कुम्भ के अनोखे 8 बाबा , कोई वजन बराबर रुद्राक्ष पहने हुए तो कोई मांग रहा है पेट्रोल

प्रयागराज कुम्भ में आस्था का जन सैलाब उमड़ रहा है और साथ ही देश विदेश के चमत्कारी साधू संत भी अपने दर्शन देने आये हुए है | कुम्भ संतो का मेला है जहा भक्त गंगा स्नान कर संतो के आशीर्वाद प्राप्त करते है | कुम्भ मेले में बाबाओ के ऐसे ऐसे रूप दिखाई दे रहे है जो देखने वालो को आश्चर्यचकित कर देंगे | यह अनोखे बाबा का मेला है कुम्भ नगरी प्रयाग |

कुम्भ 2019 के अनोखे बाबा

पढ़े : कुम्भ प्रयागराज 2019 में बन रहे है नए रिकॉर्ड

पढ़े : प्रयागराज कुम्भ 2019 की सबसे सुन्दर 10 तस्वीरे

हाईटेक बाबा

इन्टरनेट की दुनिया में स्वयं को बिजी रखने वाले श्री मीताबाबा उदासीन आश्रम के पीठाधीश्वर बजरंगमुनि उदासीन ब्लूटूथ से बात करते हैं। इसके अलावा वे पेमेंट भी कैशलेस ऑनलाइन कर रहे है । टैबलेट से सोशल मीडिया पर सक्रिय रहते हैं। इनका शिविर सेक्टर 6 में है।

मचान वाले बाबा
इनका असली नाम श्री महंत राम कृष्णदास त्यागी जी महाराज है. लेकिन ये बाबा अपने असली नाम के बजाए कुंभ में ‘मचान वाले बाबा’ के नाम से मशहूर हैं . वे साल 1975 से मचान पर है और बहुत ही कम कदम जमीन पर रखते है | लोग इस मचान पर चढ़कर ही उनका आशीर्वाद लेते है .

9 साल से एक हाथ किये हुए हुए है ऊपर



जुना अखाड़े से जुड़े हुए राधे बाबा है जिन्होंने 9 सालो से अपना एक हाथ ऊपर कर रखा है | उन्होंने  संकल्प लिया है कि जब तक राम मंदिर का अयोध्या में निर्माण नही हो जाता वो अपना हाथ निचे नही करेंगे ।

रुद्राक्ष वाले बाबा 

मौनी महाराज रुद्राक्ष वाले

शिव योगी मौनी महाराज 11 हजार रुद्राक्षों की माला पहनकर जब मेले में निकलते हैं, तो उन्हें देखने वालों की भीड़ लग जाती है। वे अमेठी के परमहंस आश्रम के महंत हैं। सिर से कमर तक रुद्राक्ष की करीब 500 मालाएं पहनते हैं। सबसे बड़ी बात यह है कि सभी रुद्राक्ष उन्हें भेंट में मिले है | हाल ही में नेपाल नरेश ने उन्हें 16 मुखी रुद्राक्ष दिया है | बाबा का 11 हजार रुद्राक्ष का संकल्प करीब सालभर पहले पूरा हो चुका है। वे अब 51 हजार रुद्राक्ष धारण करने का लक्ष्य लेकर चल रहे हैं।

गोल्डन बाबा

सोने से लदे ये हैं ‘गोल्डन बाबा’। बाबा जूना अखाड़े से जुड़े हुए हैं और हमेशा 20 किलो सोने की बनी ज्वैलरी पहने रहते हैं। इनके हाथ में 27 लाख की डायमंड घड़ी भी है | हर साल कांवड़ यात्रा में बाबा चर्चा में रहते हैं। दरअसल, हर सावन महीने में इनके गहनों का वजन बढ़ता जाता है।

टोपी वाले बाबा

आपको एक बाबा ऐसे मिलेंगे जिन्होंने विदेशी कैप धारण की हुई है जिसपर एक चंद्रमा की आकृति लगी हुई है | साथ ही काले कलर का फैंसी चश्मा भी बहुत जच रहा है | इनके पास से गुजरने वाले भक्त इनके साथ सेल्फी लेना नही भूलते |

खड़ेश्वरी बाबा

खड़ेश्वरी बाबा की ख़ास बात यह है कि ये पिछले 4 सालों से एक पैर पर ही खड़े है . ना ही वे बैठे ना ही लेटे | यह संकल्प उन्होंने अयोध्या में राम मंदिर निर्माण तक ले रखा है .

पेट्रोल वाले बाबा

कुम्भ नगरी में एक ऐसे बाबा भी चर्चा का विषय है जिन्हें दान में पैट्रोल चाहिए . यह गुजरात से आये है और अपनी एसयूवी कार के ऊपर बैठकर भक्तो से दक्षिणा में पेट्रोल मांगते है . वैसे इनका नाम सावन गिरी है .  

पेट्रोल बाबा

Other Similar Posts

कुम्भ कल्पवास का महत्व और मिलने वाले पूण्य

कुम्भ मेला प्रयागराज 2019 – जानिए स्नान की पवित्र तिथियाँ

रात को सोते समय भूलकर भी न रखें ये 7 चीजें, छिन जाएगा सुख, नहीं मिलेगा चैन

मलमास में क्यों नही होते मांगलिक कार्य

इस तरह की 9 गलतियां करने वाले लोग रहते हैं जीवन भर कंगाल

One comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.