क्या होता है पंचक ? इसमे क्या करे और क्या नही करे

पंचक से जुड़ी मुख्य बाते

Hindu Dharm Me Panchak Kya Hota hai : हिंदू धर्म में अच्छे मुहूर्त का महत्व अत्यंत है | शुभ कार्य करना हो तो मुहूर्त जरुर देखा जाता है | इसके विपरीत एक पंचक होता है जिसमे शुभ कार्य करना मना है | ऐसा इसलिए होता है की पंचक में कुछ ऐसे नक्षत्र होते हैं जिन्हें बेहद अशुभ माना जाता है और जो कार्य में बाधा डालते है | जैसा की नाम से पता चल रहा है की यह खेल पांच नक्षत्रो का है जो है धनिष्ठा, शतभिषा, पूर्वा भाद्रपद, उत्तर भाद्रपद एवं रेवती |


यह साल में कई बार पंचक आते है अत: ज्योतिषी से सलाह लेकर ही इस समय अवधि में शुभ कार्य करने से बचे |

पंचक क्या है

पंचक में न करें ये 5 काम

1. पंचक में चारपाई या बेड  बनवाना अच्छा नहीं माना जाता।

2. पंचक समय अवधि में दक्षिण दिशा में यात्रा करना भी शुभ नही रहता है |  यम की यह दिशा दुर्घटना करवा सकती है |

3. यदि धनिष्ठा नक्षत्र का समय चल रहा है तो आग का विशेष ध्यान रखे |  ईधन का सामान नही खरीदे अन्यथा आग लगने की संभावना हो जाती है |



4. पंचक काल में यदि रेवती नक्षत्र  हो तो घर की छत नही बनवानी चाहिए |

5. पंचक में शव का अंतिम संस्कार करने के अपने नियम है जो आपको योग्य पंडित बता सकते है |

किस नक्षत्र से क्या नुकसान हो सकता है

1. धनिष्ठा नक्षत्र में आग लगने का भय रहता है।

2. शतभिषा नक्षत्र में लड़ाई , मनमुटाव के योग बनते हैं।

3. पूर्वाभाद्रपद नक्षत्र बीमारियों को लाने वाला माना गया है |

4. उत्तरा भाद्रपद में आर्थिक संकट के योग बनते हैं।

5. रेवती नक्षत्र में नुकसान व मानसिक तनाव होने की संभावना होती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *