गंगोत्री धाम में दर्शनीय मंदिर स्थल

गंगोत्री तीर्थ धाम

गंगोत्री धाम : वह जगह जहा से माँ गंगा का उद्गम शुरू होता है | यह उत्तराखंड राज्य के उत्तर-काशी में स्थित है |

अद्भुत सौंदर्य प्राकृतिक सुन्दरता का नजारा नयनो में जयजयकार करवाता है | गंगा गौमुख रूपी एक गुफा से ग्लेशियर से निकलती है | इस जगह तो इसे भागीरथी ही कहा जाता है | यहां से निकलकर गंगा जब अलंकनंदा से मिलती है, तो वह गंगा कहलाती है

पौराणिक मान्यताओं में गंगा के स्वर्ग से पृथ्वी पर उतरने का उल्लेख है।

गंगोत्री मंदिर –  गंगोत्री में गंगाजी का भव्य और आस्था से परिपूर्ण  मंदिर इस जगह का मुख्य केद्र  है।  इस मंदिर का निर्माण अमरसिंह थापा ने 19वी सदी में करवाया |  मंदिर में एक शीला है जिसके बारे में कहा जाता है की भागीरथ ने इसी जगह पर बैठकर गंगा के धरती पर अवतरण के लिए  तप किया था |  मंदिर में गंगा और शंकराचार्य की मूर्तियां है।


अन्य दर्शनीय स्थल – गंगोत्री में एक जल में डूबी शिवलिंग रुप में एक शिला है। जिसके पीछे मान्यता है कि यहां भगवान शिव ने स्वर्ग से उतरी गंगा को अपनी जटा में स्थान दिया था।

नन्दनवन तपोवन : यह गंगोत्री से 6 किमी की दुरी पर प्राकृतिक सौंदर्य से भरपूर जगह है | पर्वतारोहण के लिए यह जगह उपयुक्त है | यही से 19 किमी की दुरी पर गोमुख जैसी गुफा से गंगा निकलती है |

गौरीकुण्ड और देवघाट भी यहां के प्रमुख दर्शनीय स्थानों में एक है।

मुख्य उत्सव :

गंगोत्री में मुख्य उत्सव माँ गंगा का प्रकट होने वाला दिन है जो ज्येष्ठ माह की दशमी को आता है | इसी दिन भागीरथ के कारण माँ गंगा का धरती पर अवतरण हुआ था | साथ ही जिस दिन गंगोत्री के कपाट खुलते है उस दिन भी बड़ी धूम धाम से उत्सव मनाया जाता है | यह दिन अप्रैल  या मई के महीने में होता है | अक्षय तृतीया के दिन यहा यात्रा शुरू होती है | वही कपाट बंद नवम्बर के आस पास बंद होते है | यही क्रम यमुनोत्री , बद्रीनाथ और केदारनाथ के लिए है |

कैसे पहुंचे गंगोत्री :

गंगोत्री जाने के लिए आपको नजदीकी शहरो में जाना पड़ेगा जो अच्छे से वायुमार्ग , रेलमार्ग और सड़कमार्ग से जुड़े हुए है | इनमे नजदीकी शहर देहरादून , हरिद्वार और , ऋषिकेश है | उत्तर के चारो धामो के लिए बस की व्यवस्था भी इन शहरो से है |

गंगोत्री की मुख्य शहरो से दुरी

हरिद्वार से गंगोत्री की दूरी 200 किमी, ऋषिकेश से 177 किमी तथा देहरादून से 212 किमी है। उत्‍तरकाशी से गंगोत्री की दूरी 100 किमी से कुछ ज्‍यादा है |

यह भी जरुर पढ़े …..

कौन कौन से ऋषिकेश में देखने लायक दर्शनीय स्थल है पढ़े

उत्तराखण्ड के चार धामों के बारे में पढ़े

धार्मिक शहर हरिद्वार जहा होती है महा गंगा आरती

यमुनोत्री में दर्शनीय स्थल

भगवान विष्णु का धाम – बद्रीनाथ

रोमांचित यात्रा केदानाथ ज्योतिर्लिंग की

One comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.