शनि जयंती के कारगर उपाय से प्रसन्न होंगे भगवान शनि देव

शनि जयंती के चमत्कारी उपाय से दूर होंगे ग्रह दोष

Shani Jayanti Par Shani Ko In Upayo Se Kare Prasnn

जयेष्ट मास की अमावस्या का दिन शनि जयंती के रूप में मनाया जाता है | इसी दिन सुहागिन महिलाए वट सावित्री व्रत रखती है और वट वृक्ष की  पूजा करती है जिससे उनके पति की उम्र दीर्घायु हो | शास्त्रों में बताया गया है शनिदेव का वास पीपल के पेड़ में है |


अत: जयेष्ट अमावस्या को पीपल और बरगद (वट) दोनों धार्मिक पेड़ो की पूजा का अत्यंत महत्त्व है | शनि देव के जन्मोत्सव के दिन जाने वे चमत्कारी और कारगर उपाय जो शनि देव और अन्य ग्रहों को प्रसन्न करते है और हमारे कारज सिद्ध कराते है …..

शनि जयंती के उपाय

पढ़े : शनि जयंती का महत्व और पूजा विधि

Shani Jayanti Ke Chamtkari Upaay


१) यदि आप पर कोई शनि दोष के संकेत दिखाई दे रहे है तो यह उपाय आपके लिए बहुत फायदेमंद होंगे |

२) शनि जयंती के दिन सुबह नहा धो कर शनि मंदिर जाए और सरसों के तेल का दीपक जलाये |

३) शनि मंदिर में शनि प्रतिमा के आगे काले उड़द , काले तिल , काजल , सरसों के तेल को अर्पण करे |

४) जरुरतमंदो को अच्छी चप्पलो , काले वस्त्रो और खाने की चीजो का दान करे |

शनि पीपल में

५) पीपल के पेड़ को पंचामृत से सींचे और सरसों के तेल का दीपक सुबह और शाम को जलाये |

६) पीपल के पेड़ के निचे या किसी शनि मंदिर में 108 बार शनि मंत्र का जाप करे |

७) हो सके तो इस दिन शनि भगवान का व्रत रखे और रात्रि में ही इसे खोले |

8) इस दिन लोहा नही ख़रीदे पर आप लोहे का दान कर सकते है |

९) शनि जयंती के दिन काले कुत्ते , काले कोवे को भोजन खिलाने से नकारात्मक शक्तियां दूर होती है |

१०) शनि जन्मोत्सव के दिन शनि भक्ति में डूबे रहे | अच्छे कर्म करे | शनि के 108 नाम का पाठ करे |

हमें पूर्ण विश्वास है की आप इन सभी उपायों का पालन कर शनि जन्मोत्सव अच्छे से मनाएंगे और शनि देव को प्रसन्न करेंगे |

Other Similar Posts

शनिश्चरी शनि अमावस्या के उपाय जो खुश करते है शनि को

शनिदेव के है 9 वाहन , वाहन से शुभ अशुभ फल की प्राप्ति

भगवान शनि के प्रसिद्ध और मुख्य मंदिर

शनि दोष निवारण के उपाय और कारगर टोटके

शनिवार को भूल से भी ना खरीदे ये चीजे , वरना लगेगा दोष

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *