कैसे करे गणेश विसर्जन

Ganesh Visarjan Kaise Kare In Hindi

भगवान गणेश का जन्मोत्सव भाद्रपद मास में मनाया जाता है | भक्त गणेश जी की मूर्ति की स्थापना गणेश चतुर्थी को अपने घर पर विधि विधान से करते है | वे 10 दिनों (10 Days ) तक गणपति बप्पा की सेवा करते है , उन्हें भोग , धुप , दीप आदि से पूजा अर्चना करते है |


कैसे करे गणेश विसर्जन

यह क्रम अनंत चतुर्दशी तक चलता है | देश में कई जगह बड़े बड़े पांडाल लगाकर यह गणेशोत्सव सामाजिक रूप से मनाया जाता है |

पढ़े : क्यों किया जाता है जल में गणेश विसर्जन

कब किया जाता है गणेश जी का विसर्जन



विसर्जन का अर्थ ही है पानी में मिल जाना (Mix Into Water) | अत: घर में विराजित गणेश प्रतिमा (Ganesh Idol) को किसी नदी तालाब या सागर में विसर्जित किया जाता है | कही कही गणेश महोत्सव 3 दिन का तो कही  5 दिन का पर ज्यादातर जगह यह  उत्सव 10 दिन तक मनाया जाता है |
गणेश विसर्जन धूम धाम से
दसवे दिन आने वाली अनंत चतुर्दशी को फिर गणेश जी की विदाई की जाती है | यह विसर्जन बड़ी धूम धाम से ढोल नगारे और गणपति के जयकारे के बीच होती है | भक्त विदाई के समय गणपति बाप्पा को फिर अगले साल आने का निमंत्रण इस तरह देते है |

गणपति बप्पा मोरया , अगले वर्ष तो जल्दी आ ||

कैसे करे गणेश जी की विदाई ( विसर्जन )

 

  • विदाई वाले दिन उनके प्रिय भोग अर्पित करे और गणेश की दूर्वा घास से पूजा करे |
  • अब एक सफेद पाटे पर गौ माँ के मूत्र और गंगा जल को छिडके |
  • उसपे सफेद कपड़ा बिछाए और गुलाब के पुष्प , अक्षत बिछाये |
  • चारो कोनो पर चार पूजा की सुपारी रखे |
  • अब ढोल नगाड़ो की आवाज के साथ गजानंद का जयघोष करते हुए उन्हें विसर्जित करने की जगह पर लेकर जाये |
    नदी में गणेश जी का विसर्जन
  • भूल से भी गणेश जी की पीठ के दर्शन नही करे | यहा दरिद्रता का वास बताया गया है |
  • जिस जल क्षेत्र में गणेश जी का विसर्जन करना है वह गणेश जी की आरती धूप और कर्पुर से  करे | मन ही मन गणेश जी के मंत्रो का जप करे |
  • यदि उनकी सेवा में कोई भूल हुई हो तो उसके लिए क्षमा मांगे |
  • अगले साल फिर से अपने घर या पांडाल में आने का न्यौता दे |
  • गणेश जी की प्रतिमा को पूरी श्रद्धा (Dedication) और सम्मान (Respect) से पानी में विसर्जित करे |

Other Similar Posts

भगवान गणेश ने कौन कौन से अवतार धारण किये है

क्यों गणेश जी की पूजा में तुलसी काम में नही ली जाती है

गणेश जी को प्रसन्न करने के उपाय – बुधवार को जरुर काम में में

क्यों गणेश को मोदक पसंद है

पूजा में जरुर काम में ले इन चीजो को – गणेश भगवान जल्दी प्रसन्न होंगे

 

 

 

 

 

 

One comment

  • नमो व्रातपतये नमो गणपतये नमः प्रमथपतये नमस्तेस्तु लम्बोदरायैक दन्ताय विध्ननाशने शिव सुताय श्री वरदमूर्तये नमः ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.