चैत्र नवरात्रि 2020 – ये बाते जानना है जरुरी

ममतामई माँ शक्ति जिन्होंने ममता बनाई और उस ममत्व में इस चराचर जगत की रचना की | इस ममतामई माँ और उसके विभिन्न 9 रूपों की पूजा के लिए साल में चार बार नवरात्रि का त्योहार आता है | जिसमे 2 मुख्य नवरात्रि शारदीय (शीतकालीन ) और चैत्र (ग्रीष्म कालीन ) है | जबकि अन्य 2 नवरात्रि गुप्त है जो माघ और आषाढ़ में आती है |

navratri 2020 me ban rahe hai sanyog

ये 9 दिन माँ को समर्प्रित कर पूजा अर्चना करने से माँ हर सुख देती है और जीवन की हर व्याधि हटाती है |

साल 2020 में कब आ रहे है चैत्र नवरात्रि

25 मार्च, बुधवार से 2 अप्रैल, गुरुवार तक चैत्र नवरात्रि के 9 दिन है | हिन्दू नव वर्ष की शुरुआत भी चैत्र नवरात्रि के प्रथमा से होती है जो इस बार विक्रम संवत 2077 है | इस जगत का आरम्भ भी इसी दिन से हुआ था |

9 दिन में 9 अलग अलग माँ के रूपों की होगी पूजा

नवरात्रि 9 देवियाँ

25 मार्च 2020 – मां शैलपुत्री की पूजा और घट स्थापना

26 मार्च 2020 – ब्रह्मचारिणी

27 मार्च 2020 – चंद्रघंटा

28 मार्च 2020 – कुष्मांडा

29 मार्च 2020 – स्कंदमाता

30 मार्च 2020 -कात्यायनी

31 मार्च 2020 -कालरात्रि

1 अप्रैल 2020 – महागौरी

2 अप्रैल 2020 -सिद्धिदात्रि

चैत्र नवरात्रि के शुभ 6 योग

इस 2020 चैत्र नवरात्र में चार सर्वाथसिद्धि योग, एक अमृतसिद्धि योग और एक रवियोग बन रहा है। जो कुल मिलाकर 6 सिद्ध योग है |

सर्वाथसिद्धि योग 4 – 26 मार्च द्वितीया तिथि , 27 मार्च तृतीया तिथि , 30 मार्च को छठ तिथि, 31 मार्च को सप्तमी तिथि

अमृतसिद्धि योग – 30 मार्च को सर्वाथसिद्धि योग के साथ अमृतसिद्धि योग भी बन रहा है |

रवियोग – 29 मार्च को पंचमी तिथि के दिन रवियोग बन रहा है |

ये 6 योग जाग्रत 9 दिनों में महाशक्तिशाली दिन है जब माँ की पूजा सीधे स्वीकार करी जाती है |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.