आषाढ़ की पूर्णिमा को ही क्यों मनाते हैं गुरु पूर्णिमा

गुरु पूर्णिमा पर गुरु का सम्मान कैसे करे

क्या आप जानते हो की आषाढ़ पूर्णिमा को गुरु पूर्णिमा के रूप में मनाने का क्या राज़ है? ऐसा इस दिन क्या हुआ था की यह गुरु पूजन दिवस के रूप में जाना जाने लगेगा |

आषाढ़ पूर्णिमा के दिन गुरु पूर्णिमा मनाई जाती है। अतः इस दिन श्रद्धालु नदियों में स्नान करते है। देवताओ और गुरुओ की पूजा करते है, तथा अपने सामर्थ्यानुसार गुरु, ब्राह्मणों, एवम जरुरतमंदो को दान करते है ।
कई जगह गुरु शिष्य रिश्ते पर सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन किया जाता है |


पढ़े : गुरु पूर्णिमा पर दोहे , शायरी , श्लोक और मेसेज

पढ़े : गुरु की महिमा में कबीर दास जी के दोहे

guru purnima par guru puja

गुरु पूर्णिमा के दिन जन्मे थे वेद व्यास जी

हिन्दू धर्म में सबसे बड़े ज्ञानी और त्रिकाल दर्शी महर्षि गुरु वेद व्यास जी को माना जाता है | इन्होने १८ महापुराणों  की रचना की | धार्मिक शास्त्रों के अनुसार ऐसे गुरुओ के महागुरु वेद व्यास जी जन्म इसी आषाढ़ पूर्णिमा के दिन हुआ था | अत: इनके सम्मान में आषाढ़ पूर्णिमा के दिन गुरु पूर्णिमा का उत्सव मनाया जाता है |


पढ़े : भारत के महान 9 गुरु और उनकी महिमा

प्राचीन काल में जब शिष्य  गुरु के आश्रम में रहकर  निःशुल्क शिक्षा ग्रहण करता था तो इसी दिन श्रद्धा भाव से प्रेरित होकर अपने गुरु का पूजन करके उन्हें अपनी शक्ति सामर्थ्यानुसार गुरु इच्छानुसार दक्षिणा देकर कृतकृत्य होता था। आज भी इसका महत्व कम नहीं हुआ है। पारंपरिक रूप से शिक्षा देने वाले विद्यालयों में, संगीत और कला के विद्यार्थियों में आज भी यह दिन गुरू को सम्मानित करने का होता है । इस पावन पर्व पर मंदिरों में पूजा होती है, पवित्र नदियों में स्नान होते हैं, जगह जगह भंडारे होते हैं और मेले लगते हैं ।

Watch & Subscibe Our Religious Youtube Channel

गुरु पूर्णिमा पर गुरु का सम्मान

गुरु का सम्मान ~ अपने गुरु को पुष्पों की माला पहनाये |

~ गुरु को दंडवत प्रणाम करे और उनका परिवार सहित आशीर्वाद ले |

~ गुरु के चरण धोये और उनके सानिध्य में ज्ञान प्राप्त करे |

~ अपनी सामर्थ्य अनुसार उन्हें वस्त्र अन्न धन का दान करे |

~ गुरु द्वारा दिए गये मंत्र का विधि के साथ जप करे |

~ आप चाहे तो गुरु के सानिध्य में एक कीर्तन या ज्ञान गंगा का कार्यक्रम भी आयोजित कर सकते है जो घर में सकारात्मक उर्जा बढ़ाये |

Other Similar Posts

गुरु पूर्णिमा के ज्योतिष उपाय

देवगुरु बृहस्पति की आरती

गुरु गोरखनाथ की कथा – अमर कहानी

शिष्य के लिए गुरु की महिमा

गुरुवार को भूल से भी ना करे यह 5 काम

 

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.