गीता का महत्व और मिलने वाली शिक्षा

भगवद गीता से सीख सकते है सफल जीवन

हमारे सनातन धर्म में गीता का बहुत महत्व और महिमा है | लगभग हर हिन्दू घर में गीता की ज्ञान भरी पुस्तक मिल जाती है |  हर हिन्दू को श्रीमद्भगवद्‌गीता का पाठ करने चाहिए | इसमे विष्णु के अवतार श्री कृष्ण ने कुरुक्षेत्र की युद्ध भूमि पर अपने सखा अर्जुन को कर्म और जीवन पर ज्ञान दिए थे जो समस्त प्राणियों के लिए अमृत के समान है |



इन बातो का पालन करने से आध्यातिम्क सुख की प्राप्ति होकर व्यक्ति परम धाम को प्राप्त होता है | आइये जाने गीता के श्लोक का भावार्थ और सार |

परम ज्ञान के कारण गीता का महत्व

१ जो हुआ, अच्छे के लिए ही हुआ| जो हो रहा है, वह भी अच्छे के लिए ही हो रहा है, जो होगा वो भी अच्छे के लिए ही होगा .

२ परिवर्तन ही संसार का नियम है .एक क्षण में तुम करोड़ों के स्वामी बन जाते हो, दूसरे ही क्षण में तुम दरिद्र हो जाते हो। मेरा-तेरा, छोटा-बड़ा, अपना-पराया, मन से मिटा दो, फिर सब तुम्हारा है, तुम सबके हो .

३ आप खाली हाथ आये थे और खाली हाथ ही जाओगे.

४ मनुष्य विश्वास से बनता है, आप जैसा विश्वास रखते है वैसे बन जाते हैं .

५ कर्म करो, फल की चिंता नहीं .

६ संदेह (Doubt) के साथ कभी भी ख़ुशी नहीं मिल सकती .

७ मनुष्य अपने विचारो से अपने ऊँचे उठने का या गर्त में जाने का कारण बनता है .

८ आत्मा अमर है वो न जन्म लेती है ना ही मरती है .

९ अपने सभी कर्मो को भगवान को समर्प्रित करता चल , देख फिर सब अच्छा ही अच्छा होगा .

Other Similar Posts

कृष्ण की प्रेमी मीरा बाई से जुडी मुख्य बाते जो आपको जाननी चाहिए

श्री कृष्ण जन्मभूमि मथुरा की महिमा और दर्शनीय स्थल

अर्जुन को क्यों बनना पड़ा किन्नर ?

भीम इतने शक्तिशाली बलवान कैसे थे ?

विष्णु सहस्त्रनाम | Vishnu Sahasranamam In Hindi

 

One comment

  • Maine bhagvat geeta puri yaad ki hai aur mai sanskrit subject se shastri ki hai aur B.ed bhi, lekin mai geeta me intrested hu plz marg sujhaye

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.