जानिए शुभ मुहूर्त होली का 2020 और किसे कहते हैं ‘होली का डंडा’

होली मुख्यत दो दिन का त्योहार है | जिसमे एक शाम को होलिका दहन तो अगले दिन रंगभरी होली ( धुलंडी ) होती है | होलिका दहन के दिन से बहुत दिन पहले होली का डंडा रोपा जाता है | आइये जानते है कि क्या होता है होली का डंडा और इसके महत्व के बारे में |

holika dahan shubh muhurat

पढ़े – होलाष्टक क्या होता है

पढ़े – होलिका दहन के चमत्कारी टोटके और उपाय

होली का डंडा

कहते है होली का डंडा रोपने के बाद शुभ मंगल कार्य बंद हो जाते है | यह डंडा भक्त प्रह्लाद का प्रतिक होता है | होलिका दहन के ठीक पहले इसे आग से सुरक्षित निकाल लिया जाता है | जैसे प्रहलाद अपनी बुआ होलिका से बच गया था |

होलिका दहन का शुभ मुहूर्त 2020

इस साल 2020 में होलिका दहन 9 मार्च 2020 (सोमवार ) के दिन है | यह फाल्गुन माह की पूर्णिमा का दिन होता है |

होलिका दहन मुहूर्त : 18:26:23 से 20:52:21 तक अर्थात 2 घंटे 25 मिनट तक शुभ मुहूर्त है होलिका दहन के लिए |

holi ka danda

कब लगाया जाता है होली का डंडा –

यह होली का डंडा फाल्गुन पूर्णिमा अर्थात होली के ठीक एक महीने पहले माघ पूर्णिमा के दिन पुरे विधि विधान से रोपा जाता है | हालाकि आज कल तो लोग इसे मुख्य होली के दिन ही रोपने लग गये है | डंडा रोपने के बाद १ माह तक विवाह और शुभ कार्य बंद कर दिए जाते है | डंडा रुपने के बाद लोग रोज इस जगह एकत्रित होकर चंग की ढाप पर होली के भजन गाते है |

मुख्य दिन होली के दिन महिलाये होलिका की पूजा करती है और उपले चढ़ाती है | होलिका में नारियल और सात धान चढाने की भी परम्परा है | महिलाये फिर इसे जल से अर्ध्य लेकर इसके चारो और परिक्रमा लगाती है और सुख समृधि की प्राथना करती है |

Other Similar Posts

होलिका दहन की पूजा विधि

होली शुभकामना सन्देश मेसेज बधाई और शायरी

काशी में श्मशान की राख से खेली जाती है होली

होलिका दहन के बाद जलते हुए उपले घर क्यों लाते है लोग

फाल्गुन मास का धार्मिक और वैज्ञानिक महत्व?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.