ग्रहों के अशुभ प्रभाव और बचने के उपाय

किस ग्रह का क्या अशुभ प्रभाव है और उसका उपाय

ज्योतिष शास्त्र में नवग्रह बताये गये है जो कुंडली में जातक के प्रभाव डालते है | कुछ ग्रह शुभ फल देंगे वाले होते है तो कुछ अशुभ फल | जो ग्रह अशुभ कारक देते है उनका निदान करना जरुरी होता है | आप अपनी राशि अनुसार ग्रह स्वामी को जाने और अपनी राशि से जुड़े मंत्र का जप करके दुष्प्रभावो से बच सकते है |


१ सूर्य ग्रह : इस ग्रह के दोष से पेट, आँख, हृदय का रोग हो सकता है | यह सरकारी और मानहानि हानि देने वाला करक है |

बचने का उपाय : रोज भगवान सूर्य को जल से अर्ध्य दे ताम्बे के लौटे से |  सूर्य मन्त्र का जप करे |

२ चन्द्र : चन्द्र मन को नियंत्रित करता है | यदि किसी को चन्द्र दोष है तो उसका मन अशांत रहता है | किसी कार्य में रूचि नही रहती | आलस्य छाया रहता है |

उपाय : चन्द्र दोष से बचने के लिए सोमवार को शिव पूजा करे | शिव मंत्र जैसे ॐ नमः शिवाय और महामृत्युञ्जय मंत्र का जप करे | सोमवार को सफेद चीजो जैसे दूध दही चावल आदि का दान करे | ॐ सोम सोमाय नमः का 108 बार असली रुद्राक्ष की माला से जप करे |

३ मंगल : जिसे मंगल दोष होता है उसे गुस्सा अधिक आना , चिढचिड़ापन स्वभाव हो जाता है | मंगल रक्त सम्बन्धी बीमारी , उच्च रक्तचाप देने वाला है |

निदान का उपाय : लाल रंग की माला से ॐ अं अंगारकाय नमः का सही विधि से मंत्र जप करे | हनुमान जी के मंत्र और हनुमान चालिसा का पाठ भी शुभ माना जाता है |


४ बुध : इसके दोष से वाक् क्षमता , स्मरण शक्ति कमजोर हो जाती है | जीवन में विश्वासघात होता है |

उपाय : ॐ बुं बुद्धाय नमः मंत्र जप करे | भगवान गणेश की स्तुति करे और बुधवार को गणेश को प्रसन्न करने के उपाय काम में ले | गौ माँ को सुबह हरी घास खिलाये |

५ गुरु ग्रह : गुरु दोष से पीड़ित होने पर अपकीर्ति फैलती है | घर में तनाव और अशांति का माहौल हो जाता है | सिर के बाल कम होने लगते है |

उपाय : अपने सिर पर केसर का तिलक लगाये | हल्दी की गाँठ जेब में रखे | केले , पीली दाल , पीले वस्त्रो का गुरूवार को दान करे | गुरु बृहस्पति के मंत्र का जाप करे | 

६ शुक्र ग्रह : इसके प्रभाव से अंगूठे पर चोट लग सकती है | यह मन को मौज मस्ती में लगाता है | स्वप्न दोष और शारीरिक शक्ति का नुकसान करता है |

उपाय : शुक्र देव के मन्त्र का जप करे | माँ लक्ष्मी की पूजा अर्चना करे | उन्हें कमल के पुष्प अर्पित करे | गरीब बच्चो को खाना खिलाये |

७ शनि ग्रह दोष : इस ग्रह के कारण काम बहुत ही धीरे धीरे होते है | घर और वाहन क्षतिग्रस्त हो सकता है | अकस्मात दुर्घटना हो सकती है |

उपाय : काले घोड़े की नाल शनिवार को धारण करे | हनुमान और शनि भगवान की पूजा करे | रामचरितमानस की चौपाई पढ़े | लोहे , सरसों के तेल , काले वस्त्र और उड़द की दाल का दान करे |

८ राहु: यह शत्रु बढ़ाने वाला है | अचानक दुर्घटना कराने वाला ग्रह है | यह दिमाग के संतुलन को बिगाड़ देता है |

उपाय : ॐ रं राहवे नमः मंत्र का जप करे | बहते पाने में दूध और कोयले को बहाए | हनुमान जी के 12 नाम पढ़े और सुन्दरकाण्ड का पाठ करे |

९ केतु : यह चर्म रोग, मानसिक तनाव, वाणी में कठोरता लाने वाला कारक है | यह शत्रुता बढ़ाने वाला ग्रह दोष है |

उपाय : काले तिल  का दान करे | हनुमान जी को चोला चढ़ाये | दोष में कमी लाने के लिए पञ्चमुखी हनुमान मंत्र का नित्य जप करे |

इसके अलावा कुछ ऐसे मंत्र निचे दिए जा रहे है जिनके जाप से भी आप ग्रहों के दोष को कम कर सकते है |

एक शक्तिशाली मंत्र से दूर करे नवग्रह दोष को

नवग्रह बीज मंत्र – हर ग्रह का अलग मंत्र और जाप विधि

Other Similar Posts

नवग्रह की आरती 

सम्पूर्ण नवग्रह यन्त्र पूजा विधि और स्थापना

नवग्रहों की शांति के लिए नौ पेड़ो की आराधना

 

 

 

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.