2019 कुंभ में बनने जा रहे हैं ये 8 नए रेकॉर्डस

2019 के कुंभ मेले में बनेंगे नए रिकॉर्ड

साल 2019 में 14/15 जनवरी से 4 मार्च तक प्रयाग मे अर्धकुंभ लग रहा है। जिसे उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री पहले अर्धकुंभ नहीं कुंभ नाम दे चुके हैं। इसकी वजह यह है कि सरकार इस अर्धकुंभ को बडे़ पैमाने पर आयोजित करने की तैयारी में जुटी है।

yogi adityanath kumbh mela
सरकार का प्रयास है कि इस बार का कुंभ अबतक हुए सभी आयोजनों से भव्य और विशाल हो। इसके लिए कई नई व्यवस्थाओं और विषयों का ध्यान रखा जा रहा है। आइए देखें 2019 कुंभ में क्या कुछ नया और खास होने जा रहा है।

 

 

पढ़े : कुम्भ मेला प्रयागराज 2019 – शाही स्नान की पवित्र तिथियाँ

यूनेस्को ने किया विश्व धरोहरों में  शामिल :

हाल ही में यूनेस्को ने कुंभ मेले  को विश्व की सांस्कृतिक धरोहरों में शामिल किया गया है। इसके बाद पुरे विश्व की इस पर नजर रहने वाली है | अत:  केंद्र और राज्य सरकार  इसके भव्यता के लिए कोई कमी नही छोड़ना चाहती है | बहुत समय से इस मेले को भराने की पुरजोर तैयारी चल रही है |

संत करेंगे देहदान

इलाहाबाद में कुम्भ के दौरान अखाड़ों से जुड़े कई साधु-संत चिकित्सा विज्ञान की उन्नति के लिए अपना  देहदान की घोषणा कर एक नयी परंपरा शुरू करने वाले है । इससे मेडिकल की पढ़ाई करने वाले विद्यार्थी शरीर क्रिया विज्ञान का अध्ययन अच्छे से कर पाएंगे और भविष्य में लोगो के स्वास्थ्य में सुधार  कर पाएंगे |

देश के सभी गांव को मिलेगा न्योता

kumbh inviationकुंभ में आइये और सर्वसिद्धि प्राप्त करे | इस तर्ज पर महा मेला आयोजित किया जा रहा है जिसमे भारत के हर गाँव को इसमे शामिल होने का न्योता योगी सरकार भेज रही है | योगी जी देश के सभी राज्यों को भी इस धार्मिक मेले में आने का न्योता देगी |

बनेगा सबसे बड़ा पार्किग स्थल

साल 2019 के कुंभ के लिए अबतक का सबसे बड़ा पार्किंग स्थल बनाया जा रहा है। कुंभ में करीब 6 लाख वाहनों के लिए 1193 हेक्टेयर जमीन पर 120 पार्किंग स्थल बनाए जाएंगे। 2013 के कुंभ मेले में 478 हेक्टेयर जमीन पर 99 पार्किंग स्थल बनाए गए थे।

हवाई मार्ग से जुड़ेगा प्रयागराज

कुंभ में भक्तो को सुविधा देने के लिए  इसे भारत के 14 शहरों से हवाई मार्ग से जोड़ा जायेगा |   भारत के पहले इलाहाबाद को देश के 14 शहरों से हवाई मार्ग से जोड़ दिया जाएगा।

कुंभ गान किया जाएगा तैयार

kumbh-mela 2019कुंभ क्यों भरता है , इसकी धार्मिक महत्व  क्या है | इसके लिए एक मधुर गान तैयार किया जा रहा है जिससे बाद में इसे अन्य भाषाओं  में भी रूपांतरित किया जायेगा |

अत्याधुनिक कुंभ संग्रहालय बनेगा

यूपी सरकार ने प्रयाग संगम नगरी में अत्याधुनिक कुंभ संग्रहालय बनाने का कार्य शुरू कर दिया है । इसमे कुल 300 करोड़ रुपये लगेंगे । इस  संग्रहालय में प्रयाग के धार्मिक, ऐतिहासिक और पौराणिक ज्ञान का महत्व बताया जायेगा |

Other Similar Posts

तीर्थराज प्रयाग की महिमा और दर्शनीय स्थल

आने वाले अगले कुम्भ के मेले कब कब है

कैसे और क्यों लुप्त हुई पवित्र सरस्वती नदी

काशी काल भैरव मंदिर का चमत्कार

सावन मास 2018 – जाने कब से शुरू और कब खत्म होगा यह शिव भक्ति का महिना

 

One comment

  • शिवेश मिश्रा

    प्रणाम।मेरा नाम शिवेश मिश्रा है।मैं यहां दी गयी जानकारियों से बहुत प्रभावित हूँ।मैं बहुत संघर्ष कर रहा हूँ।हर व्यक्ति संघर्षरत है लेकिन मेरी समस्याएं बहुत अलग हैं।कृपया मार्गदर्शन करें।अत्यंत कृपा होगी।मैं बहुत निराश हो चुका हूँ।कुछ सूझ नहीं रहा।हनुमानजी मेरे आराध्य हैं, वो भी मुझे रास्ता नहीं दिखा रहे।सम्भव हो तो मेरे इस नम्बर 08574630092 पर अवश्य कॉल करें।बहुत कृपा होगी।मुझे आप लोगों की तरफ से कॉल की प्रतिक्षा रहेगी।बहुत उम्मीद से लिख रहा हूँ।कृपया सम्पर्क अवश्य करें।
    धन्यवाद।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.