदिर इंदौर से 65 किमी की दुरी पर इंदौर-बैतूल राष्ट्रीय राजमार्ग के करीब है |  यह मंदिर सतपुड़ा की पहाड़ियां  से घिरा हुआ और  सुन्दरतम प्राकृतिक वातावरण को पेश करता है | ऐसी मान्यता है की मंदिर में स्थापिंत शिवलिंग तीन हजार साल पुराना है।

किसने की मंदिर की स्थापना :

मान्यता है की च्यवनप्राश  के जनक  च्यवन ऋषि ने चंद्रकेश्वर मंदिर की स्थापना कई हजारो साल पहले की थी | इस स्थान पर उन्होंने कई साल घोर तपस्या की थी | वे रोज स्नान करने के लिए  60 किमी की यात्रा करते थे | तब एक दिन माँ नर्मदा  ने प्रसन्न होकर उन्हें उनकी तपस्या स्थली पर ही दर्शन दिए | वे जिस शिवलिंग की पूजा करते थे उसे भी माँ नर्मदा की धार ने जल मग्न कर दिया |
चंद्रेश्वर शिव मंदिर

सप्त ऋषि कुण्ड

च्यवन ऋषि  के बाद  इसी स्थान पर सप्त ऋषियों ने घोर तपस्या की थी | उन्ही को समर्प्रित यहा एक सप्त ऋषि कुण्ड है जिसमे स्नान करने से पापो से मुक्ति मिलती है |

सावन मास में आती है अपार भीड़

भगवान शिव की भक्ति का महिना सावन पर यहा हजारो की संख्या में श्रद्धालुओं का जमावड़ा शिवलिंग के दर्शन करने के लिए आता है | वे सबसे पहले नर्मदा कुण्ड में स्नान कर रुद्राभिषेक करते है |
Other Similar Posts

जानें क्‍यों दुनिया के इस सबसे ऊंचे शिवलिंग पर विराजमान हैं करोड़ो शिवलिंग

हिन्दू ही नहीं मुस्लिम भी करते है इस अद्भुत शिवलिंग की पूजा

ऐसे 4 शिवलिंग जिनका बढ़ रही है हर साल लम्बाई

काठगढ़ महादेव मंदिर – शिव पार्वती के रूप का शिवलिंग

शिवलिंग पर किस चीज के अभिषेक से क्या फल प्राप्त होता है

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.