अमावस्या पर कौनसे काम नही करे , वरना होगा बड़ा नुकसान

अमावस्या पर यह काम नही करे

Amawasya par kounse kam hai varjit एक माह में एक बार आने वाली अमावस्या वो दिन होता है जब चंद्रमा आकाश में दिखाई नही देता है | चन्द्र मन का कारक है और चंद्रमा के लुप्त होने के कारण इस दिन लोग भावुक हो जाते है | इस रात नकारात्मक शक्तियां अपना प्रभाव सबसे ज्यादा दिखाई देती है | आइये इसी कारण जानते है वे कौनसे काम है जो अमावस्या के दिन नही करने चाहिए |

durbhagy amawasya par


पढ़े : 2018 में अमावस्या के दिन कब कब है

पढ़े : पूर्णिमा और अमावस्या का चन्द्रमा से जुड़ा रहस्य

1 ) रात को इन पेड़ो के निचे ना जाये

kaali shaktiकुछ पेड़ और वृक्ष ऐसे बताये गये है जिन पर भूत प्रेतों का वास होता है , उनमे से मुख्य है मेहंदी , वट वृक्ष , इमली , मौलसरी , पीपल आदि | आपको इन पेड़ो के निचे रात के समय नही जाना चाहिए |


2 ) श्मशान कब्रिस्तान से बचे

श्मशान चिता मुर्दा अमावस्या पर एक बात विशेष ध्यान देने वाली है की किसी व्यक्ति या महिला को श्मशान घाट या कब्रिस्तान में या उसके आस-पास नहीं घूमना चाहिए |  यह दिन नकारात्मक शक्तियों के प्रभाव को बढाता है और वे आसानी से आपको अपना शिकार बना सकती है | . ये बुरी शक्तियां आपको अपने प्रभाव में लेकर  भावनात्मक  कमजोर कर सकती है | इसलिए ऐसे स्थानों से जरुर बचे |

3 ) यौन संबंध ना बनाये

अमावस्या पर संयम बरतना चाहिए. इस दिन पुरुष और स्त्री को यौन संबंध नहीं बनाना चाहिए. गरुढ़ पुराण के अनुसार, अमावस्या पर यौन संबंध बनाने से पैदा होने वाली संतान को आजीवन सुख नहीं मिलता है.

पढ़े : अमावस्या को जन्मे बच्चे के लिए उपाय

4 ) लड़ाई वाद विवाद से बचे

अमावस्या पर घर में पितरों की कृपा पाने के लिए घर में कलह का माहौल बिल्कुल नहीं होना चाहिए. इस दिन शांति और प्रभु भजन में दिन बिताये | लड़ाई-झगड़े और वाद-विवाद से बचे . इस दिन कड़वे वचन तो बिल्कुल नहीं बोलने चाहिए.

5 ) तामसिक भोजन से रहे दूर

इस दिन शराब, मांस के सेवन इत्यादि से दूर रहें. सादा भोजन करें. यह दिन हमारे पितृ देवी देवताओ का भी माना जाता है . इस दिन मौज मस्ती ना करके उनकी आराधना और अच्छे कर्मो में दिन व्यतीत करना चाहिए . यदि आप अमावस्या के दिन ये उपाय करेंगे तो पितृदोष दूर होंगे .

Other Similar Posts

मौनी अमावस्या का महत्व और महिमा

शनैश्चरी शनि अमावस्या के उपाय

भीष्म अष्टमी का महत्व और बनाने के पीछे कारण

एकादशी पर कौनसे काम नही करने चाहिए

चन्द्र दोष क्या हो और जाने निवारण के उपाय

One comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.